सेक्स टाइमिंग बढ़ाने के 11 तरीके

जब कोई पुरुष या महिला अपने से विपरीत लिंग के प्रति आकर्षण महसूस करते हैं, तब से दोनों के लिए सेक्स बहुत महत्वपूर्ण विषय बन जाता है।

कई पुरुष वास्तविक सेक्स सुख लेने की चाहत तो रखते हैं, लेकिन सेक्स में शामिल होने के तुरंत बाद ही वे ढीले पढ़ जाते हैं।

इन मामलों में पुरुष सोचते हैं कि वे वीर्य जल्दी गिरने की समस्या या शीघ्रपतन के शिकार हैं।

अधिकतर मामलों में ऐसे पुरुष शारीरिक रूप से तो स्वस्थ होते हैं, लेकिन वे मानसिक रूप से बीमार होते हैं। वे सोचने लगते हैं कि वे संभोग के दौरान अपनी पार्टनर को संतुष्ट करने में सक्षम नहीं होंगे।

उनके मन में एक डर बैठ जाता है कि उनकी पार्टनर उनसे नफरत करेगी या सच्चाई जानने के बाद उन्हें छोड़ देगी।

यह एक मानसिक समस्या है और ज्यादातर व्यक्तियों को कभी न कभी इस समस्या से झूझना पड़ता है।

यह कोई बीमारी नहीं है और सेक्स के दौरान कुछ आसान ट्रिक्स को अपनाकर आसानी से इससे छुटकारा पा सकता है।

बेस्ट 11 ट्रिक्स हमने नीचे दी हैं –

  1. जल्दबाजी न करें
  2. उत्तेजना पर ध्यान दें
  3. माहौल पर ध्यान दें
  4. नई तकनीकों के उपयोग से बचें
  5. खुद पर पर नियंत्रण रखें
  6. साँस पर कंट्रोल रखें
  7. ज्यादा देर तक फोरप्ले न करें
  8. यौन गपशप न करें
  9. नशीले पदार्थों का सेवन न करें
  10. तनाव मुक्त रहें
  11. देसी नुस्खे अपनायें

संभोग के दौरान जल्दबाजी न करें

यदि एक पुरुष जल्दबाजी में महिला के साथ यौन संबंध स्थापित करता है तो वह शीघ्रपतन का शिकार हो सकता है। इसलिए, सेक्स संबंधों को किसी भी हालत में जल्दबाजी में नहीं करना चाहिए।

कुछ पुरुष प्यार करने के दौरान ही बहुत ज्यादा उत्तेजित हो जाते हैं। उनकी यौन उत्तेजना समय से पहले ही क्लाइमेक्स पर पहुँच जाती है और वे योनि सेक्स के दौरान जल्दी स्खलित हो जाते हैं।

ऐसे पुरुषों की सेक्स पार्टनर, अपने साथी की इस गलती के कारण जल्द ही दुखी और चिड़चिड़ी होने लगती है। और इसके पीछे का कारण काफी साफ है कि वह संभोग के दौरान असंतुष्ट रह जाती है।

वह तो यह भी सोचने लगती है कि उसके पार्टनर के पास उसकी सेक्स प्यास को पूरी तरह से बुझाने की क्षमता ही नहीं है।

इसलिए पुरुषों को सेक्स धैर्य पूर्वक करना चाहिए। ऐसा करने से वह न सिर्फ सेक्स को लम्बे समय तक कर पाएंगे बल्कि अपनी पार्टनर को भी पूरी तरह से संतुष्ट कर पाएंगे।

उत्तेजना पर ध्यान दें

यदि आप अपनी पार्टनर के साथ लम्बा सेक्स करना चाहता है, तो आपको अपनी उत्तेजना पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए।

यौन उत्तेजना में बढ़ोतरी और इस उत्तेजना की लंबी अवधि, एक व्यक्ति की शारीरिक गतिविधियों पर निर्भर करती है।

जैसे, जब आपको लगता है कि आप यौन उत्तेजित हो रहे हैं और आपका लिंग सीधा होता जा रहा है, तो आपको अपनी सारी गतिविधियों को रोक देना चाहिए।

अब आपको पूरी तरह से शांत हो जाना चाहिए। इस तरह से उत्तेजना सामान्य हो जाती है।

यदि यौन उत्तेजना चरम सीमा पर पहुँचती है और शारीरिक गतिविधियाँ जारी रहती हैं, तो वीर्य का स्खलन रोकना असंभव हो जाता है।

इसलिए, आपको अपनी उत्तेजना को अत्यधिक बढ़ने नहीं देना है और इसपर काबू रखना सीखना है।

माहौल पर ध्यान दें

सेक्स करते समय अपने आसपास के माहौल पर ध्यान देना बहुत जरूरी होता है।

एक व्यक्ति मानसिक और शारीरिक रूप से तबतक पूरा सेक्स सुख नहीं पा सकता जब तक कि वह धैर्य और बिना डर के सेक्स नहीं करता। इसीलिए हर एक शादी-शुदा जोड़े को बिना किसी रुकावट के प्यार और सेक्स करने के लिए एक अलग कमरा दिया जाता है।

इसके बावजूद, अगर आपके आसपास के माहौल में कुछ रुकावटें हैं, तो आपको ऐसी स्थितियों में सेक्स नहीं करना चाहिए।

कभी-कभी, जब आप अपने कमरे में अपनी पत्नी के साथ सेक्स कर रहे होते हैं तो बाहर से कोई आपको बुलाने लगता है। यह स्थिति पति-पत्नी दोनों को बहुत अधिक पीड़ा देती है।

इस तरह की स्थितियाँ बार-बार आने से व्यक्ति के अचेतन मन में सेक्स के दौरान रुकावट आने का डर बैठ जाता है, और न चाहते हुए भी उसकी सेक्स टाइमिंग कम होने लगती है।

इसलिए हमेशा ही पुरुष-महिला को कमरे में प्रवेश करने के तुरंत बाद सेक्स नहीं करना चाहिए, बल्कि उन्हें कुछ देर किसी भी विषय पर एक-दूसरे से बात करनी चाहिए।

और जब दोनों को भरोसा हो जाए कि परिवार के सभी सदस्य नींद की आगोश में डूब गए हैं तो उन्हें यौन संबंध बनाने चाहिए।

इस दौरान यदि कमरे में रगीन कम लाइट वाले बल्ब चालू कर दिए जाएँ

सेक्स के दौरान विभिन्न तकनीकों का उपयोग हानिकारक हो सकता है

कई पुरुष अपनी पत्नियों को सेक्स के दौरान विभिन्न यौन तकनीकों की प्रयोगशाला बना देते हैं।

अक्सर, पुरुष विभिन्न पुस्तकों या इंटरनेट पर सेक्स तकनीकों और पोजीशन को पढ़ने के बाद अपनी पत्नियों को सेक्स के दौरान इन तकनीकों को अपनाने के लिए मजबूर करते हैं।

इंटरनेट पर बताई गई कई सेक्स पोजीशन को एक आम कपल को अपनाना लगभग असंभव होता है, क्योंकि इनके लिए काफी प्रैक्टिस की जरूरत होती है।

और अक्सर सेक्स के दौरान इस तरह की तकनीकों से पुरुष बहुत ज्यादा उत्तेजित हो जाते हैं।

इसका परिणाम यह होता है कि अत्यधिक उत्तेजना के कारण उनकी सेक्स टाइमिंग कम हो जाती है।

साथ ही, एक पत्नी को इस स्थिति में महसूस होता है कि उसका पति उसे एक खिलौने के रूप में इस्तेमाल कर रहा है, जिसके कारण वह मानसिक और शारीरिक रूप से परेशान हो जाती है।

किसी को भी विभिन्न सेक्स तकनीकों को अपनाने से इतना सेक्स सुख नहीं मिल सकता है, जितना कि उसे सामान्य सेक्स के तरीकों को ठीक से अपनाने से मिल सकता है।

कई एक्सपर्ट्स का कहना है कि एक आदमी, जो सामान्य तकनीकों के साथ सेक्स करता है, उसे गलती से भी विभिन्न प्रीमियम सेक्स तकनीकों को नहीं अपनाना चाहिए।

मिशनरी तकनीक, जिसमें पुरुष महिला के ऊपर होता है, एक सामान्य तकनीक होती है और सभी के लिए सूट करती है।

इस तकनीक में, पुरुष का लिंग योनि में गहराई तक प्रवेश करता है और वह आसानी से अपनी पत्नी के भावों को अनुभव कर सकता है।

साथ ही, वीर्य स्खलन के बाद अपनी पत्नी के ऊपर ही रहने से पुरुष और महिला दोनों को एक अजीब तरह का आनंद मिलता है।

एक बार नेचुरल सेक्स करने के बाद दूसरी बार में आप इन तकनीकों को अपनाकर देख सकते हैं। क्योंकि दूसरी बार के सेक्स में दोनों ही पार्टनर्स थोड़े संतुष्ट रहते हैं और कुछ नया ट्राय करके देख सकते हैं। साथ ही, ऐसा करने से आपको आसानी से नई-नई तकनीकों में महारत हासिल करने के लिए ज्यादा समय मिलता है।

सेक्स के दौरान यदि महिला पुरुष के ऊपर हो (जैसे काउगर्ल हेल्पर और रिवर्स काउगर्ल पोजीशन) तब भी एक अच्छा सेक्स होता है। क्योंकि इसमें महिला और पुरुष दोनों के पास अपने सेक्स मूवमेंट पर कंट्रोल होता है। इस तकनीक में महिला को स्खलन के बाद एक अजीब तरह का यौन सुख प्राप्त होता है, जो किसी अन्य सेक्स तकनीक में नहीं मिलता।

अन्य तकनीकों में, पति-पत्नी में से कोई भी सेक्स या स्खलन के दौरान एक दूसरे के आमने-सामने नहीं होते। इसलिए उन्हें एक दूसरे को गहराई से अनुभव करने का मौका नहीं मिलता।

साथ ही, एक पुरुष का लिंग इन दो तकनीकों के जरिये जितनी गहराई तक योनि के अंदर जा सकता है, उतना किसी अन्य तकनीक से नहीं जा सकता।

कभी-कभी, पुरुष योनि में लिंग अंदर डालने के बाद बहुत ज्यादा उत्तेजित हो जाता है और संभोग शुरू करने के तुरंत बाद ही स्खलित हो जाता है। ऊपर बताई गई दोनों तकनीकें उन व्यक्तियों के लिए बहुत फायदेमंद हैं।

यहाँ पर हमारा कहने का मतलब यह है कि शीघ्रपतन या वीर्य जल्दी गिरने से पीड़ित पुरुषों को मिशनरी और काउगर्ल सेक्स पोजीशन को ज्यादा अपनाना चाहिए।

सेक्स करते समय खुद पर पर नियंत्रण रखें

सेक्स और संयम एक-दूसरे से गहराई से जुड़े हैं। संयम के बिना सेक्स नहीं किया जा सकता है।

आमतौर पर, यह कहा जाता है कि संयम सेक्स का मुख्य आधार होता है और यह सभी गतिविधियों में बहुत आवश्यक होता है। खासतौर से युवा लड़कों के लिए संयम काफी जरूरी होता है।

कई जोड़े सेक्स सम्बन्ध तब बनाते हैं जब घर पर परिवार का कोई अन्य व्यक्ति नहीं होता। इस तरह कई लोग काफी जल्दबाजी में सेक्स करते हैं। उनकी पत्नियां भी अपने पति को नहीं रोकती हैं।

इस तरह के यौन संबंधों में, एक आदमी संभोग में शामिल होने के तुरंत बाद ही क्लाइमेक्स पर पहुँच जाता है। क्योंकि परिवार के किसी सदस्य के आ जाने का डर उन्हें जल्दी में सेक्स करने के लिए मजबूर करता है।

ऐसा बार-बार होने से व्यक्ति के शरीर को जल्दी स्खलित होने की आदत हो जाती है।

इसलिए, आपको इस प्रकार का अस्थायी यौन सुख प्राप्त करने के लिए शीघ्रपतन का रोगी नहीं बनना चाहिए।

यदि आपका अपने आप पर कंट्रोल नहीं है तो आप सेक्स करने के तुरंत बाद ही स्खलित हो जायेंगे। साथी ही, इस तरह से यौन संबंध बनाने पर महिला को पूर्ण यौन संतुष्टि नहीं मिलती है।

इसलिए, संभोग के दौरान संयम के बारे में जानना बहुत आवश्यक है।

साँस पर कंट्रोल रखें

उत्तेजना, जो क्लाइमेक्स की तरफ बढ़ती जाती है, इसे सेक्स के दौरान सामान्य सांस लेने से कंट्रोल किया जा सकता है।

सेक्स के दौरान जब आपको लगे कि आप स्खलित होने वाले हैं तो अपने सभी सेक्सुअल मूवमेंट को रोक दें।

फिर अपने शरीर को पूरा ढीला छोड़ दें और ऑंखें बंद करके लंबी गहरी सांस लें।

आपको अपनी सांस को एक बार में ही पूरा नहीं छोड़ना है, बल्कि जितना देर हो सके उतना सांस को अंदर रोके रखना है।

सांस पूरी छोड़ देने के बाद कुछ देर रुकें और दोबारा एक लम्बी गहरी सांस लें।

सेक्स के दौरान इस तकनीक को 2-3 मिनट तक करने से आपको अपनी उत्तेजना कंट्रोल करने का अभ्यास हो जायेगा और आप लम्बे समय तक सेक्स का आनंद ले सकेंगे।

यदि आपको इस तकनीक को अपनाने से सफलता मिल रही है, तो नियमित रूप से सेक्स के दौरान इसे अपनाएं।

ज्यादा देर तक फोरप्ले न करें

पुरुष एक महिला को देखकर काफी उत्साहित हो जाता है क्योंकि प्रकृति ने महिला को बनाया ही इतना खूबसूरत और आकर्षक है।

आमतौर पर, पुरुष का किसी भी महिला को छूने का लालच और इच्छा बढ़ती ही चली जाती है, खासतौर से तब जब उसने अभी तक सेक्स का स्वाद नहीं चखा हो तो। यही स्थिति लड़कियों पर भी लागू होती है।

एक पुरुष महिला के शरीर को देखता है, उसके शरीर के अंगों को छूता है, उसे गले लगाता है और उसे प्यार से चूमता है। वह अपनी पार्टनर को भी ऐसा करने के लिए उकसाता है। लेकिन एक महिला इन क्रियाकलापों से उतनी उत्साहित नहीं होती, जितना एक पुरुष हो जाता है।

इस तरह का फोरप्ले करने से आदमी मस्त हो जाता है और अपने लिंग को छूने के लिए महिला से कहता है। इससे उसमें अत्यधिक उत्तेजना पैदा हो जाती है और वह लिंग योनि के अंदर डालने के कुछ देर बाद ही स्खलित हो जाता है।

इस तरह, महिला असंतुष्ट रह जाती है और उसे अपनी यौन इच्छाओं को अपने दिल में ही दबाना पड़ता है।

इसलिए, फोरप्ले की प्रक्रिया को अत्यधिकआतुरता से नहीं करना चाहिए।

यहाँ पर हमारा कहने का मतलब यह है कि आपको किसी भी स्थिति में अपनी यौन उत्तेजना को अत्यधिक नहीं बढ़ने देना है। संभोग शुरू करने के लिए फोरप्ले केवल एक जरूरी हिस्सा होता है, लेकिन इसमें अपनी पूरी ऊर्जा बर्बाद नहीं करना है।

आपको अपने लिंग को भी अत्यधिक उत्तेजित नहीं होने देना है क्योंकि एक महिला को संभोग के लिए उत्तेजित होने में समय लगता है जबकि एक पुरुष बहुत जल्दी उत्तेजित हो जाता है।

सेक्स की क्रिया में लिंग के मुठ (सिरे) की काफी महत्वपूर्ण भूमिका रहती है। मुठ की स्किन काफी संवेदनशील होती है। यदि महिला इस स्किन को छू ले तो पुरुष काफी तेजी से क्लाइमेक्स की तरफ बढ़ने लगता है।

और फिर वह सेक्स के दौरान जल्दी ठंडा पढ़ जाता है।

इसलिए जो पुरुष बहुत जल्दी उत्तेजित हो जाते हैं उन्हें अपने लिंग पर फोरप्ले नहीं कराना चाहिए। अगर आप इस चीज पर ध्यान दें तो आपका सेक्स आनंद कुछ हद तक बढ़ सकता है।

कुछ एक्सपर्ट्स तो यह भी सलाह देते हैं कि कमजोर यौन शक्ति वाले पुरुषों को फोरप्ले करना ही नहीं चाहिए। लेकिन फोरप्ले न करने से एक महिला को मानसिक रूप से सेक्स के लिए तैयार होने में समस्या महसूस हो सकती है।

इसलिए पुरुष अपने लिंग के फोरप्ले को छोड़ सकते हैं, लेकिन उन्हें कुछ देर तक अपनी महिला पार्टनर के संवेदनशील अंगों के साथ जरूर खेलना चाहिए।

साथ ही, फोरप्ले के दौरान ही अपने पूरे कपड़े उतार देने से भी पुरुषों में अत्यधिक उत्तेजना हो सकती है, इसलिए उन्हें सिर्फ योनि सेक्स के दौरान ही अपने कपड़े उतारना चाहिए।

इसके अलावा, सेक्स को बहुत ज्यादा रौशनी में करने से भी आप जल्दी स्खलित हो सकते हैं। इसलिए लव मेकिंग में शामिल होने से पहले कमरे के तेज बल्ब बुझा दें और छोटे बल्ब जला दें।

यौन गपशप न करें

कई लोग अपनी आदतों के कारण यौन संबंध बनाने से पहले अपनी पार्टनर के साथ डबल मीनिंग गपशप करते हैं।

ऐसे व्यक्ति अपनी पत्नी को उत्तेजित करने के लिए सेक्सी गपशप करते हैं। और वह अपनी पत्नियों से भी यही प्रतिक्रिया प्राप्त करने की उम्मीद रखते हैं।

ऐसा करने से, व्यक्ति को एक तरफ यौन सुख मिलता है, दूसरी तरफ वह ज्यादा उत्तेजित भी होने लगता है।

इस तरह, व्यक्ति संभोग में शामिल होने से पहले ही स्खलन के लिए बहुत अधिक उत्तेजित हो जाते हैं।

इसलिए, संभोग से पहले सेक्सी गपशप नहीं करना चाहिए। इसके अलावा, एक आदमी को सेक्सी गपशप की मदद से अपनी पत्नी को उत्तेजित भी नहीं करना चाहिए।

सम्भोग से पहले तो आपको बिलकुल भी सेक्सी गपशप नहीं करना है। ऐसा करने से आपकी उत्तेजना पर तो नियंत्रण होगा ही, साथ ही आपको जल्दी स्खलित होने का डर भी नहीं होगा।

अगर आप अपनी पत्नी से अन्य विषयों पर बात करते हैं, तो वह इस तरह की बातचीत में ज्यादा दिलचस्पी लेगी। ऐसा करने से आपका आत्मविश्वास भी बढ़ेगा।

अगर किसी पुरुष को शीघ्रपतन की शिकायत है, तो सेक्सी गपसप इस समस्या का मुख्य कारण हो सकती है।

संभोग से पहले नशीले पदार्थों का सेवन नहीं किया जाना चाहिए

कई लोग सोचते हैं कि अगर नशीले पदार्थों का सेवन किया जाए तो यौन सुख की अवधि बहुत अधिक बढ़ सकती है। ऐसा सोचकर कई लोग सेक्स से पहले शराब, गांजा, अफीम आदि नशीले पदार्थों को लेते हैं।

शुरुआत में यह पदार्थ व्यक्ति को जल्दी उत्तेजित करने में मदद कर सकते हैं। लेकिन इनका लगातार इस्तेमाल करते रहने से व्यक्ति की प्राकृतिक रूप से उत्तेजित होने की क्षमता पर काफी बुरा असर पड़ता है।

इसके अलावा नशे की आदत हो जाने पर व्यक्ति अपना होशोहवाश खोने लगता है। वह सही और गलत में फर्क नहीं करता। नशे में वह अपनी पत्नी को शारीरिक नुकसान भी पहुँचा सकता है, जैसे नाखूनों से नोचना, मारना आदि।

अगर महिला सम्भोग के दौरान यह सब पसंद नहीं करती तो वह अपने पति से छुटकारा पाने की कोशिश करने लगती है। ऐसे सेक्स में उसे कोई यौन सुख नहीं मिलता।

इसलिए, इस तरह की सोच को जल्द ही आपको बदल देना चाहिए कि नशा यौन शक्ति को बढ़ाता है।

तनाव मुक्त रहें

आज के समय में हर व्यक्ति को अलग-अलग चिंताएं होती हैं। अधिकतर मामलों में यह चिंताएं खाने, सोने, शरीर और दिमाग को प्रभावित करती हैं।

साथ ही, यह चिंताएं व्यक्ति के सेक्स परफॉरमेंस पर भी बुरा असर डालती हैं। आप तनाव के साथ सभी काम कर सकते हैं, लेकिन इसके साथ सेक्स नहीं कर सकते।

यदि कोई व्यक्ति बहुत अधिक तनाव में होता है, तो वह यौन संबंधों की ओर कोई ध्यान ही नहीं देता या सेक्स करने का उसका मन ही नहीं करता।

यदि वह किसी भी तरह से संभोग के लिए खुद को तैयार कर भी लेता है, तो उसका शरीर संभोग करने में उसकी मदद नहीं करता। उसका लिंग पूरी तरह से खड़ा नहीं हो पाता और बहुत जल्दी स्खलित हो जाता है।

आजकल के कई युवा लड़के इस समस्या के शिकार हैं और उन्हें लगता है कि उन्हें शीघ्रपतन की समस्या हो गई है।

आजकल चिंता ने हमारे में जीवन में काफी गहरा घर बना लिया है और इससे बचा नहीं जा सकता। लेकिन आप नियमित रूप से योग, एक्सरसाइज करके और चिंता के मुख्य कारकों में धैर्यपूर्वक सुधार करके इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं।

देसी नुस्खे

इन देसी नुस्खों को नियमित रूप से अपनाकर भी आप अपने सेक्स को लम्बा और संतुष्टि पूर्ण बना सकते हैं।

जल्दी स्खलित होने से बचने के उपचार​

  • कुछ लौंग लें और इन्हें चबाएं ताकि इनमें अच्छी तरह से लार मिल जाए। अब इन लौंग को मुंह से निकालकर लिंग के पिछले हिस्से की फोरस्किन पर लगाएं। इसे लिंग के मुठ (सिरे) पर न लगाएं। यह फार्मूला व्यक्ति की सेक्स पावर को बढ़ाता है।
  • 10-10 मिलीलीटर शहद और सफेद प्याज के रस, दो अंडों की जर्दी और 25 मिलीलीटर वाइन को अच्छी तरह से मिला लें। इस मिश्रण का नियमित रूप से सेवन करें। इसे मर्दानगी बढ़ाने के लिए फायदेमंद माना जाता है।
  • 5 बादाम, 7 काली मिर्च और 2 ग्राम सूखे अदरक को मिलाकर पीस लें। अब इसमें अपनी जरूरत अनुसार चीनी डालकर दूध के साथ सेवन करें। इस प्रक्रिया को कुछ दिनों के लिए रोज करें। इसके उपयोग के तुरंत बाद से ही व्यक्ति को शीघ्रपतन से छुटकारा मिलने लगता है।
  • राजमा को पानी के साथ पीस लें और तबतक इसे फेंटें जबतक कि यह लाल न हो जाये। अब इस फेंटे हुए राजमा को दूध में मिलाकर हलवा बना लें। इस हलवे को तांबे या चाँदी की कटोरी में आधे घंटे के लिए रख दें और फिर सेवन करें। इस नुस्खे को लगातार 40 दिनों के लिए रोज करना है।

वीर्य बढ़ाने के तरीके​

  • इमली के बीजों को पानी में तबतक डुबो कर रखें जबतक कि उनकी पपड़ी निकलकर अलग न हो जाये। अब इन बीजों को सुखा लें और पीसकर पाउडर बना लें। आधा किलो इमली के बीजों के पाउडर में आधा किलो पिसी मिश्री मिला लें। रोज इस पाउडर की दो ग्राम मात्रा को दूध के साथ सेवन करें। ऐसा लगातार 40 दिनों तक रोज करें। यह नुस्खा वीर्य को गाड़ा करता है और शीघ्रपतन को ठीक करता है।
  • बरगद के फूलों को छाया में सुखाकर पीस लें और मिश्री मिलाकर रख लें। इस चूर्ण को 5 ग्राम की मात्रा में दूध के साथ दिन में दो बार लें। इसके उपयोग से एक हफ्ते के अंदर ही आपका वीर्य गाड़ा होने लगेगा। इस पाउडर को रोज लगातार 40 दिनों तक लिया जा सकता है।
  • 10 ग्राम कुडजु पाउडर को अंजीर के जूस में मिलाकर चाट लें। इसके बाद घी मिले दूध को पी लें। एक व्यक्ति, जो यौन संबंध बनाने में बिलकुल भी सक्षम नहीं है, इस दवा का उपयोग करने के बाद सेक्सुअली स्ट्रांग हो सकता है।
  • किसी भी देसी फूल की नरम कलियों को सुखाकर पीस लें। इस पाउडर की 6 ग्राम मात्रा को मिश्री मिले दूध के साथ सेवन करें। यह पुरुष के वीर्य को गाड़ा करने में काफी फायदेमंद होता है। इसके अलावा देसी फूलों के सेवन से व्यक्ति को स्वप्नदोष और वीर्य में आने वाली पेशाब की समस्या से भी छुटकारा मिल सकता है।
  • चिरौंजी, मुलेठी और कुडजु को एक साथ पीसकर पाउडर तैयार करें। इस पाउडर को एक हफ्ते तक दूध के साथ सेवन करें। आपकी वीर्य से संबंधित सभी समस्याएं समाप्त हो जाएँगी और वीर्य की मात्रा बढ़ जाएगी।
  • सूखा अदरक, शतावरी, थोड़ी सी हींग और मिश्री को मिलाकर सेवन करें। यह लिंग को मजबूत और सख्त बनाने में मदद करते हैं। व्यक्ति का लिंग बुढ़ापे तक ऐसा ही रहता है। इसके अलावा, वीर्य की गुणवत्ता बढ़ती है और वीर्य जल्दी गिरने की समस्या से निजात मिलती है। इस उपचार के दौरान गुड़ और खट्टी चीजों से परहेज करना चाहिए।

यदि आप ऊपर दिए गए उपचारों को नियमित रूप से अपनाते हैं तो आपकी वीर्य से सम्बंधित सभी समस्याएं ठीक हो जाएँगी और वह गाड़ा होगा। साथ ही लिंग भी सख्त और मस्कुलर बनेगा।

लिंग को मजबूत बनाने के नुस्खे​

  • देसी घी में बराबर मात्रा में शहद मिला लें। इस पेस्ट को लिंग पर लगाकर मालिश करें। घी और शहद लिंग को बड़ा करने में काफी मददगार होता है।
  • शुद्ध घी में थोड़ी सी हींग मिलाकर लिंग पर लगायें। अब एक साफ कॉटन कपड़े को लिंग पर बांध लें। इस उपचार को नियमित रूप से करने से कुछ ही दिनों में व्यक्ति का लिंग मजबूत और मुस्टंडा होने लगेगा।
  • सिंके हुए सुहागा में शहद मिलाकर पीस लें और लिंग पर लगा लें। इसके उपयोग से भी लिंग सख्त और तगड़ा होता है।
  • जायफल को भैंस के दूध के साथ पीस लें और रात को लिंग पर लगा लें। इस पेस्ट को अच्छे से लगाने के बाद एक पान का पत्ता लिंग पर बाँध लें। सुबह गर्म पानी से लिंग को धो लें। 3 हफ़्तों के अंदर ही आपका लिंग मोटा लम्बा हो जायेगा।
  • बेल की पत्तियों के जूस में शहद मिलाकर लिंग पर लगा लें। इससे अत्यधिक हस्तमैथुन के कारण लिंग में आई सभी समस्याएं दूर हो जाएँगी और वह मजबूत होगा।
  • रीठा और अकरकरा की छाल में वाइन मिलाकर पीस लें और पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को लिंग के मुठ (सिरे) को छोड़कर सब जगह लगा लें। इसके बाद एक ताजा पान के पत्ते को लिंग पर बाँध लें। इस प्रक्रिया को कुछ दिनों के लिए नियमित रूप से करने पर आपका लिंग मजबूत होगा।
  • बकरी के दूध के घी को लिंग पर लगाएं। इसका उपयोग लिंग को मजबूत बनाने और ठीक से उत्तेजना लाने के लिए किया जाता है।
  • निम्न पदार्थ भी लिंग को तगड़ा और मजबूत बनाने में मदद करते हैं – चेरी, मक्खन, सागौन का जूस।

जल्दी स्खलित होने से बचाने वाले मलहम​

  • हींग को शुद्ध शहद में मिलाकर लिंग पर लगाएं। यह नुस्खा वीर्य जल्दी गिरने की समस्या को ठीक करता है। इस पेस्ट को लगाने के बाद व्यक्ति अपनी पत्नी के साथ यौन संबंध बनाते समय अपनी इच्छा के अनुसार स्खलन कर सकता है।
  • जैतून और दालचीनी के तेल को 10-10 ग्राम मात्रा में मिलाएं। शीघ्रपतन से छुटकारा पाने के लिए इस आयल को लिंग पर लगाएं। यह नुस्खा व्यक्ति की सेक्स पावर को बढ़ाता है। इस नुस्खे को करने के दौरान लिंग को ठन्डे पानी से दूर रखें।
  • काले धतूरे के रस को एड़ियों पर लगाएं और इसके सूखने के बाद सेक्स करें। इस फार्मूला को अपनाने के बाद व्यक्ति को पूर्ण सेक्स संतुष्टि मिलने लगती है।

जानकारी​

एक व्यक्ति को लिंग पर मालिश करते समय नियमित रूप से स्मेग्मा (सफेद पदाथ) की सफाई करते रहना चाहिए। इस स्मेग्मा को ठंडे पानी से धोना चाहिए।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.