सुखी सेक्स लाइफ जीने के टिप्स

चाहे आप 10 दिनों से रिलेशनशिप में हों या 10 साल से, कभी-कभार आपको एक कपल के रूप में अपनी सेक्स लाइफ को लेकर चिंता हो सकती है।

एक खुशहाल सेक्स लाइफ जीने से दिल की सेहत बेहतर होने से लेकर बेहतर रिलेशनशिप तक हर चीज में फायदा होता है।

लेकिन वास्तव में एक सुखी सेक्स लाइफ होती क्या है?

कुछ लोगों का मानना है कि एक अच्छा सेक्स जीवन इस बात पर निर्भर करता है कि आप दोनों कितनी बार सेक्स करते हैं।

दूसरों का मानना है कि एक बार में आपको कितनी बार ऑर्गाज्म होता है और क्या दोनों को पूरा ऑर्गाज्म होता है या नहीं यह ज्यादा जरूरी है।

वास्तव में, इनमें से कोई भी चीज सुखी सेक्स लाइफ के लिए जरूरी नहीं है।

जब कितनी बार सेक्स करने की बात आती है, तो ऐसा कोई फिक्स नंबर नहीं होता।

जरूरी यह होता है, कि आप दोनों पार्टनर्स एक दूसरे के साथ कितना सुरक्षित और सुखी महसूस करते हैं और सेक्स आप दोनों के लिए मजेदार होता है या नहीं।

मायने यह रखता है कि आप अपनी सेक्स इच्छाओं को एक दूसरे के साथ कितना शेयर कर पाते हैं।

चलिए अब एक दूसरे के यौन जीवन को बेहतर बनाने के तरीकों पर नजर डालते हैं, और कैसे यह आपके रिश्ते की गुणवत्ता में भी सुधार ला सकते हैं।

  1. पार्टनर से बात करें
  2. टिप्स
  3. फायदे
  4. निष्कर्ष

सेक्स के बारे में अपनी पार्टनर से कैसे बात करें

कभी-कभी यह करना मुश्किल महसूस हो सकता है, लेकिन अपनी साथी से सेक्स के बारे में बात करना, अपने रिलेशनशिप में निवेश करने जैसा होता है।

अपनी साथी से बात करने के तरीके निम्न हैं:

  • सेक्स के बारे में बात करने के सही समय को पहले ही निर्धारित कर लें: इस बातचीत का प्लान पहले ही बना लेने से आप इस संभावना को खत्म कर देते हैं कि यह बात कभी गुस्से या हताशा में एकदम से आप दोनों के बीच होगी।
  • क्या काम कर रहा है और क्या नहीं इस पर चर्चा करें: कई समस्याएं जो कपल को बेडरूम में अनुभव होती हैं, वह उन्हें बाहर बात करके ठीक कर सकते हैं। समझौता करें और कोई बीच का रास्ता खोजें जिसमें आप दोनों सुखी महसूस करें।
  • आप क्या चाहते हैं यह अपनी पार्टनर को बताएं: कमियों के बारे में शिकायत करने के वजाय समस्या को सुलझाने वाले सकारात्मक सुझाव ज्यादा कारगर होते हैं।
  • आप वास्तव में क्या चाहते हैं इसके बारे में पूरी ईमानदारी से बताएं: हालाँकि, अपनी साथी से कोई ऐसी चीज करने को न कहें जिसमें वह असहज महसूस करती हो। साथ ही, आप खुद भी कोई ऐसी चीज करने से मना कर दें जिसमें आप असहज महसूस करते हों।
  • एक-दूसरे के सुझावों पर खुलकर बात करें: और समझौता करने के लिए भी तैयार रहें, ताकि आप दोनों की समस्यायें दूर हो सकें और आपको जो चाहिए वह प्राप्त हो।
  • स्पष्ट और ईमानदार रहें: ईमानदार रहने से आप दोनों के बीच गलतफहमियों और भ्रम होने की संभावनाएं कम होंगी। अपनी पार्टनर को आपकी बात का कोई गलत मतलब निकालने का मौका न दें। आप जो भी कहें उसे साफ़-साफ़ शब्दों में कहें। यदि आप कुछ चाहते हैं, लेकिन इसे बताने में हिचकिचा रहे हैं, तो इसके बजाय उसे लिखकर बताने का प्रयास करें।

सुखी सेक्स लाइफ जीने के कुछ टिप्स

अपनी सेक्स लाइफ को बेहतर बनाने के लिए थोड़ी मेहनत और प्लानिंग करने की जरूरत होती है।

आम धारणा के विपरीत, इससे आपके रोमांस पर कोई नकारात्मक प्रभाव नहीं पड़ता।

वास्तव में, एक कपल के रूप में एक साथ अपनी सेक्स लाइफ के ऊपर काम करना, रिश्ते में रोमांस को वापस लाने का एक अच्छा तरीका हो सकता है।

ज्यादा समय तक गुस्से में न रहें​

गुस्सा जीवन का एक आम हिस्सा होता है। कभी-कभी तो लोग गुस्से में सेक्स भी करते हैं। लेकिन अप्रबंधित गुस्सा यौन इच्छा, विश्वास और कनेक्टिविटी को खत्म कर सकता है।

जिस व्यक्ति पर आप गुस्सा होते हैं, उसके प्रति कोमलता, प्रेम या रोमांस का अनुभव करना कठिन हो सकता है।

यदि आप अपनी पार्टनर पर गुस्सा हैं, तो इस भावना को कम करने और इसे जाने देने के तरीके खोजें।

इसका सबसे अच्छा और आसान तरीका होता है, उन कारणों पर बात करके निवारण करना जिनकी वजह से आप गुस्सा हैं।

कुछ मामलों में, इसके लिए किसी बीच के व्यक्ति की मदद की जरूरत पड़ सकती है।

अपने शरीर के बारे में और जाने​

आप क्या पसंद करते हैं और किसमें सबसे ज्यादा मजा और संतुष्टि महसूस करते हैं, इसके बारे में पता लगाने के लिए नियमित हस्तमैथुन करें।

कुछ कपल एक साथ हस्तमैथुन करने से ज्यादा उत्तेजित महसूस करते हैं और उन्हें एक दूसरे के शरीर और इच्छाओं को जानने में मदद मिलती है।

नाटक न करें​

कई बार अपनी पार्टनर की फीलिंग्स को आहत करने से बचने के लिए एक नकली संतुष्टि और ऑर्गाज्म का नाटक करना ज्यादा आसान लगता है।

लेकिन इससे आप अपने रोमांस और सेक्स में सुधार करने के मौके खो सकते हैं।

अपनी साथी के साथ अपने यौन अनुभवों के बारे में ईमानदार होने से आपको असुरक्षित, उजागर या शर्मिंदगी महसूस हो सकती है।

लेकिन यही एक अच्छा तरीका होता है अपनी सेक्स इच्छाओं को अपनी पार्टनर तक पहुँचाने का और उन्हें पूरा करने का।

फोरप्ले में कंजूसी न करें​

फिल्मों में (खासतौर से हॉलीवुड में), अक्सर हीरो-हिरोइन पब्लिक में एक-दो बार किश करते हैं और फिर सीधा सेक्स तक पहुँच जाते हैं।

लेकिन असल जिंदगी में ऐसा नहीं होता। अक्सर सेक्स के लिए तैयार होने से पहले बहुत सारा फोरप्ले करना जरूरी होता है।

आप किस प्रकार का फोरप्ले कर रहे हैं, यह भी बहुत मायने रखता है।

अपनी पार्टनर को यह जानने में मदद करें कि आपको कहाँ किश करवाना और टच करवाना पसंद है।

आप दोनों किस फोरप्ले से ज्यादा उत्तेजित होते हैं इस बारे में बात करें।

फोरप्ले के हर एक चरण को पूरा मन भरकर करें।

आफ्टरप्ले को भी न छोड़ें​

सेक्स के बाद एक दूसरे के साथ की जाने वाली क्रियाओं को आफ्टरप्ले कहा जाता है।

सेक्स के बाद आप एक दूसरे के साथ जो समय बिताते हैं वह भी बहुत जरूरी होता है।

यदि आप सेक्स के तुरंत बाद सो कर या बेड से उतरकर अपनी पार्टनर से दूर हो जाते हैं, तो आप एक-दूसरे के करीब आने और रोमांस के स्तर को बढ़ाने के मौके को खो रहे होते हैं।

सेक्स के बाद एक-दूसरे से बात करना, चुगलबन्दी करना, किश करना या गले मिलना एक ऐसा तरीका है, जिससे आप अपने रिश्ते को गहरा कर सकते हैं और अपनी साथी को यह बताते हैं कि वह आपके लिए कितना महत्वपूर्ण है।

इस प्रकार का रोमांस आपके रिश्ते के लिए और एक-दूसरे के आत्म-सम्मान के लिए जरूरी है। यह भविष्य में बेहतर और अधिक कामुक सेक्स करने में भी मदद करता है।

सेक्स का टाईमटेबल फिक्स करें​

किसी भी कपल का सेक्स हमेशा एक जैसा नहीं रहता।

अपने रिश्ते के शुरुआती दिनों में, आप दिन या सप्ताह में कई बार सेक्स करते होंगे।

बाद में, आप कितनी बार सेक्स करते हैं, यह कई कारणों से कम हो सकता है, जैसे आपके जीवन में बच्चा आना, काम का तनाव होना आदि।

समय के साथ उत्तेजना भी बदलती है।

इसलिए सेक्स का टाईमटेबल बनाना आपको अजीब लग सकता है, लेकिन यह अपनी सेक्स लाइफ और रोमांस को बरक़रार रखने का अच्छा तरीका होता है।

यह जरूरी है कि आप एक ऐसा टाईमटेबल बनायें जिससे आप दोनों सहमत हों।

इसके लिए आपको अपने अन्य कार्यों में से एक-दूसरे के लिए समय निकालने की जरूरत पड़ेगी।

सेक्स का टाइम टेबल बनाने से, आपमें से किसी एक का मूड न होने पर बार-बार ठुकरा देने का डर भी कम हो जाता है।

पूरे दिन सेक्स की तैयारी करें​

यदि शाम को आप सेक्स करने वाले हैं, तो दिन के दौरान एक दूसरे को रोमांस और सेक्स के लिए तैयार करें।

इसके लिए आप एक दूसरे को सेक्सी मैसेज या फोटो भेज सकते हैं।

एक दूसरे की यौन इच्छाओं को बढ़ाने के लिए अपने पसंदीदा फ़िल्मी डायलाग भी शेयर कर सकते हैं।

अपने खुद के मन को भी आने वाली रात के बारे में सोचकर उत्तेजित करें।

एक्सपेरिमेंट करें​

सेक्स पोजीशन की एक विशाल सारणी है जिनकों आप प्रयोग करके देख सकते हैं।

इनमें सेक्स टॉयज और इरोटिका के उपयोग से लेकर बॉन्डेज सेक्स, तांत्रिक सेक्स आदि बहुत कुछ शामिल हो सकते हैं।

हालांकि, सिर्फ कामुक या असामान्य सेक्स सुखी यौन जीवन की कुंजी नहीं है। लेकिन इन्हें अन्य क्रियाओं जैसे अलग-अलग तरह के सेक्सी कपड़े पहनना या सेक्स के लिए अलग-अलग जगह चुनना आदि के साथ करने से फायदा हो सकता है।

आप अपने सेक्स में नई-नई पोजीशन और प्रकारों को भी शामिल कर सकते हैं, जैसे ओरल सेक्स, आपसी हस्तमैथुन या गुदा सेक्स।

सेक्स के नए-नए तरीकों का एक्सपेरिमेंट करने से दोनों को जिस पोजीशन में सबसे ज्यादा मजा आता है उसे ढूँढ़ने में मदद मिलती है।

सेक्स लाइफ को नुकसान पहुँचाने वाली हेल्थ प्रॉब्लम्स का निवारण करें​

जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है, शारीरिक परिवर्तन सेक्स को मुश्किल या दर्दनाक बना सकते हैं।

जैसे मेनोपॉज़ के कारण योनि में सूखापन आने लगता है और सेक्स हॉर्मोन में बदलाव आने लगता है।

हार्मोन स्तर में बदलाव आने के कारण टेस्टोस्टेरोन के उत्पादन में कमी हो सकती है। इसके कारण सेक्स इच्छा में कमी आ सकती है और नामर्दी की समस्या पैदा हो सकती है।

कुछ दवाओं का सेवन भी लिबिडो को ख़त्म करता है और ऑर्गाज्म प्राप्त करने में समस्या आ सकती है।

यदि किसी हेल्थ प्रॉब्लम के कारण आपको सेक्स करने में समस्या आ रही है तो अपनी पार्टनर से इस बारे में बात करें और डॉक्टर से संपर्क करें।

सुखी सेक्स लाइफ जीने के फायदे

सेक्स में पूर्ण संतुष्टि मिलने से आपको कई स्वास्थ्य लाभ हो सकते हैं। आपके द्वारा किए जाने वाले सेक्स के प्रकार के आधार पर आपको अलग-अलग लाभ मिल सकते हैं। सेक्स करने के कुछ फायदे निम्न हैं:

  • अपनी सेक्स लाइफ पर ध्यान देने से आपकी सेक्स इच्छा में बढ़ोतरी हो सकती है।
  • सेक्स करने से शरीर में एडोर्फिन जैसे हॉर्मोन का स्तर बढ़ने लगता है जिससे आपको अच्छा महसूस होता है। इससे तनाव को कम करने में मदद मिलती है।
  • एक सुखी सेक्स लाइफ जीने से आपका आपके पार्टनर के प्रति प्रेम और गहरा हो जाता है।
  • जो लोग अपने पार्टनर के साथ सेक्स को एन्जॉय करते हैं उनका जीवन खुशियों और संतुष्टि से भरपूर होता है।
  • सेक्स एक प्रकार की एक्सरसाइज भी है जो दिल को स्वस्थ रखने में मदद करती है।
  • योनि सेक्स करने से उसमें रक्त का संचार बढ़ता है जिससे योनि का सूखापन और जलन कम होती है। साथ ही, इसकी मांसपेशियाँ भी मजबूत होती हैं।
  • नियमित रूप से स्खलित होने से प्रोस्टेट कैंसर होने की संभावना कम होती है।

निष्कर्ष

एक सुखी सेक्स लाइफ प्राप्त करने के लिए पार्टनर्स के बीच संवाद और थोड़ी मेहनत की जरूरत होती है। सेक्स अपने जीवन को सुखी बनाने का एक तरीका होता है। यह कपल्स को एक-दूसरे से भावनात्मक रूप से जुड़ने में मदद करता है।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.