लिंग वर्धक यंत्र: उपयोग कैसे करें, कहाँ से खरीदें और कितनी उम्मीद रखें

लिंग वर्धक यंत्र का उपयोग, लिंग मोटा लम्बा करने वाले तरीकों में से एक होता है। इन यंत्रों का उपयोग करना काफी आसान होता है। लेकिन इसका ठीक से उपयोग करना काफी जरूरी है, क्योंकि अनुचित उपयोग से लिंग में चोट भी लग सकती है।

लिंग वर्धक यंत्र को पेनिस पंप या वैक्यूम पंप भी कहा जाता है। इसमें निम्न चीजें होती हैं –

  • एक ट्यूब जो आपके लिंग पर फिट होती है।
  • एक सील या रिंग जो आपके लिंग के आधार पर लगाई जाती है और लिंग में रक्त को रोके रखती है।
  • एक बैटरी या हाथ से चलित वैक्यूम पंप जो ट्यूब में से हवा निकालकर लिंग में वैक्यूम पैदा करता है।

किसी स्वास्थ्य समस्या के कारण छोटे हुए लिंग में, शायद लिंग वर्धक यंत्र काम न करे।

लेकिन, यदि लिंग में रक्त संचार कम होने के कारण या पेल्विक फ्लोर मांसपेशियों के कमजोर होने के कारण, आपका लिंग पूरा खड़ा नहीं होता है, तो आप इसे बड़ा करने के लिए विभिन्न योगएक्सरसाइज और प्राकतिक दवाओं के साथ-साथ, लिंग वर्धक यंत्र का भी उपयोग कर सकते हैं।

  1. उपयोग
  2. फायदे
  3. साइड इफ़ेक्ट
  4. खरीद

लिंग वर्धक यंत्र का उपयोग कैसे करें?

लिंग वर्धक यंत्र का उपयोग

शुरुआत में इसे उपयोग करना शायद आपको थोड़ा मुश्किल लगे, लेकिन इसका उपयोग काफी आसान होता है।

  1. सबसे पहले लिंग में जलन या खुजली से बचने के लिए, उसपर कोई लुब्रीकेंट या तेल लगा लें। फिर कंडोम की तरह ट्यूब को लिंग पर लगा लें।
  2. अब ट्यूब में से हवा निकालने के लिए बैटरी से चलने वाले पंप को चालू कर दें। यदि आपका पंप हाथ से चलित है, तो हाथ से पंप को चलाते हुए हवा निकालना शुरू कर दें।
  3. हवा निकालने से आपके लिंग की रक्त वाहिकाएं खुलने लगेगीं और रक्त संचार तेज होने लगेगा। लिंग पूरी तरह से खड़ा करने के लिए, इस वैक्यूम को कुछ मिनट्स के लिए बना रहने दें।
  4. फिर आप इस यंत्र को निकाल सकते हैं और हस्थमैथुन या सम्भोग का आनंद ले सकते हैं।

पेनिस रिंग का इस्तेमाल कब करें?​

पेनिस रिंग का इस्तेमाल

ज्यादातर लिंग वर्धक यंत्रों के साथ पेनिस रिंग या सील आती है, जिसे लिंग के आधार पर पहना जाता है। इसका मुख्य काम होता है, लिंग खड़ा होने के बाद उसमें रक्त को रोके रखना।

पेनिस पंप लगाने के दौरान ही इस रिंग को पहना जाता है। पेनिस पंप निकालने के बाद इस रिंग को थोड़ी देर लगा रहने दें, लेकिन 30 मिनट से ज्यादा नहीं, क्योंकि इसके कारण आपका लिंग सुन्न हो सकता है

लिंग वर्धक यंत्र के फायदे क्या-क्या हैं?

लिंग वर्धक यंत्र के फायदे

ज्यादातर लोग लिंग वर्धक यंत्र का उपयोग लिंग में रक्त संचार बढ़ाकर उसे पूरा खड़ा करने के लिए करते हैं। लिंग खड़ा होने का समय हर व्यक्ति का अलग-अलग होता है, लेकिन कम से कम 30 मिनट तो सभी का होता है। कुछ लोग इसका उपयोग हस्तमैथुन या संभोग करने से पहले करते हैं।

आमतौर पर यह यंत्र पूरी तरह से सुरक्षित होते हैं, और यदि इनका ठीक से उपयोग किया जाए, तो इनके कोई साइड इफेक्ट्स भी नहीं होते।

साथ ही, यह लिंग बड़ा करने वाली दवाओं, सर्जरी या अन्य उपचारों के मुकाबले काफी सस्ते होते हैं, क्योंकि इनको सिर्फ एक बार खरीदना होता है और बार-बार उपयोग किया जा सकता है। इसके अलावा, इनका उपयोग पूरी तरह से प्राकृतिक होता है।

इन यंत्रों को कुछ मेडिकल प्रक्रियाओं जैसे प्रोस्टेट सर्जरी या प्रोस्टेट कैंसर की रेडिएशन थेरेपी के बाद जल्दी ठीक होने में फायदेमंद माना जाता है और डॉक्टर इनके उपयोग की सलाह देते हैं।

इन यंत्रों का एक और फायदा यह है कि आप इन्हें बिना किसी रिस्क के लिंग बढ़ाने के अन्य उपचारों के साथ उपयोग कर सकते हैं। इनका नियमित इस्तेमाल करने से आपके लिंग को प्राकृतिक रूप से पूरा खड़ा करने में मदद मिलती है।

क्या लिंग वर्धक यंत्रों का उपयोग करने से कोई साइड इफ़ेक्ट या खतरा होता है?

लिंग वर्धक यंत्रों का उपयोग करने के साइड इफ़ेक्ट

यदि इन यंत्रों को ठीक से और सीमित मात्रा में उपयोग किया जाये, तो इनका कोई खतरा नहीं होता।

आपका लिंग इन यंत्रों के प्रति जैसी प्रतिक्रिया देता है, उस अनुसार आप इनका उपयोग कर सकते हैं। कुछ पुरुषों के लिए इनका दिन में कई बार उपयोग नार्मल होता है, वहीं कुछ को कम उपयोग करने की आवश्यकता होती है।

हर यंत्र के साथ उपयोग करने के दिशा निर्देश लिखे हुए आते हैं। आपको जरूरी है, कि इन निर्देशों को ठीक से पढ़ें और उसी अनुसार यंत्र का उपयोग करें।

साथ ही, लिंग वर्धक यंत्र का उपयोग करने से कुछ पुरुषों के लिंग की स्किन में छोटे रक्त के कट्स बन सकते हैं, जिनमें रक्त भी निकल सकता है। यदि यह कट्स बढ़ते ही जाएँ और अत्यधिक दर्द हो, तो यंत्र का उपयोग कम कर दें या न करें।

लिंग वर्धक यंत्रों की आर्टिफीसियल प्रकृति होने के कारण, शुरुआत में इनका इस्तेमाल करने से आपको थोड़ा भद्दा या असुविधाजनक महसूस हो सकता है।

कुछ पुरुष यह भी नोटिस करते हैं, कि कभी कभी उनके लिंग के आधार में लिंग के सिरे जितनी उत्तेजना नहीं होती। हालाँकि, शुरुआत में आपको भी यह समस्या हो सकती है, लेकिन नियमित अभ्यास से यह अपनेआप ठीक हो जाती है।

रक्त संचार के कारण छोटे हुए लिंग से परेशान पुरुष, लिंग वर्धक यंत्र का सुरक्षित रूप से उपयोग कर सकते हैं।

लेकिन यदि आप कोई रक्त पतला करने वाली मेडिसिन जैसे warfarin (Coumadin) ले रहे हैं, तो आपमें इंटरनल ब्लीडिंग होने की सम्भावना बढ़ जाती है।

साथ ही, यदि आपको कोई रक्त संबंधी बीमारी, जैसे sickle cell anemia है, जिसमें ब्लीडिंग या ब्लड क्लॉट होने की अत्यधिक संभावना होती है, तो इन यंत्रों का उपयोग अतिरिक्त सुरक्षा के साथ करें।

लिंग वर्धक यंत्र कहाँ से खरीदें?

लिंग वर्धक यंत्र कहाँ से खरीदें?

यदि आप लिंग वर्धक यंत्र खरीदना चाहते हैं, तो आजकल यह आसानी से ऑनलाइन उपलब्ध होते हैं। यह snapdeal और flipkart पर उपलब्ध हैं, खरीदने के लिए इनकी लिंक पर क्लिक करें या इन वेबसाइट पर जाकर “vaccum pump” या “penis pump” सर्च करें।

लेकिन इन्हें खरीदने से पहले, विभिन्न उपयोग कर चुके व्यक्तियों के रिव्यु देखना न भूलें और अच्छे रिव्यु वाला प्रोडक्ट ही खरीदें।

उचित चुनाव करने के लिए, आप अपने डॉक्टर से भी सलाह ले सकते हैं।

लिंग वर्धक यंत्र खरीदते समय निम्न बातों का ध्यान रखें​

यंत्र खरीदते समय यह सुनिश्चित कर लें कि उसमें वैक्यूम लिमिटर (vacuum limiter) हो। यह पंप में अधिक दबाव नहीं बढ़ने देता, ताकि आपके लिंग में चोट न लगे।

यन्त्र के साथ आने वाली पेनिस रिंग भी आपके लिंग के आधार की साइज अनुसार होना चाहिए ताकि वह ठीक से फिट हो सके। यह इतनी टाइट होना चाहिए कि रक्त को लिंग में रोक सके, लेकिन इतनी भी टाइट न हो कि आपको असुविधाजनक महसूस हो और लिंग सुन्न पड़ जाए।

यंत्र खरीदते समय उसे बनाने वाली ब्रांड की विश्वसनीयता और लोकप्रियता की भी जाँच कर लें।

1 thought on “लिंग वर्धक यंत्र: उपयोग कैसे करें, कहाँ से खरीदें और कितनी उम्मीद रखें”

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.