लिंग पर नारियल का तेल लगाने के फायदे नुकसान

नारियल का तेल कई लोगों की रसोई का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होता है।

इसके कई हेल्थ, कॉस्मेटिक और स्किन के लाभ होने के कारण इसे रोजमर्रा के सौंदर्य उत्पाद के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है।

हालाँकि इसमें सैचुरेटेड फैट होने के कारण कई एक्सपर्ट इसका अत्यधिक इस्तेमाल करने से मना करते हैं।

लेकिन इसके मॉइस्चराइजिंग गुणों के कारण, नारियल के तेल ने लोगों के बैडरूम में भी अपनी जगह बना ली है।

कई लोग तो इसे सेक्स के दौरान चिकनाई के रूप में इस्तेमाल भी करते हैं।

यहाँ पर हम लिंग पर नारियल का तेल लगाने के फायदे, नुकसान, तरीके आदि सबके बारे में चर्चा करेंगे।

  1. क्या यह सुरक्षित है?
  2. फायदे
  3. नुकसान
  4. इस्तेमाल कैसे करें?
  5. निष्कर्ष

क्या नारियल तेल को लिंग पर उपयोग करना सुरक्षित है?

यदि आपका नारियल का तेल 100% ऑर्गेनिक है, तो इसे लिंग पर मॉइस्चराइजर की तरह लगाना पूरी तरह से सुरक्षित होता है।

यहाँ तक कि यह योनि के संवेदनशील ऊतकों के लिए भी सुरक्षित होता है।

हालांकि, प्रत्येक व्यक्ति का शरीर अलग-अलग पदार्थों के लिए अलग-अलग प्रतिक्रिया दे सकता है।

इसलिए यह ध्यान देना जरूरी है कि जब लिंग (या योनि) पर नारियल का तेल लगाया जाता है, तो आपका शरीर कैसी प्रतिक्रिया देता है।

नारियल के तेल को चिकनाई के रूप में उपयोग करते समय निम्न सावधानियाँ बरतनी चाहिए –

ऑर्गेनिक नारियल के तेल का ही उपयोग करें​

हमेशा बिना प्रोसेस किये गए ऑर्गनिक नारियल के तेल का ही उपयोग करें, जिसमें कोई आर्टिफीसियल खुशबु या अतिरिक्त पदार्थ न मिले हों।

नारियल का तेल खरीदते समय, आप unrefinedpreservative-free और partially hydrogenated जैसे लेबल देखेंगे।

हालाँकि यह लेबल सिर्फ कुकिंग के हिसाब से दिए होते हैं, फिर भी नारियल के तेल को जितना हो सके उतना शुद्ध रूप में खरीदना चाहिए।

जैसे साबुन और अन्य प्रकार के ल्यूब की तरह ही नारियल के तेल में मिले सेंट या अनावश्यक मिलावटें, लिंग और योनि में जलन पैदा कर सकती हैं।

सुनिश्चित करें कि आपको एलर्जी तो नहीं है।​

नारियल से एलर्जी होना काफी दुर्लभ है, लेकिन ऐसा होना संभव है।

नारियल की एलर्जी शायद ही कभी इन्फेक्शन का कारण होगी, लेकिन यह चकत्ते और छाले पैदा कर सकती है।

इसलिए यदि आप सबसे शुद्ध नारियल का तेल खरीदते हैं, तब भी इसके इस्तेमाल से पहले एलर्जी टेस्ट जरूर करें।

एलर्जी टेस्ट करने के लिए नारियल तेल की एक बूँद को अपनी कलाई पर डालें और देखें कि स्किन इससे कैसे रियेक्ट करती है।

यह टेस्ट पास हो जाने के बाद आपको अपने लिंग (और योनि) पर भी नारियल तेल का एलर्जी टेस्ट करना है। टेस्ट में तेल को स्किन पर कम से कम 24 घंटों तक लगा रहने दें।

अपनी स्किन की संवेदनशीलता का ध्यान रखें​

कई क्लीनिकल शोधों से यह पता चला है कि नारियल का तेल स्किन के लिए सुरक्षित होता है।

हालाँकि 2013 में हुए एक शोध ने नारियल के तेल को योनि में होने वाले कैंडिडा इंफेक्शन का कारण पाया है।

कैंडिडा एक फंगस होती है जो योनि में प्राकृतिक रूप से पाई जाती है, लेकिन इसके अत्यधिक उत्पादन से योनि में यीस्ट इन्फेक्शन हो सकता है।

इसलिए यदि आपकी पार्टनर की योनि में बार-बार यीस्ट इन्फेक्शन की समस्या आती है, तो अपने लिंग में नारियल का तेल लगाने से बचें।

लिंग पर नारियल का तेल लगाने के फायदे

हालाँकि कुछ हेल्थ एक्सपर्ट के बीच नारियल तेल के फायदों को लेकर कुछ असहमतियाँ हैं।

लेकिन फिर भी, यह तेल कई ब्यूटी प्रोडक्ट्स के विकल्प के रूप में काफी प्रचलित है।

इस तेल में MCT नामक सैचुरेटेड फैट पाया जाता है, जो स्किन के मेटाबोलिज्म को तेज करने में मदद करता है।

लिंग पर नारियल तेल लगाने के कुछ फायदे निम्न हैं –

1. यह नेचुरल है​

किसी भी केमिकल युक्त पदार्थ को लिंग पर लगाने के वजाय कोई प्राकृतिक उत्पाद जैसे नारियल का तेल लगाना एक अच्छा विकल्प होता है।

नारियल का तेल एक प्राकृतिक प्लांट आधारित लुब्रीकेंट होता है, जो आसानी से शुद्ध अवस्था में मिल सकता है।

2. यह काफी चिकना होता है​

नारियल का तेल एक प्राकृतिक उत्पाद होने के अलावा काफी ज्यादा चिकना होता, जो इसे लिंग की मालिश और सेक्स के लिए एक कारगर लुब्रीकेंट बनाता है।

नारियल तेल को एक मॉइस्चराइजर के रूप में इस्तेमाल करने पर यह सूखी स्किन के उपचार और स्किन की सूजन को कम करने के लिए फायदेमंद होता है।

इसलिए जिसे भी अपने लिंग (या पार्टनर की योनि) में अत्यधिक सेंसिटिविटी या सूखापन महसूस होता है, उन्हें नियमित रूप से नारियल का तेल लगाना चाहिए।

नुकसान

लिंग पर नारियल का तेल लगाने के कुछ नुकसान भी हो सकते हैं, जो निम्न हैं:

1. यह तेल है इसलिए कंडोम के साथ इस्तेमाल नहीं क्या जा सकता​

कंडोम और सेक्स टॉयज लेटेक्स पदार्थ से बने होते हैं जो तेल में घुलनशील होता है।

इसलिए लिंग पर नारियल का तेल लगाने से कंडोम फट सकता है और सेक्स टॉयज ख़राब हो सकते हैं।

एक शोध के अनुसार, मिनरल तेल कंडोम को 90% तक घोल सकते हैं।

इसलिए नारियल के तेल को कंडोम के साथ इस्तेमाल नहीं किया जा सकता।

लेकिन आप बिना कंडोम सेक्स और लिंग की मालिश में इसका इस्तेमाल जरूर कर सकते हैं।

2. इसकी एंटीबैक्टीरियल और एंटीमाइक्रोबियल प्रॉपर्टीज योनि के pH बैलेंस को बिगाड़ सकती हैं​

हालाँकि एंटीबैक्टीरियल और एंटीमाइक्रोबियल गुण अच्छे होते हैं, लेकिन योनि में कई बैक्टीरिया और फंगस प्राकृतिक रूप से पाए जाते हैं जो उसे स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।

लम्बे समय तक योनि में नारियल के तेल का इस्तेमाल करने से यह बैक्टीरिया कम हो सकते हैं, जिससे योनि का pH बैलेंस बिगड़ सकता है।

कोई भी पदार्थ कितना अम्लीय या क्षारीय है, इसके मापन को pH कहा जाता है।

स्वस्थ योनि का pH मध्यम अम्लीय (लो एसिडिक) होता है, लेकिन किसी बाहरी पदार्थ को योनि में डालने से प्रभावित हो सकता है, जिसमें लुब्रीकेंट भी शामिल है।

योनि का pH ज्यादा होने से बुरे बैक्टीरिया को विकसित होने का वातावरण मिल जाता है, जिससे योनि में इंफेक्शन होने की संभावना बढ़ जाती है।

आमतौर पर रुक-रुक कर नारियल तेल का उपयोग करना ठीक होता है, लेकिन यदि योनि में बार-बार यीस्ट इंफेक्शन की समस्या होती है, तो इसका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

आखिर में, यह याद रखें कि योनि के पास आने वाले सभी तरल पदार्थ (सिर्फ नारियल का तेल नहीं) संभावित रूप से इसके pH को प्रभावित कर सकते हैं।

3. इससे बेडशीट और कपड़ों पर दाग लग सकते हैं​

यदि कभी आपकी शर्ट पर कोई तेल का दाग लगा होगा तो जरूर आपको पता होगा कि इसे साफ करना कितना मुश्किल होता है।

खासतौर से तब जब यह दाग सूख जाता है।

नारियल का तेल भी आपकी बेडशीट और कपड़ों पर दाग लगा सकता है।

एक्सपर्ट्स के अनुसार रूम टेम्प्रेचर पर जम जाने वाले नारियल के तेल का इस्तेमाल करना चाहिए। इससे तरल तेल की तुलना में दाग लगने की संभावना कम होती है, लेकिन इससे भी दाग लग सकते हैं।

यदि आपको नारियल का तेल लगाकर सेक्स करना अच्छा लगता है, तो अपनी बेडशीट पर एक तौलिया या कंबल बिछा लें।

नारियल तेल को लुब्रीकेंट के रूप में कैसे उपयोग करें?

जैसे आप किसी अन्य लुब्रीकेंट का उपयोग करते हैं, उसी प्रकार नारियल के तेल का इस्तेमाल करें।

इसे योनि के प्रवेश द्वार के चारों ओर लगाएं ताकि लिंग आसानी से स्लाइड हो सके। यदि आप नारियल तेल से लिंग की मालिश कर रहे हैं अन्य लुब्रीकेंट की तरह ही इसे लिंग पर डालें और हाथ से फैलाकर मालिश करें।

बस इतना ध्यान रखें कि नारियल के तेल को स्किन बहुत जल्दी सोख लेती है, जिससे यह ज्यादा देर तक चिकनाई नहीं दे सकता। इसके फलस्वरूप सेक्स (या मालिश) में घर्षण, दर्द और टिश्यू डैमेज हो सकते हैं। इसलिए पूरे सेक्स (मालिश) के दौरान नारियल तेल को बार-बार लगाते रहें।

नारियल का तेल आसानी से किसी भी स्टोर या किराने की दुकान पर उपलब्ध होता है। बस इसका लेबल चेक करें ताकि आपको पता चल सके कि आप आर्गेनिक तेल ही खरीद रहे हैं।

यदि आपकी योनि या लिंग में अत्यधिक सूखापन रहता है और कोई भी लुब्रीकेंट आपकी मदद नहीं कर रहा है, तो नारियल का तेल या पानी से बने लुब्रीकेंट आपकी मदद कर सकते हैं। नारियल के तेल में बराबर मात्रा में एलोवेरा मिलाकर इस्तेमाल करना ज्यादा फायदेमंद होगा।

निष्कर्ष

आखिर में यही पता चलता है कि नारियल के तेल को लुब्रीकेंट या लिंग की मालिश करने से ज्यादा नुकसान नहीं होता।

लेकिन यदि आपको हस्तमैथुन या सेक्स के दौरान असहजता, गंध या डिस्चार्ज का अनुभव होता है, तो नारियल तेल का इस्तेमाल करना बंद कर दें और अपने डॉक्टर से चर्चा करें।

इसके बाद कोई अन्य लुब्रीकेंट का चुनाव करें, जो आपके लिए सबसे अच्छा हो।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.