सूखा स्खलन (प्रतिगामी स्खलन) के कारण, लक्षण और उपचार

पुरुषों में, मूत्र और वीर्य दोनों मूत्रमार्ग से होकर गुजरते हैं।

मूत्राशय के मुख के पास एक दबाव डालने वाली मांसपेशी होती है जो पेशाब को तब तक रोके रखने में मदद करती है जब तक कि आप पेशाब करने के लिए तैयार न हों।

कामोत्तेजना और स्खलन के दौरान यही माँसपेशी फैलकर वीर्य को मूत्राशय में प्रवेश करने से रोकती है।

इससे वीर्य को पेशाब में मिले बिना मूत्रमार्ग के माध्यम से बाहर निकलने में मदद मिलती है।

प्रतिगामी स्खलन या सूखे स्खलन की समस्या में यह मांशपेशी ठीक से फैलने में विफल हो जाती है। जिसके फलस्वरूप वीर्य आपके मूत्राशय में चला जाता है।

परिणामस्वरूप आपको सूखे स्खलन की अनुभूति होती है, यानी स्खलन के दौरान आपको ऐसा अनुभव तो होता है कि वीर्य निकल रहा है लेकिन वास्तव में लिंग से कोई वीर्य नहीं निकलता, बल्कि यह मूत्राशय में चला जाता है।

बाद में पेशाब करते समय यह वीर्य मूत्र के साथ निकलता है।

यह कोई बीमारी नहीं है, और न ही इसके कारण आपके स्वास्थ्य को कोई गंभीर खतरा है।

इसके क्या कारण है, आपको डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए और कौनसा उपचार लेना चाहिए, यह सब जानने के लिए आगे पढ़ते रहें:

लक्षण

प्रतिगामी स्खलन का मुख्य लक्षण यह है कि जब आप स्खलित होते हैं तो लिंग से बहुत कम या कोई वीर्य नहीं निकलता। ऐसा इसलिए है क्योंकि वीर्य आपके मूत्रमार्ग के बजाय आपके मूत्राशय में चला जाता है।

क्योंकि मूत्राशय में वीर्य मूत्र के साथ मिश्रित हो जाता है, इसलिए आप नोटिस करेंगे कि आपका मूत्र गाढ़ा धुंधला निकल रहा है।

प्रतिगामी स्खलन का एक और संकेत यह है कि आप अपनी महिला साथी को गर्भवती करने में असफल हो रहे हैं। इसे पुरुष बांझपन के रूप में जाना जाता है।

यह पुरुषों की प्रजनन क्षमता को कैसे प्रभावित करता है?

प्रतिगामी स्खलन आपकी प्रजनन क्षमता को कम करता है, लेकिन यह बांझपन का एक सामान्य कारण नहीं है। तुर्की में हुए एक शोध के अनुसार यह बांझपन के केवल 0.3 से 2 प्रतिशत मामलों में कारण बनता है।

प्रतिगामी स्खलन का मतलब यह नहीं है कि आपके शुक्राणुओं में कोई कमी है। इसके बजाय, बांझपन इसलिए होता है क्योंकि आपके शुक्राणु महिला की योनि में पहुँच ही नहीं पाते।

कारण

चूँकि स्खलन की अन्य समस्याएं जैसे इरेक्टाइल डिसफंक्शन में मनोवैज्ञानिक कारक होते हैं, लेकिन प्रतिगामी स्खलन पूरी तरह से एक शारीरिक समस्या का परिणाम होती है।

यह ऐसी किसी भी समस्या के कारण हो सकती है, जो मूत्राशय के मुख को प्रभावित करती हो।

कुछ दवाओं के सेवन के एक संभावित दुष्प्रभाव के रूप में भी आपको प्रतिगामी स्खलन हो सकता है। खासतौर से बड़े हुए प्रोस्टेट, हाई ब्लड प्रेशर और डिप्रेशन की दवायें।

यह कुछ बीमारियों के कारण हुई तंत्रिका क्षति (नर्व डैमेज) के कारण भी हो सकती है, जैसे:

  • मधुमेह (डायबिटीज)
  • मल्टीपल स्क्लेरोसिस
  • पार्किंसंस रोग
  • रीढ़ की हड्डी में चोट लगना

प्रोस्टेट कैंसर की सर्जरी भी मूत्राशय को प्रभावित करने वाली नसों को नुकसान पहुंचा सकती है। TURP नामक एक अन्य प्रकार की प्रोस्टेट सर्जरी मूत्राशय के मुख को सीधे प्रभावित कर सकती है।

आमतौर पर प्रतिगामी स्खलन के सबसे आम कारण प्रोस्टेट सर्जरी या मूत्राशय की सर्जरी ही होती हैं।

पहचान

यदि आपको बार-बार सूखा स्खलन होता है, तो आपको अपने डॉक्टर से मिलने के बारे में सोचना चाहिए।

हालांकि प्रतिगामी स्खलन अपने आप में आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक नहीं है, लेकिन इसका होना आपमें किसी अन्य समस्या का संकेत हो सकता है।

स्पष्ट कारकों की पहचान के लिए डॉक्टर आपका एक शारीरिक परिक्षण करेगा। आपकी समस्या का और अधिक स्पष्ट मूल्यांकन करने के लिए डॉक्टर आपमें निम्न लक्षणों की जाँच भी करेगा:

  • स्खलन के दौरान कितना वीर्य निकल रहा है
  • स्खलन के बाद क्या आपका मूत्र सफ़ेद गाढ़ा हो जाता है
  • क्या आपमें पुरुष बाँझपन की समस्या है

अपने डॉक्टर को निम्न बातें बताना न भूलें:

  • आपमें कितने समय से और कितनी बार सूखा स्खलन हो चुका है
  • कोई अन्य लक्षण जो आपने देखा होगा
  • यदि आप किसी पुरानी बीमारी या चोट के बारे में जानते हैं
  • आपके द्वारा ली जाने वाली किसी भी दवा के बारे में
  • यदि आपका कैंसर का इलाज चला है, और कैसा इलाज चला है

मूत्र परीक्षण यह पता लगाने का एक अच्छा तरीका है कि क्या स्खलन वीर्य की कमी प्रतिगामी स्खलन के कारण है। मूत्र का नमूना देने से पहले आपको हस्तमैथुन करने के लिए कहा जा सकता है। यदि आपके मूत्र में वीर्य की मात्रा अधिक पाई जाती है, तो इससे यह निर्धारित होता है कि आपमें प्रतिगामी स्खलन की समस्या है।

यदि स्खलन के बाद भी आपके मूत्र में वीर्य नहीं मिलता है, तो आपके वीर्य उत्पादन में कमी या कोई अन्य समस्या हो सकती है।

आगे के परीक्षण के लिए आपको एक फर्टिलिटी विशेषज्ञ या अन्य चिकित्सक से जाँच कराने की आवश्यकता हो सकती है।

उपचार

प्रतिगामी स्खलन के लिए आवश्यक रूप से उपचार की आवश्यकता नहीं होती है। यह आपके सेक्स आनंद में हस्तक्षेप नहीं करता, और न ही आपके स्वास्थ्य पर बुरा असर डालता है। लेकिन इसके उपचार उपलब्ध हैं।

यदि किसी दवा के कारण यह होता है, तो दवा लेना बंद कर देने से यह ठीक हो जाता है। हालाँकि, अपने डॉक्टर की सलाह के बिना किसी भी मेडिकल दवा का सेवन करना बंद न करें।

यह देखने के लिए कि किस दवा के कारण आपको यह समस्या हो रही, आपको दवा को एक-एक करके छोड़कर देखने की कोशिश करनी पड़ सकती है, लेकिन आपको इसे सुरक्षित रूप से करने और अपने सभी विकल्पों को समझने की आवश्यकता होगी।

विभिन्न प्रकार की दवाएं भी स्खलन के दौरान मूत्राशय के मुख की मांसपेशियों को फैलाये रखने में मदद कर सकती हैं। इनमें से कुछ दवाओं के नाम निम्न हैं:

  • ब्रोम्फेनिरामाइन (brompheniramine)
  • क्लोरफेनिरामाइन (chlorpheniramine)
  • इफेड्रिन (ephedrine)
  • इमीप्रामाइन (imipramine)
  • मिडोड्राइन (midodrine)
  • फिनाइलफ्राइन (phenylephrine)
  • स्यूडोएफ़ेड्रिन (pseudoephedrine)

हालाँकि इनमें से किसी भी दवा को लिखने से पहले आपका डॉक्टर पूरी जाँच करेगा।

यदि सर्जरी के कारण आपको गंभीर नर्व डैमेज या मांसपेशियों में क्षति हुई है, तो यह दवाएं आमतौर पर प्रभावी नहीं होतीं।

यदि आप गर्भधारण की कोशिश कर रहे हैं और कोई भी दवा मदद नहीं कर रही है, तो किसी फर्टिलिटी विशेषज्ञ से मिलने पर विचार करें। ऐसी स्थिति में इनविट्रो फर्टिलाइजेशन या आर्टिफिसियल इनसेमिनेशन के जरिये गर्भधारण संभव है।

निष्कर्ष

यदि आप बिना वीर्य के स्खलित हो रहे हैं, तो इसके कारण का पता लगाने के लिए अपने डॉक्टर जाँच करवाना उचित है।

प्रतिगामी स्खलन से दर्द नहीं होता है और न ही यह किसी भी गंभीर स्वास्थ्य समस्या का कारण बनता है। यह आपको पूर्ण यौन सुख प्राप्त करने से भी नहीं रोकता।

हालाँकि, यदि वीर्य की कमी के कारण आपको चिंता होती है, तो यह जरूर आपके यौन सुख में हस्तक्षेप कर सकती है।

प्रतिगामी स्खलन का एकमात्र नुकसान होता है पुरुष बाँझपन, लेकिन तभी जब आप एक बच्चा पैदा करने के बारे में सोच रहे हों।

इसलिए जबतक आप एक पिता बनने की इच्छा न रखते हों, तब तक इस समस्या का इलाज करवाना आवश्यक नहीं है।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.