लिंग पर वैसलीन लगायें या नहीं?

वैसलीन या पेट्रोलियम जेली एक आयल-बेस्ड लुब्रीकेंट होती है, यानी यह आयल से बनी होती है। यह काफी नरम, चिपचिपी और चिकनी होती है। यह आपके हाथों में भी काफी आसानी से गर्म हो जाती है। यह सब गुण देखते हुए ऐसा लगता है वैसलीन सेक्स के दौरान लिंग पर लगाने का काफी अच्छा लुब्रीकेंट हो सकता है। लेकिन, सच्चाई यह है कि इससे अच्छे कई और लुब्रीकेंट भी मौजूद हैं। इसलिए वैसलीन का तभी उपयोग करें यदि आपके पास कोई और अच्छा विकल्प मौजूद न हो।

यहाँ पर हम आपको बताएँगे कि वैसलीन क्यों सेक्स के लिए अच्छा विकल्प नहीं है और इसकी जगह क्या इस्तेमाल करें?

  1. विज्ञान क्या कहता है?​
  2. लिंग पर क्या इस्तेमाल करें?​
  3. लुब्रीकेंट जिनसे बचना चाहिए​
  4. निष्कर्ष

विज्ञान क्या कहता है?​

लुब्रीकेंट के बिना सेक्स करना दुखदाई हो सकता है। सूखी स्किन का घर्षण आपको असुविधाजनक और दर्द महसूस करा सकता है। संभोग के दौरान घर्षण से योनि, लिंग या गुदा की पतली स्किन छिल सकती है। इससे आपको और आपकी पार्टनर को यौन संचारित संक्रमण (एसटीआई) होने का खतरा बढ़ जाता है।

सेक्स के लिए वैसलीन एक आइडियल लुब्रीकेंट नहीं होती। हालांकि, यदि आपके पास कोई बेहतर विकल्प उपलब्ध नहीं है, तो जरूर इसका उपयोग किया जा सकता है। यदि आप वैसलीन को लुब्रीकेंट के रूप में इस्तेमाल करने के बारे में सोच रहे हैं तो निम्न बातों का ध्यान रखें:

  • इसमें चिपके रहने का गुण होता है: पेट्रोलियम से बने लुब्रीकेंट जैसे वैसलीन काफी लम्बे समय तक स्किन पर चिपके रहते हैं और वाटर-बेस्ड लुब्रीकेंट की तरह जल्दी नहीं सूखते। इसका नुकसान भी है, क्योंकि सेक्स के बाद वैसलीन को साफ करना या धोना काफी मुश्किल हो सकता है। इसकी चिकनाई को पूरी तरह से साफ होने में कुछ दिनों का समय लग सकता है।
  • वैसलीन से संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है: क्योंकि, वैसलीन अन्य ल्यूब्स की तुलना में अधिक समय तक स्किन से चिपकी रहती है, इसलिए इसके कारण बैक्टीरिया स्किन पर अपना घर बना सकते हैं। एक शोध के अनुसार जो महिलाएं अपनी योनि के अंदर पेट्रोलियम जेली का उपयोग करती हैं उनमें bacterial vaginosis होने का खतरा 2.2 गुना ज्यादा होता है।
  • वैसलीन जैसी पेट्रोलियम जेली कंडोम को कमजोर करती हैं: यदि आप लेटेक्स या पॉलीयूरेथेन कंडोम का उपयोग करने की सोच रहे हैं, तो आप सेक्स में वैसलीन का उपयोग नहीं कर सकते। पेट्रोलियम जेली लेटेक्स से बने पदार्थों को कमजोर करती है, जिससे सेक्स के दौरान कंडोम फट सकता है और अनचाही गर्भावस्था या एसटीडी हो सकती है।
  • वैसलीन ग्रीज जैसी चिपचिपी होती है: पेट्रोलियम से बने पदार्थ ग्रीज जैसे होते हैं और आपके कपड़ों व बेडशीट पर धब्बे बना सकते हैं जिन्हें धोना काफी मुश्किल होता है। इसलिए यदि आप सेक्स के दौरान वैसलीन को लुब्रीकेंट की तरह इस्तेमाल करने की सोच रहे हैं तो अपने कपड़ों व बेडशीट को बचाकर रखें।

तो फिर वैसलीन की जगह लिंग पर क्या इस्तेमाल करें?​

आजकल मार्केट में वाटर-बेस्ड या सिलिकॉन-बेस्ड पर्सनल लुब्रीकेंट उपलब्ध होते हैं जिन्हें सेक्स के दौरान लुब्रीकेंट में इस्तेमाल किया जा सकता है। यह खासतौर से योनि और गुदा के वातावरण को ध्यान में रखकर डिज़ाइन किये गए होते हैं। इसलिए इनसे इन्फेक्शन होने की संभावना न के बराबर होती है। साथ ही, इनसे सूजन और खुजली भी नहीं होती।

पर्सनल लुब्रीकेंट्स को संभोग के लिए अत्यधिक प्रभावी बनाया जाता है। यह पेट्रोलियम जेली की तरह ही चिकने और नरम होते हैं और सेक्स के दौरान घर्षण को बहुत कम कर देते हैं। आप इन प्रोडक्ट्स को मेडिकल स्टोर या जनरल स्टोर से ले सकते हैं।

वाटर-बेस्ड लुब्रीकेंट​

अमेरिका के फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेटर (FDA) के अनुसार कंडोम के फटने, लिंग या योनि जलन और इन्फेक्शन से बचने के लिए वाटर-बेस्ड लुब्रीकेंट काफी अच्छा विकल्प है।

कई वाटर-बेस्ड लुब्रीकेंट को आप ऑनलाइन या Flipkart पर खरीद सकते हैं।

FDA यह भी सलाह देता है कि लोगों को सेक्स में वैसलीन जैसे आयल-बेस्ड लुब्रीकेंट जिनमें आयल, फैट और ग्रीज होता है, का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए क्योंकि यह कंडोम को नुकसान पहुँचा सकते हैं।

वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाईजेशन (WHO) के अनुसार योनि संभोग के लिए 4.5 pH वाले वाटर-बेस्ड लुब्रीकेंट और गुदा संभोग के लिए 5.5 से 7 pH वाले लुब्रीकेंट का इस्तेमाल करना चाहिए।

2013 के रिव्यु लेख में, प्रारंभिक आंकड़ों से पता चलता है कि वाटर-बेस्ड लुब्रीकेंट आमतौर पर कंडोम के साथ उच्च अनुकूलता दिखाते हैं। हालाँकि, वो वाटर बेस्ड लुब्रीकेंट जिनमें पार्टिकल मैटर की अत्यधिक मात्रा होती है, वह गुदा की स्किन को डैमेज कर सकते हैं।

ग्लाइकोल-बेस्ड लुब्रीकेंट​

ग्लाइकोल एक humectant होता है, जो वाटर-बेस्ड लुब्रीकेंट के मॉइस्चर को बढ़ाने में मदद करता है। प्रोपलीन ग्लाइकोल कई वार्मिंग लुब्रीकेंट्स में मुख्य घटक होता है।

हालाँकि ग्लाइकोल-बेस्ड लुब्रीकेंट काफी जल्दी सूख जाते हैं और यीस्ट इन्फेक्शन को बढ़ावा दे सकते हैं।

सिलिकॉन-बेस्ड लुब्रीकेंट​

सिलिकॉन-बेस्ड लुब्रीकेंट आमतौर पर प्राकृतिक रबर और लेटेक्स कंडोम के साथ अनुकूल होते हैं। साथ ही, यह वाटर-बेस्ड लुब्रीकेंट की तुलना में अधिक समय तक चलते हैं।

इस लुब्रीकेंट को आप Flipkart भी खरीद सकते हैं।

हालाँकि, सिलिकॉन-बेस्ड लुब्रीकेंट अन्य लुब्रीकेंट्स की तुलना में अधिक महँगे होते हैं। इन्हें साफ करने में भी थोड़ी कठिनाई होती है।

एलोवेरा जेल​

एलोवेरा जेल एक पानी आधारित कंपाउंड होता है जिसे आप एलोवेरा के पौधे की पत्तियों से निकाल सकते हैं। एलोवेरा जेल में एंटीऑक्सिडेंट और ग्लाइकोप्रोटीन होते हैं जो लोगों के स्वास्थ्य को निम्न लाभ पहुंचाते हैं:

  • घावों को तेजी से भरने में मदद करते हैं
  • स्किन हाइड्रेशन को सुधारते हैं
  • एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीमाइक्रोबियल प्रभाव पैदा करते हैं
  • इम्यून एक्टिविटी को मजबूत बढ़ाते हैं
  • आंतों में पानी की मात्रा को बढ़ाते हैं

एलोवेरा जेल एक काफी अच्छा प्राकृतिक लुब्रीकेंट होता है। यहाँ तक कि कुछ लुब्रीकेंट बनाने वाली कंपनियाँ मुख्य घटक के रूप में एलोवेरा जेल का इस्तेमाल करते हैं।

सैद्धांतिक रूप से, एलोवेरा जेल में 100% वाटर कंटेंट होता है जो इसे लेटेक्स कंडोम के साथ उपयोग करने के लिए उपयुक्त बनाता है। लेकिन इस बात को साबित करने के लिए अभी पर्याप्त वैज्ञानिक शोध नहीं हो पाए हैं।

कुछ पर्सनल लुब्रीकेंट्स के अतिरिक्त गुण भी होते हैं, जैसे इनमें ऐसी कुछ सामग्री मिली होती है जो लिंग में झुनझुनी या सुन्नता पैदा करती हैं। इनका उपयोग करने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि आपको या आपकी पार्टनर को इनसे एलर्जी तो नहीं है। इसे चेक करने का सबसे अच्छा तरीका होता है थोड़े से ल्यूब को कोहनी के अंदर के भाग के ऊपर लगाना और फिर कुछ घंटे इंतजार करना। यदि आपको किसी भी प्रकार की जलन या सेंसिटिविटी देखने को नहीं मिलती है, तो आप सेक्स में भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

लुब्रीकेंट जिनसे बचना चाहिए​

कुछ घरेलू उत्पाद तकनीकी रूप से लुब्रीकेंट के रूप में कार्य कर सकते हैं। हालाँकि, इनमें से कई उत्पाद लेटेक्स कंडोम को काफी नुकसान पहुँचा सकते। हैं।

लोगों को निम्नलिखित घरेलू और प्राकृतिक उत्पादों को सेक्स लुब्रीकेंट के रूप में उपयोग करने से बचना चाहिए:

  • आयल जैसे बेबी आयल, कुकिंग आयल या प्लांट आयल।
  • डेरी प्रोडक्ट्स जैसे मक्खन या घी
  • कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स जैसे फेस या बॉडी क्रीम
  • मलहम
  • बवासीर क्रीम
  • पेट्रोलियम जेली

निष्कर्ष​

वैसलीन को लुब्रीकेंट के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। हालाँकि, इसे सेक्स के दौरान पर्सनल लुब्रीकेंट के रूप में इस्तेमाल करना अच्छा विकल्प नहीं होता। चूँकि यह सेक्स के दौरान घर्षण को कम कर सकता है, लेकिन यह बैक्टीरिया को भी आमंत्रित करता है जिससे इन्फेक्शन हो सकता है। इसे साफ करना भी काफी मुश्किल होता है और इससे कपड़ों में दाग-धब्बे लग सकते हैं।

इसलिए यदि हो सके तो सेक्स के दौरान वैसलीन का इस्तेमाल न करें। चूँकि यह फटे होंठों और स्किन के लिए अच्छी होती है, लेकिन योनि और गुदा के लिए नहीं होती। इसकी जगह, ऐसे लुब्रीकेंट को खोजें जिसे खासतौर से लिंग और सेक्स के लिए डिज़ाइन किया गया हो और यह सुनिक्षित करें कि इससे आपको या आपकी पार्टनर को कोई एलर्जी तो नहीं और क्या यह कंडोम के साथ इस्तेमाल करने के लिए सुरक्षित है।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.