बिना सर्जरी लिंग की टाइट फोरस्किन को ढीला करने के 3 तरीके

क्या सेक्स करने के दौरान आपके लिंग की स्किन में दर्द होता है? या आपकी फोरस्किन और लिंग के सिरे को जोड़ने वाला हिस्सा जिसे फ्रेनुलम कहा जाता है, वह फट जाता है?

यदि हाँ, तो आपको फ्रेनुलम ब्रेव नामक समस्या हो सकती है?

फ्रेनुलम एक इलास्टिक रबर जैसा होता है जो लिंग पर फोरस्किन के उतार और चढ़ाव को आसान बनाने में मदद करता है। यह लिंग के सिर के ठीक नीचे एक छोटे V की तरह दिखाई देता है।

आमतौर पर यह इतना लचीला होता है कि आपकी फोरस्किन को पूरा पीछे तक ले जा सकता है। यह उत्तेजना के प्रति संवेदनशील भी होता है और पुरुषों के यौन सुख में अतिरिक्त योगदान करता है।

लेकिन कुछ पुरुषों में, फ्रेनुलम बहुत छोटा या बहुत टाइट हो सकता है और यह एक परेशानी वाली स्थिति होती है। मेडिकल भाषा में इस स्थिति को फ्रेनुलम ब्रेव कहा जाता है।

टाइट फ्रेनुलम फोरस्किन के आगे और पीछे की गति को बाधित करता है। इसलिए, यदि आपको यह समस्या है तो आपको हस्तमैथुन करना भी परेशानी भरा हो सकता है।

टाइट फोरस्किन का पूर्वानुमान

कुछ शोधों से पता चला है कि 17 से 30 वर्ष की आयु के लगभग 5 प्रतिशत पुरुष जिनका खतना नहीं हुआ है, उन्हें टाइट फ्रेनुलम की समस्या होती है।

टाइट फ्रेनुलम के कारण लिंग ठीक से खड़ा नहीं हो पाता और सेक्स व स्खलन के दौरान फोरस्किन में अत्यधिक दर्द होता है।

कुछ गंभीर मामलों में, फ्रेनुलम ब्रेव लिंग खड़ा होने के दौरान उसके सिरे को नीचे की ओर झुका सकता है और यहां तक कि व्यक्ति को नामर्द (या नपुंसक) भी बना सकता है।

इसके अलावा, फ्रेनुलम ब्रेव कुछ गंभीर जटिलताओं जैसे खिंचाव के कारण फोरस्किन का फटना, ब्लीडिंग, इन्फेक्शन आदि को भी जन्म दे सकता है, जिसमें तुरंत डॉक्टर से संपर्क करने की आवश्यकता होती है।

टाइट फोरस्किन या फ्रेनुलम ब्रेव से छुटकारा पाने के कई प्रभावी उपचार उपलब्ध हैं।

आपके लिए उचित उपचार निर्धारित करने के लिए आपका डॉक्टर सबसे पहले आपकी शारीरिक रूप से जांच करेगा।

उचित शारीरिक जांच के बाद ही, आपका डॉक्टर आपके मामले में स्थिति की गंभीरता के अनुसार सबसे उपयुक्त उपचार का सुझाव देगा।

फोरस्किन टाइट होने के मुख्य कारण

ऐसी कुछ चिकित्सीय स्थितियां हैं जो टाइट फोरस्किन की समस्या का कारण बन सकती हैं। चलिए इन स्थितियों के बारे में बात करते हैं।

फ्रेनुलम ब्रेव के कारण बहुत हद तक फाइमोसिस के समान होते हैं, क्योंकि फ्रेनुलम भी फोरस्किन का एक हिस्सा है।

तो, निम्नलिखित स्थितियां हैं जिनके परिणामस्वरूप आपको फ्रेनुलम ब्रेव हो सकता है –

बैलेनाइटिस

बैलेनाइटिस खतनारहित पुरुषों में पाई जाने वाली एक ऐसी स्थिति है जिसमें ग्लान्स सूज जाती हैं।

सूजन के प्राथमिक कारणों में से एक है लिंग की साफ़-सफाई में कमी।

बैलेनाइटिस से लिंग में लालिमा, खुजली, दर्द और जलन हो सकती है।

बलनोपोस्थिटिस

यह गंभीर चिकित्सीय स्थिति है जो फ्रेनुलम के टाइट होना का कारण बन सकती है।

इस समस्या में ग्लान्स और फोरस्किन में इन्फ्लेमेशन और सूजन होने लगती है।

कैंडिडा जैसे फंगल इन्फेक्शन और लिंग की स्वच्छता में कमी इस समस्या के विकास में योगदान करते हैं।

इस समस्या का सामना करते ही आपको किसी विशेषज्ञ डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

यौन संचारित रोग

यौन संचारित रोग जैसे गोनोरिया, सिफलिस, जननांग दाद, आदि से बैलेनाइटिस हो सकता है जो बाद में टाइट फोरस्किन या फ्रेनुलम ब्रेव के कारण के रूप में कार्य कर सकता है।

इसलिए आपको हमेशा सुरक्षित सेक्स करना चाहिए और यौन रोगों से बचने वाली तकनीकें जैसे कंडोम का इस्तेमाल, जननांगों की साफ़-सफाई आदि का ध्यान रखना चाहिए।

स्किन समस्याएं

कुछ स्किन की समस्याएं जैसे खुजली, सोरायसिस, लाइकेन स्क्लेरोसिस, लाइकेन प्लेनस आदि भी फोरस्किन को टाइट करने का कारक बन सकती हैं।

इन स्किन की समस्याओं में, लिंग की स्किन पर लाल चकत्ते और चमकदार खुजली वाली पपड़ी विकसित हो जाती है।

इसके अलावा, फोरस्किन के नीचे असामान्य तरल पदार्थ का जमा होना लिंग स्किन की समस्याओं के सामान्य लक्षण हैं।

फोरस्किन को टाइट बनाने वाले इन उपयुक्त कारकों से सावधान रहें। यदि आप अपने आप को इनमे से किसी भी स्थिति से जूझते हुए पाते हैं, तो तुरंत अपने डॉक्टर के पास पहुँचें और उपचार के विकल्पों पर उसकी सलाह लें।

टाइट फोरस्किन को ढीला करने के तरीके

यहाँ पर बिना सर्जरी फोरस्किन को ढीला करने के सबसे कारगर तरीके दिए जा रहे हैं:

आयुर्वेदिक और होम्योपैथिक उपचार

आयुर्वेद और होम्योपैथी में कुछ दवाएं हैं जो फ्रेनुलम ब्रेव के कारण होने वाले दर्द, खुजली, खराश और लालिमा से राहत दिलाने में मदद कर सकती हैं।

चूँकि नियमित सेक्स या हस्तमैथुन करने या फिर फ्रेनुलम स्ट्रेच करने से वह धीरे-धीरे फटकर लम्बी और ढीली हो जाती है। लेकिन इस दौरान फ्रेनुलम में होने वाले दर्द और ब्लीडिंग से राहत दिलाने में आयुर्वेदिक और होम्योपैथिक दवाएं मदद कर सकती हैं।

चूंकि ये दवाएं 100% हर्बल होती हैं, इसलिए इनका उपयोग करना पूरी तरह से सुरक्षित होता है और ये काफी प्रभावी साबित हो सकती हैं।

आयुर्वेदिक उपचार में इस समस्या को ठीक करने के लिए जड़ी-बूटियों से बने कैप्सूल और आयुर्वेदिक तेल शामिल हैं।

रोज अपने लिंग और फोरस्किन पर आयुर्वेदिक अरंडी का तेल, नारियल का तेल, हिमालय हिमकोलिन जेल या कोई अन्य आयुर्वेदिक हर्बल तेल लगाकर स्ट्रेच करें।

इसके अलावा कुछ अन्य आयुर्वेदिक और होम्योपैथिक दवाएं जैसे Tentex Forte Tablet, अश्वगंधा कैप्सूल, शतावर चूर्ण, Himalaya Confido, Tentex Royal Tablet, श्वेत मूसली आदि के जरिये आप अतिरिक्त मदद प्राप्त कर सकते हैं।

तो, आपकी टाइट फोरस्किन को ठीक करने के लिए इनमें से कौनसा उपचार विकल्प सबसे बेहतर रहेगा इसके बारे में जानने के लिए आप अपने नजदीकी विशेषज्ञ से संपर्क कर सकते हैं।

स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज

कुछ चिकित्सक फ्रेनुलम को ढीला करने के लिए स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज करने का सुझाव देते हैं। हालाँकि इस तरह की एक्सरसाइज को चिकित्सकीय मार्गदर्शन के अनुसार सावधानी से किया जाना चाहिए।

इसके अलावा, याद रखें कि आपको केवल धीरे से फ्रेनुलम को स्ट्रेच करने की कोशिश करनी चाहिए।

यदि आप इसको जबरदस्ती या कठोरता से फैलाने की कोशिश करते हैं, तो फोरस्किन में स्कार टिश्यू बन सकते हैं जो स्थिति को और ज्यादा बिगाड़ सकते हैं।

हर दिन जब आप गर्म पानी से नहाते हैं, तो फ्रेनुलम को धीरे से स्ट्रेच करने की कोशिश करें। पानी का उच्च तापमान फ्रेनुलम को आसानी से ढीला करने में मदद करता है, इसलिए हमेशा गर्म पानी का इस्तेमाल करें।

या फिर, लिंग पर मालिश करने के लिए आप नारियल के तेल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। यह लुब्रिकेंट की तरह काम करेगा और फ्रेनुलम को आसानी से खींचने में मदद करेगा।

इस धीमी स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज को रोजाना 10-15 मिनट तक करें। कुछ ही दिनों में आपको असरदार परिणाम देखने को मिलेंगे।

स्टेरॉयड क्रीम

मेडिकल दवाओं की बात करें तो डॉक्टर अक्सर टाइट फ्रेनुलम को ढीला करने के लिए टोपिकल स्टेरॉयड क्रीम इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं।

आपको फ्रेनुलम पर क्रीम को धीरे से मालिश करने की आवश्यकता होती है। लगभग 2 सप्ताह के निरंतर उपयोग के बाद फ्रेनुलम को धीरे-धीरे स्ट्रेच करने की कोशिश करें।

आमतौर पर, स्टेरॉयड क्रीम का प्रभावी परिणाम दिखने में लगभग 6 हफ्तों का समय लगता है।

यह क्रीम चमड़ी और फ्रेनुलम को ढीला करने में मदद करती है और इसलिए काफी प्रभावी साबित हो सकती है।

टाइट फ्रेनुलम के लिए डॉक्टर जो सबसे आम स्ट्रेरॉइड क्रीम लिखते हैं उनमें से एक है Xylocaine gel 2%. अन्य प्रभावी स्टेरॉयड क्रीम हैं Betamethasone Dipropionate 0.5% और Clobetasone Butyrate 0.05%.

ज्यादातर मामलों में, डॉक्टर 3 सप्ताह के लिए दिन में दो बार दवा का उपयोग करने की सलाह देते हैं।

अब, जब आप टाइट फ्रेनुलम को ढीला करने के सभी गैर-सर्जिकल समाधानों के बारे में जानते हैं, तो अपने लिए सबसे उपयुक्त उपचार चुनें और उसे नियमित करें।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.