लिंग सुन्न होने के कारण, लक्षण और उपचार

सामान्य रूप से लिंग एक संवेदनशील अंग होता है। हालांकि, कभी-कभी यह सुन्न भी पड़ सकता है।

इसका मतलब यह हुआ, कि अब आपको अपने लिंग को टच करने से कोई संवेदनशीलता का अनुभव नहीं होता। यदि आपने इसके कारणों का समय पर इलाज नहीं किया, तो इसके कारण आपकी सेक्स लाइफ पर बुरा असर पड़ सकता है।

लिंग सुन्न होने के लक्षण​

यदि आप लिंग सुन्न होने की समस्या से गुजर रहे ,हैं तो आपको अपने लिंग में कुछ भी महसूस नहीं होगा या ऐसा लगेगा जैसे आपका लिंग सोया हो। इसके कारणों के आधार पर आपको अन्य लक्षण भी दिखाई दे सकते हैं, जैसे –

  • स्किन नीली पड़ना
  • जलन महसूस होना
  • ठंडापन महसूस होना
  • कोई पैनी चीज चुभने का अनुभव होना
  • झुनझुनी महसूस होना

लिंग सुन्न होने के कारण​

लिंग में चोट लगना​

हालाँकि, अभी यह स्पष्ट नहीं है, कि कितने पुरुषों को टेस्टोस्टेरोन की कमी या किसी बीमारी की वजह से लिंग में सुन्नता होती है, लेकिन शोधकर्ताओं ने साइकिल चलाने वाले पुरुषों पर इसका शोध जरूर किया है।

2001 में जर्मनी के डिपार्टमेंट ऑफ यूरोलॉजी में हुए एक शोध में, शोधकर्ताओं ने 61% साइकिल चलाने वाले पुरुषों के जननांगों में सुन्नता होने की समस्या पाई।

साइकिल या मोटरसाइकिल चलाने वाले पुरुषों के लिंग में सुन्नता होना आम बात है, खासतौर से उन पुरुषों में जो लम्बा सफर करते हैं।

यह तब होता है, जब साइकिल या मोटरसाइकिल की सीट, अंडकोष और गुदा के बीच के हिस्से पर प्रेशर डालती है।

इस हिस्से में लिंग तक रक्त पहुँचाने वाली वाहिकाएँ और तंत्रिकाएँ होती हैं, जिनपर दबाव पड़ता है। यह दबाव बार-बार पड़ने से वीर्य जल्दी गिरने की समस्या और इरेक्टाइल डिसफंक्शन भी हो सकता है।

वैक्यूम पेनिस पंप के अत्यधिक इस्तेमाल से भी लिंग सुन्न पड़ सकता है।

पेनिस पंप को लिंग बड़ा करने और सेक्स टाइम बढ़ाने में इस्तेमाल किया जाता है। यह उपकरण लिंग में वैक्यूम पैदा करके, रक्त को बढ़ाने का काम करने हैं।

इनके इस्तेमाल से लिंग में अस्थायी रूप से सुन्नता, जलन और स्किन में कट्स हो सकते हैं, लेकिन इनका अत्यधिक इस्तेमाल करने से यह लक्षण स्थाई भी हो सकते हैं।

किसी बीमारी या दवा का साइड इफ़ेक्ट​

ऐसी बीमारी, जो तंत्रिकाओं (नर्व) को क्षति पहुंचती है, वो भी लिंग और शरीर के अन्य अंगों में सुन्नता और लकवा पैदा कर सकती है।

मधुमेह (डायबिटीज) और मल्टीपल स्क्लेरोसिस (MS), तंत्रिकाओं को डैमेज करने वाली कुछ बीमारियाँ हैं।

पेरोनी रोग (पायरोनी डिजीज), जो लिंग में स्कार टिश्यू को जमाकर लिंग में टेढ़ापन पैदा करती है, भी लिंग में संवेदनशीलता को कम कर सकती है।

selegiline ड्रग (Atapryl, Carbex, Eldepryl, L-deprenyl), जिसका सेवन पार्किंसंस रोग का उपचार करने के लिए किया जाता है, भी साइड इफ़ेक्ट के रूप में लिंग में संवेदनशीलता को कम करता है।

टेस्टोस्टेरोन की कमी​

टेस्टोस्टेरोन एक हॉर्मोन होता है, जो पुरुषों में सेक्स ड्राइव, मांशपेशियों का मास और स्पर्म प्रोडक्शन बढ़ाने में मदद करता है। उम्र बढ़ने के साथ-साथ टेस्टोस्टेरोन का स्तर भी घटता चला जाता है।

इसके कम होने से, लिंग में संवेदना कम होने लगती है, जिससे आपकी सेक्स इच्छा, मूड और एनर्जी लेवल में भी कमी आती है।

रिस्क फैक्टर

लिंग में सुन्नता होने की सम्भावना उन पुरुषों को ज्यादा होती है जिन्हें –

  • ऐसी कोई बीमारी हो जो तंत्रिकाओं को क्षति पहुंचती हो, जैसे डायबिटीज, मल्टीपल स्क्लेरोसिस और पायरोनी डिजीज।
  • किसी आघात या अपक्षयी बीमारी के कारण मेरुदण्ड (रीड की हड्डी) या दिमाग में चोट लगना।
  • लम्बी दूरी तक साइकिल या मोटरसाइकिल चलाना।
  • टेस्टोस्टेरोन कम होना।
  • selegiline ड्रग का सेवन करना।

जांच और निदान​

लिंग सुन्न होने का कारण पता लगाने के लिए, डॉक्टर आपकी मेडिकल हिस्ट्री के बारे में पूछेगा और आपका फिजिकल एग्जामिनेशन करेगा। वो आपसे निम्न प्रश्न पूछ सकता है –

  • लिंग सुन्न होना कब शुरू हुआ?
  • क्या आपको अपने लिंग में कोई फीलिंग होती है? यदि हाँ तो कैसी फीलिंग?
  • क्या कुछ भी आपकी सुन्नता को बेहतर या बदतर बना रहा है?
  • सुन्नता आपकी सेक्स लाइफ को कितना और किस प्रकार से प्रभावित कर रही है?

डॉक्टर आपकी स्थिति की जाँच करके, आपके कुछ टेस्ट करवा सकता है। निम्न टेस्ट हैं, जो शायद डॉक्टर आपको करवाने को कहे –

  • टेस्टोस्टेरोन का स्तर जानने के लिए रक्त की जाँच (ब्लड टेस्ट)।
  • ब्रेन और रीड की हड्डी में प्रॉब्लम की जाँच करने के लिए इमेजिंग टेस्ट, जैसे MRI स्कैन।
  • लिंग में स्कार टिश्यू और ब्लड फ्लो की जाँच के लिए अल्ट्रासाउंड।

उपलब्ध उपचार​

आपके लिंग की सुन्नता का उपचार, इसके कारणों पर आधारित होगा।

चोट का इलाज​

यदि लम्बे समय से मोटरसाइकिल चलाने के कारण आपका लिंग सुन्न हुआ है, तो आपको इसमें कमी लानी होगी। यदि आप मोटरसाइकिल चलाना नहीं छोड़ सकते, तो आप अपने गुप्तांगों पर इसके प्रभावों को कम करने के लिए निम्न उपाय कर सकते हैं –

  • अपनी मोटरसाइकिल में चौड़ी सीट लगवाएँ, जिसमें एक्स्ट्रा पैडिंग हो या जो अधिक नरम हो।
  • गद्देदार बाइक शॉर्ट्स (हाफ पेंट) पहनकर मोटरसाइकिल चलाएँ।
  • लम्बी दूरी तक मोटरसाइकिल चलाने के दौरान अपनी पोजीशन बदलते रहें और बीच-बीच में आराम करें।
  • साइकिल चलाने वाले पुरुष, पेरिनियम पर प्रेशर को कम करने के लिए सीट के एंगल को आगे से नीचे की और झुका दें। पेरिनियम गुदा और अंडकोषों के बीच के हिस्से को कहा जाता है।

यदि वैक्यूम पंप के इस्तेमाल से आपका लिंग सुन्न हुआ है, तो इन उपकरणों का इस्तेमाल रोक देने से सुन्नता ठीक हो जानी चाहिए।

बीमारी का इलाज​

डॉक्टर आपके लिंग में सुन्नता पैदा करने वाली बीमारी का इलाज करेगा –

  • यदि आपको डायबिटीज है, तो आपको डाइटिंग, एक्सरसाइज और मेडिकेशन के जरिये अपने ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करना होगा। डायबिटीज के कारण लिंग के साथ-साथ शरीर के अन्य अंगों की तंत्रिकाएँ डैमेज होने का खतरा होता है।
  • यदि आपको मल्टीपल स्क्लेरोसिस है, तो इसे ठीक करने के लिए स्टेरॉइड्स और अन्य दवाओं का सेवन करें।
  • यदि आपको पेरोनी रोग है, तो इसे ठीक करने के लिए डॉक्टर आपको collagenase clostridium histolyticum (Xiaflex) दवा का सेवन करने को कह सकता है। यह दवा लिंग में टेढ़ापन और छालों को पैदा करने वाले कोलेजन टिश्यू को ब्रेक करेगा।

लो टेस्टोस्टेरोन का इलाज​

टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने के लिए डॉक्टर आपको इसके सप्लीमेंट्स लेने को कहेगा। मेडिकल स्टोर्स पर टेस्टोस्टेरोन निम्न रूपों में उपलब्ध होता है –

  • गोलियां
  • जेल, जिसे आपको अपनी स्किन पर रब करना होता है
  • शॉट्स
  • पैचेज

टेस्टोस्टेरोन थेरेपी लेने से, आपका सेक्स ड्राइव बढ़ेगा और लिंग में कामोत्तेजना तेज करने में मदद मिलेगी।

इसके अलावा, टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने के कुछ प्राकृतिक तरीके भी होते हैं।

क्या आप दोबारा अपने लिंग की सेंसिटिविटी को प्राप्त कर पाएंगे​

आप दोबारा अपने लिंग में पहले जैसी सेंसिटिविटी प्राप्त कर पाएंगे या नहीं, यह इस बात पर निर्भर करता है, कि आपको यह समस्या होने का कारण क्या है।

यदि इसका कारण अधिक मोटरसाइकिल चलाना है, तो इसमें कमी लाकर या अपनी मोटरसाइकिल की सीट को चौड़ा और गद्देदार करवाकर यह समस्या ठीक हो सकती है।

मेडिकल समस्याएं, जैसे पेरोनी रोग और मल्टीपल स्क्लेरोसिस में डॉक्टर से उचित ट्रीटमेंट लेना जरूरी होता है।

यदि इसका कारण टेस्टोस्टेरोन की कमी है, तो इसे ठीक करने के लिए आपको टेस्टोस्टेरोन बढ़ाने के उपाय करना चाहिए।

यदि ऊपर दिए उपचारों से भी आपके लिंग का सुन्नपन ठीक नहीं होता है, तुरंत अपने डॉक्टर से मिलें। खासतौर से तब, जब यह आपकी सेक्स लाइफ पर बुरा असर डाल रहा हो।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.