लिंग मोटा लम्बा करने के 11 बेस्ट तरीके

लिंग का आकार एक व्यक्ति की सेक्स लाइफ और आत्मविश्वास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

इसलिए कई लोग अपने लिंग के आकार को लेकर चिंतित रहते हैं और सोचते रहते हैं कि कैसे उनका लिंग मोटा लम्बा हो।

हालाँकि ज्यादातर पुरुष सेक्स में अपनी पार्टनर को संतुष्ट करने के मामले में अपनेआप को कम आंकते हैं, और अपनी सेक्स क्षमता और लिंग के आकार को बढ़ाने के तरीकों को खोजते रहते हैं।

कई शोधों के जरिये पाए गए लिंग से सम्बंधित कुछ तथ्य निम्न हैं:

  • पुरुष के खड़े लिंग की औसत लंबाई 12 से 16 सेंटीमीटर (4.7 इंच) होती है
  • खड़े लिंग की औसत मोटाई 8.9 से 9.9 सेंटीमीटर ( 3.50 से 3.90 इंच) होती है
  • कई शोधों के अनुसार बैठे हुए लिंग की औसत लम्बाई 7 से 10 सेंटीमीटर (2.8 से 3.9 इंच) होती है

हालाँकि हर एक व्यक्ति के लिंग की वनावट अलग-अलग होती है।

कुछ का लिंग शोवर होता है तो कुछ का ग्रोवर

शोवर लिंग उसे कहते हैं, जो बैठी और खड़ी हुई अवस्था में लगभग एक जैसी साइज का होता है और थोड़ा-बहुत ही बढ़ता है।

ग्रोवर लिंग उसे कहते हैं, जो बैठी हुई अवस्था में तो बहुत छोटा होता है, लेकिन खड़ा होने पर काफी लम्बा मोटा हो जाता है।

ऐसे ही लिंग के सभी प्रकारों के बारे में समझने के लिए हमारी यह पोस्ट पढ़ें –  लिंग के प्रकार

आसानी से समझने के लिए, हमने लिंग मोटा लम्बे करने के तरीकों पर एक वीडियो ट्यूटोरियल बनाया है, जिसे आप नीचे देख सकते हैं –

लिंग मोटा लम्बा करने के 11 बेस्ट तरीके

हालाँकि, यदि आप केवल पाठ-निर्देशों का पालन करना चाहते हैं, तो नीचे पढ़ते रहिये।

अच्छी खबर यह है, कि कुछ तरीके मौजूद हैं, जिनकी मदद से आप लिंग को लम्बा मोटा और कठोर बना सकते हैं।

इन सभी तरीकों की जानकारी हमने नीचे दी है:

  1. पेनिस पंप
  2. जेलकिंग एक्सरसाइज
  3. पेल्विक मसल्स की एक्सरसाइज
  4. मोटापा कम करें
  5. मेडिकल दवाएँ
  6. प्राकृतिक दवाएं
  7. स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का समाधान करें
  8. जीवनशैली में बदलाव
  9. खाद्य पदार्थ
  10. विटामिन्स
  11. सर्जरी

पेनिस पंप

पेनिस पंप

लिंग का आकार बढ़ाने के सबसे लोकप्रिय तरीकों में से एक है, इसे अपने हाथों या किसी उपकरण के माध्यम से स्ट्रेच करना।

हाथ से लिंग की स्ट्रेचिंग में, आपको अपने लिंग के ऊतकों की मालिश भी करना होता है।

स्ट्रेचिंग का मुख्य उद्देश्य होता है, लिंग के छोटे-छोटे ऊतकों को फाड़ देना, ताकि जब वो रिपेयर हों तो पहले से ज्यादा की मात्रा में बनें और लिंग की लम्बाई बढ़ने लगे।

यही प्रक्रिया बॉडी-बिल्डिंग में होती है। जब हम जिम में एक्सरसाइज करते हैं, तो हमारी मांशपेशियों के छोटे-छोटे ऊतक फट जाते हैं और जब वह रिपेयर होते हैं, तो मांसपेशियाँ पहले से ज्यादा बड़ी हो जाती हैं।

इस स्ट्रेचिंग को ज्यादा कारगर बनाने के लिए, पेनिस पंप का उपयोग किया जाता है।

यह एक लिंग वर्धक यंत्र होता है, जो लिंग पर वैक्यूम बनाकर उसके ऊतकों को फैलाने में मदद करता है।

इसके अलावा, पेनिस पंप जो वैक्यूम पैदा करता है, उसके कारण लिंग में काफी ज्यादा ब्लड भर जाता है और वह अस्थाई रूप से लम्बा-मोटा हो जाता है।

कुछ पुरुषों का यह दावा है कि पेनिस पंप का नियमित इस्तेमाल करने से, लिंग को स्थाई रूप से बड़ा किया जा सकता है।

ध्यान रखें: पेनिस पंप को एक बार में 30 मिनट से ज्यादा न लगाए रखें, क्योंकि ऐसा करने से आपके लिंग के ऊतकों को नुकसान पहुँच सकता है।

लिंग बड़ा करने के लिए कुछ ट्रैक्शन डिवाइस भी काफी लोकप्रिय हैं, जो पेनिस पंप से थोड़े अलग होते हैं।

इसे बैठे लिंग पर लगाकर घंटों तक पहने रखना पड़ता है और यह लिंग को स्ट्रेच करता रहता है।

पेनिस एक्सटेंडर

उचित फायदा लेने के लिए ट्रैक्शन डिवाइस को लगातार 6 महीनों तक रोज 4 से 9 घंटे लिंग पर लगाए रखना पड़ता है।

ध्यान रखें –

उपकरणों का उपयोग अत्यधिक मात्रा में या कठोरता से न करें।

इनन्के कारण आपके लिंग को चोट भी पहुँच सकती है और उसके परमानेंट टिश्यू डैमेज हो सकते हैं।

साथ ही, इनका उपयोग करने से पहले डॉक्टर से सलाह-मशविरा जरूर कर लें, क्योंकि कुछ लोगों पर इन उपकरणों का विपरीत प्रभाव भी पड़ सकता है।

जेलकिंग एक्सरसाइज

जेलकिंग एक्सरसाइज लिंग पर मालिश करने जैसी ही होती है, लेकिन इसमें लिंग पर थोड़ा ज्यादा दबाव डालना होता है।

इस तकनीक का अविष्कार प्राचीन अरबी सभ्यता में हुआ था।

आजकल, ज्यादातर एक्सपर्ट्स इस एक्सरसाइज को करने से पहले, किसी लुब्रीकेंट (या तेल) का उपयोग करते हुए लिंग को खड़ा कर लेने की सलाह देते हैं।

फिर हाथ के अंगूठे और तर्जनी ऊँगली को लिंग के आधार पर रखकर “OK ग्रिप” बनाना होता है और धीरे-धीरे दबाव डालते हुए इस ग्रिप को आगे की तरफ स्लाइड करना होता है।

ऐसा करने से लिंग के ऊतकों में ब्लड भरने लगता है और उनमें मौजूद सभी रुकावटें साफ हो जाती हैं।

ऐसा माना जाता है, कि इसको नियमित रूप से करने से लिंग की लम्बाई और मोटाई में बढ़ोतरी होती है।

लेकिन कुछ लोगों का दावा है, कि इसे दो हफ़्तों तक रोज करने पर भी लिंग की साइज में कोई अंतर नहीं आया।

हालाँकि, यदि इस एक्सरसाइज को सही तरीके से किया जाए, तो लिंग मोटा लम्बा करने के अलावा इसके अन्य लाभकारी प्रभाव भी हो सकते हैं।

जैसे इससे लिंग की नसों में मौजूद कोई भी रूकावट ख़त्म हो जाती है, जिससे उसमें ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है।

साथ ही, यह पुरुषों के लिए अपने इरेक्शन को समझने और खुद के प्रति ज्यादा आरामदायक महसूस करने का एक अच्छा तरीका हो सकता है, जिससे उनकी अपने लिंग की साइज को लेकर चिंता कम होगी।

पेल्विक मसल्स की एक्सरसाइज करें

लिंग को तेजी से मोटा लंबा करने के लिए, आप पेल्विक एरिया की मसल्स को स्ट्रेच करने वाली एक्सरसाइज भी कर सकते हैं।

इसे केगेल एक्सर्साइज़ कहा जाता है।

पेल्विक मसल्स लिंग के पिछले हिस्से में मौजूद होती हैं, जिनका मुख्य काम पेशाब को रोकना होता है।

साथ ही, उत्तेजना के समय यह रक्त को लिंग में रोके रखने में और वीर्य को जल्दी गिरने से रोकने में मदद करती हैं।

इसलिए पेल्विक मसल्स को मजबूत बनाकर, आप अपने लिंग में ज्यादा समय तक रक्त को रोके रख सकते हैं। इससे लम्बे समय तक सेक्स करने में भी मदद मिलती है।

पेल्विक फ्लोर मसल्स

केगल एक्सरसाइज करने का तरीका नीचे दिया जा रहा है –

  • सबसे पहले आपको अपनी पेल्विक मसल्स का पता लगाना जरूरी है। इसका पता लगाने का सबसे आसान तरीका है – जब आपको तेज पेशाब लगे तो इसे रोके रखने की कोशिश करें, और जिन माँसपेशियों के जरिये आप इसे रोकते हैं उनका अनुभव करें। यही आपकी पेल्विक माँसपेशियाँ है। अधिकतर लोग इस तरीके से अपनी पेल्विक मसल्स को ढूंढ लेते हैं।
  • अब एक जगह बैठ जाएँ या सीधे लेट जाएँ। फिर अपनी पेल्विक माँसपेशियों को कसकर सिकोड़े (कॉन्ट्रैक्ट करें) और 5 सेकंड के लिए होल्ड करें। फिर इन्हें ढीला छोड़ दें और दोबारा कॉन्ट्रैक्ट करके 5 सेकंड के लिए होल्ड करें। ऐसा एक बार में कम से कम 10-15 बार करें। इस एक्सरसाइज को नियमित रूप से रोज करें।

चूंकि यह एक्सरसाइज करने में बहुत आसान होती है। लेकिन इसका पूरा फायदा नजर आने में 2-3 महीने लग सकते हैं।

शुरुआत में थोड़ा-थोड़ा फायदा नजर आयेगा, लेकिन यह काफी छोटा होगा, इसलिए आपको इसे नियमित करना जरूरी है।

इस एक्सरसाइज को आप बिना अन्य लोगों की नजर में आये कभी भी कर सकते हैं, क्योंकि इसमें सिर्फ आपको अपनी माँसपेशियों को सिकोड़ना ही तो है। जैसे यदि आप ऑफिस में काम करते हुए बैठे-बैठे इसे कर सकते हैं।

लिंग बढ़ाने की सभी साइंटिफिक एक्सरसाइज की जानकारी हमने इस लेख में दी है – लिंग बड़ा करने की एक्सरसाइज

मोटापा कम करें

मोटापा

प्रत्येक 14 से 25 किलो अतिरिक्त वजन के साथ, लिंग एक इंच छोटा दिखाई देने लगता है।

हालाँकि, इसका लिंग की वास्तविक साइज से कोई लेना देना नहीं होता।

लेकिन बड़े पेट के कारण, जब आप अपने लिंग को ऊपर से देखते हैं, तो वह छोटा दिखाई देता है, जिससे आपका आत्मविश्वास कम होता है।

साथ ही, अतिरिक्त चर्बी के कारण, सेक्स करते समय लिंग योनि के पूरा अंदर नहीं जा पाता, क्योंकि आपका बड़ा पेट और लिंग के आसपास की चर्बी इसके बीच में आ जाती है।

यदि आपको भी यह समस्या है तो हमारा “मोटे लोगों के लिए बेस्ट सेक्स पोजीशन” लेख पढ़ें।

मोटापे में सिर्फ लिंग छोटा दिखाई नहीं देता, बल्कि आपको कुछ अन्य समस्याएँ भी हो सकती हैं, जो आपके लिंग की साइज को वास्तव में छोटा कर सकती हैं:

  • खुद पर विश्वास कम हो जाना: मोटापा होने से आत्मविश्वास कम हो जाने की संभावना होती है, जो पुरुषों को खुद को (और उनके लिंग को) देखने के नजरिये को नकारात्मक बना सकती है। साथ ही, चिंता और डिप्रेशन बढ़ने से, व्यक्ति के सेक्स परफॉरमेंस पर भी बुरा असर पड़ता है। और यदि उसकी पार्टनर सेक्स में संतुष्ट न हो पाए, तो व्यक्ति को ऐसा लगने लगता है, कि यह उसके छोटे लिंग के कारण हुआ है।
  • सेक्स पावर में कमी आना: यह तो एक साबित हो चुका तथ्य है, कि मोटापे के कारण व्यक्ति के समग्र स्वास्थ्य में कमी आती है। कार्डिओ-वैस्कुलर सिस्टम पर अतिरिक्त भार पड़ने के कारण, इसके कामकाज में कमी आती है और पुरुषों को सेक्स करने के लिए जरूरी समय से पहले ही वह थक जाते हैं।
  • स्किन में समस्याएं आना: मोटापे के कारण स्किन में सिलवटें पड़ने लगती हैं और उसके बीच जमा हुए हुए पसीने और मैल को साफ करना काफी मुश्किल हो जाता है। यदि लिंग की स्किन में यह सिलवटें पड़ जाएँ, तो इसके कारण उसमें छाले, खुजली, लालिमा, इन्फेक्शन आदि पैदा हो सकते हैं।
  • उत्तेजना में कमी आना: लिंग के सिरे में उत्तेजना पैदा करने वाले 4000 से ज्यादा तंत्रिका बिंदु होते हैं। जब अतिरिक्त फैट इनमें से कुछ बिंदुओं को ढक देता है, तो उत्तेजना और सेक्स के मजे में कमी आने लगती है।
  • सर्कुलेशन की समस्याएं: मोटापे के कारण रक्त वाहिकाओं में अतिरिक्त फैट जमा होने लगता है, जिससे ब्लड सर्कुलेशन में रुकावटें पैदा होने लगती हैं। इसके फलस्वरूप लिंग के ब्लड फ्लो में भी कमी आ सकती है और आपको लिंग में ढीलापनसेक्स परफॉरमेंस में कमी और वीर्य जल्दी गिरने की समस्या झेलनी पड़ सकती हैं।

इसके अलावा, लिंग के आसपास के बालों को शेव करने से भी वह ज्यादा लम्बा दिखाई देता है।

हालाँकि इससे आपके लिंग की वास्तविक साइज और परफॉरमेंस पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता, लेकिन इसे शेव करने के बाद लिंग ज्यादा खुला-खुला अनुभव होता है।

मेडिकल दवाएँ

20 वर्ष से अधिक उम्र के लगभग 18.4% लोग, अपने जीवन में कभी न कभी इरेक्टाइल डिसफंक्शन का अनुभव करते हैं।

इसके कारण लिंग में ढीलापन और नसों में कमजोरी हो जाती है और वह उत्तेजना के समय अपनी नार्मल साइज से छोटा रह जाता है।

हालाँकि यह जरूरी नहीं कि इरेक्टाइल डिसफंक्शन (ईडी) किसी मेडिकल प्रॉब्लम के कारण हो, क्योंकि ईडी के कई कारण हो सकते हैं।

लेकिन, यदि आपको बार-बार यह समस्या होती है, तो आप कुछ दवाओं का सेवन कर सकते हैं।

इसके लिए दो सबसे लोकप्रिय दवाओं के नाम हैं: वियाग्रा (Viagra) और सियैलिस (Cialis)।

यहदोनों दवाएं पुरुषों को कठोर और लंबे समय तक चलने वाले इरेक्शन में मदद करने लिए काफी प्रचलित हैं।

इन दोनों के बीच मुख्य अंतर यह है, कि यह कितनी तेजी से काम करना शुरू कर देती हैं और सिस्टम में कितने समय तक रहती हैं।

हर व्यक्ति का शरीर अलग-अलग दवाओं के प्रति अलग-अलग प्रतिक्रियाएं देता है, और इसकी प्रभावशीलता इसके साथ ग्रहण किये गए भोजन के प्रकार पर भी निर्भर कर सकती है।

उदाहरण के लिए, यदि दवा खाने से पहले, आप ज्यादा फैट वाला भोजन खाते हैं, तो पेट में दवा देर से अवशोषित होगी।

आम तौर पर, वियाग्रा तेजी से काम करता है और इसे लेने के एक घंटे बाद ही लिंग खड़ा होने लगता है।

जबकि सियैलिस को थोड़ा अधिक समय लगता है। इसे लेने के लगभग दो घंटे बाद लिंग में असर दिखाई देता है।

लेकिन सियैलिस का असर लगभग 36 घंटों तक रहता है, जबकि वियाग्रा का असर सिर्फ 5 घंटों में ही ख़त्म हो जाता है।

साथ ही, आपके लिए कौनसी दवा बेहतर है, यह इस बात पर भी निर्भर करता है, कि आपपर इन दवाओं के कैसे साइड इफेक्ट्स होते हैं।

यदि आप इनमें से किसी भी दवा के कारण अत्यधिक साइड इफेक्ट्स अनुभव करते हैं, तो उसका सेवन न करना ही बेहतर होगा।

हालाँकि इन दोनों दवाओं के लगभग एक जैसे साइड इफेक्ट्स होते हैं, लेकिन फिर भी इनका सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लेना उचित होता है।

इन दोनों दवाओं से होने वाले कुछ साइड इफेक्ट्स निम्न हैं:

  • बहुत ज्यादा देर तक वीर्य स्खलित न होना
  • चेहरे, गर्दन और छाती में लालिमा या गर्माहट पैदा होना
  • सिरदर्द
  • पेट में दर्द
  • जुकाम जैसे लक्षण दिखाई देना, जैसे नाक बहना, गले में खराश होना और छींक आना
  • रंग दृष्टि में बदलाव आना, जैसे कि हरे और नीले रंग के बीच अंतर करने में असमर्थ होना
  • सिर चकराना
  • जी मचलना
  • ब्लड प्रेशर लो होना
  • कम सुनाई देना और कानों में घंटी देना

यदि आपको यह साइड इफ़ेक्ट बहुत ज्यादा दिखाई दें, तो इन दवाओं के सेवन से बचें।

प्राकृतिक दवाएँ

कुछ प्राकृतिक दवाओं के नियमित सेवन से लिंग में ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाया जा सकता है, जिससे उत्तेजना के समय वह पूरा खड़ा हो सकता है।

तो चलिए जानते हैं लिंग को बड़ा करने में मदद करने वाली प्राकृतिक दवाओं के बारे में –

गोखरू​

गोखरू

गोखरू गर्म क्षेत्रों में पाई जाने वाली औषधि होती है, इसलिए यह भारत में भी पाई जाती है। पुराने समय से ही आयुर्वेद में इस औषधि का काफी इस्तेमाल होता आ रहा है।

यह औषधि शरीर को मजबूती देती है और कमजोरी दूर करने में मदद करती है।

साथ ही, यह पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन के लेवल को बढ़ाने में भी मदद करती है जिससे लिंग को पूरी तरह से खड़ा होने में मदद मिलती है।

जिनसेंग​

जिनसेंग

जिनसेंग कोरिया और साइबेरिया में पाया जाने वाला पौधा होता है।

इसके ऊपर बहुत सारे शोध हुए हैं, जिनमें इसे नामर्दी को दूर करने और लिंग को अपनी क्षमता अनुसार पूरा बड़ा करने में भी फायदेमंद पाया गया है।

इसमें पाए जाने वाले पदार्थ, शरीर की नसों को साफ करते हैं, चौड़ा करते हैं और ब्लॉक हुई नसों को खोलने में मदद करते हैं।

इसके फलस्वरूप, शरीर में रक्त संचार ठीक से होता है और हर एक अंग को पर्याप्त मात्रा में रक्त मिलता है।

लिंग को पर्याप्त रक्त मिलने पर वह अपनी क्षमता अनुसार पूरा खड़ा होता है और सेक्स का पूर्ण आनंद मिलता है।

जिनसेंग बाजार में पाउडर या टेबलेट के रूप में उपलब्ध होता है।

इसको रोज दिन में तीन बार 600 से 1,000 मिग्रा में सेवन करना चाहिए।

ध्यान रखें – यदि आप किसी अन्य मेडिकल दवा का सेवन कर रहे हैं, तो जिनसेंग का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

जिन्को बाइलोबा (Gingko Biloba)​

जिन्को बाइलोबा

जिन्को बाइलोबा को मुख्य रूप से दिमाग तेज करने और याददाश्त बढ़ाने में फायदेमंद माना जाता है।

साथ ही, यह लिंग में रक्त संचार को बढ़ाने में भी मदद करता है। इसलिए यह लिंग बढ़ाने वाली दवाओं में काफी इस्तेमाल होता है।

कई शोधों से यह बात सामने आई है, कि जिन्को बाइलोबा सेक्स क्रिया में बाधा बनने वाले तनाव और अवसाद को कम करने में भी मदद करता है।

जिन्को बाइलोबा बाजार में पाउडर या टेबलेट्स के रूप में आसानी से उपलब्ध होता है।

लेकिन इन्हें खरीदने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि यह किसी प्रतिष्ठित और भरोसेमंद कंपनी के द्वारा ही बनाया गया हो और लोगों के अच्छे रिव्यु हों।

नोट – जिन्को बाइलोबा के शरीर पर कुछ दुष्प्रभाव या साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं। इसलिए इसका नियमित सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लें।

माका सप्लीमेंट (Maca supplement)​

माका सप्लीमेंट

फर्टिलिटी और सेक्स ड्राइव बढ़ाने के लिए सदियों से माका का उपयोग किया जाता आ रहा है। और इसे साबित करने के लिए शोध भी हुए हैं।

2002 में हुए एक शोध के अनुसार, माका पुरुषों में यौन इच्छा बढ़ाने में मदद करता है।

वहीं 2008 के एक शोध में माका, रजोनिवृत्ति महिलाओं में सेक्स समस्याओं को दूर करता है।

2001 में हुए एक शोध के अनुसार लगातार 4 महीनों तक रोज माका का सेवन करने से वीर्य के उत्पादन में बढ़ोतरी पाई गई।

इसीलिए सेक्स इच्छा में कमी से परेशान लोग इसे काफी इस्तेमाल करते हैं।

यह सभी फायदे लिंग को पूरा उत्तेजित करने में मदद करेंगे और उसे पूरा खड़ा करने में मदद मिलेगी।

माका सप्लीमेंट किसी भी मेडिकल स्टोर पर या ऑनलाइन आसानी से उपलब्ध होते हैं।

एल-आर्जिनाइन (L-arginine)​

एल-आर्गिनन

एल-आर्जिनाइन एक प्रकार का अल्फा-एमिनो एसिड होता है, जो शरीर में नाइट्रिक ऑक्साइड की मात्रा को बढ़ा देता है।

इसके फलस्वरूप लिंग तक रक्त पहुंचाने वाली रक्त वाहिकाओं को आराम मिलता है और व चौड़ी हो जाती हैं।

इसलिए डॉक्टर्स अक्सर नामर्दी और शीघ्रपतन से पीड़ित व्यक्तिओं को एल-आर्जिनाइन का सेवन करने की सलाह देते हैं।

इसका सेवन दिन में तीन बार एक-एक ग्राम (1000 मिलीग्राम) मात्रा में करना चाहिए।

इसका नियमित सेवन करने से शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने में भी मदद मिलती है। इसलिए जिन दम्पति को बच्चा नहीं हो रहा वह भी इसका सेवन कर सकते हैं।

इसका सेवन पुरुष और महिलायें, दोनों कर सकते हैं। यह दोनों की फर्टिलिटी को बढ़ाने में मदद करता है।

नोट – यदि आप ह्रदय रोग की मेडिसिन्स लेते हैं, तो इसका सेवन न करें।

DHEA सप्लीमेंट​

DHEA सप्लीमेंट

DHEA एक प्राकृतिक हॉर्मोन होता है, जिसे एड्रेनल ग्लैंड उत्पादित करती है।

इरेक्टाइल डिसफंक्शन और लिंग पूरा खड़ा न होने से ग्रसित पुरुषों में अक्सर इसकी कमी देखी जाती है।

40 पुरुषों पर हुए एक छोटे से शोध में, आधे लोगों को DHEA के सप्लीमेंट दिए गए और आधे को प्लेसिबो दवा (नकली बेअसर दवा) दी गई।

DHEA के सप्लीमेंट्स लेने वाले पुरुषों ने अपने लिंग को खड़ा करने और लम्बे समय तक खड़ा बनाये रखने की सम्भावना में बढ़ोतरी दर्ज की।

DHEA को उन पुरुषों के इरेक्टाइल डिसफंक्शन के एक अच्छे उपचार के रूप में पाया गया है, जिन्हें डायबिटीज है। लेकिन इसके दुष्प्रभावों और सुरक्षा पर अभी और शोध किया जा रहा है।

यदि आपमें भी DHEA की कमी है, तो अपने डॉक्टर से सलाह लेकर इसके सप्लीमेंट्स लें।

स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का समाधान करें

कुछ स्वास्थ्य समस्याओं के कारण भी लिंग छोटा हो सकता है। इसलिए इन समस्याओं का उचित इलाज करवाना भी जरूरी है।

पता करें कि आपको निम्न से कोई स्वास्थ्य समस्या तो नहीं है:

  • दिल की बीमारी
  • हाई कोलेस्ट्रॉल
  • हाई ब्लड प्रेशर
  • डायबिटीज
  • मोटापा
  • नींद संबंधी समस्या
  • कुछ मनोवैज्ञानिक कारक भी हैं, जो सेक्स इच्छा में कमी ला सकते हैं और लिंग को पूरा खड़ा होने से रोक सकते हैं, जैसे डिप्रेशन, तनाव और रिश्तों की समस्याएं।
  • तम्बाकू के उपयोग से रक्त वाहिकायें सिकुड़ सकती हैं, इसलिए स्मोकिंग और गुटखा खाने को छोड़कर आप अपने लिंग को बड़ा बना सकते हैं।

यदि आपको ऊपर दी गई कोई भी मेडिकल या मनवैज्ञानिक समस्या है, तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

कभी-कभी आपको दो या दो से अधिक समस्याएं एक साथ हो सकती हैं, शायद जिनके बारे में आपको पहले से पता न हो और आप लिंग बड़ा करने के अन्य तरीकों को अपना रहे हों।

जबतक कि आप इन समस्याओं से पूरी तरह से छुटकारा नहीं पा लेते, तब तक आप कुछ भी कर लें लेकिन आपका लिंग बड़ा नहीं होगा।

इसलिए जल्द से जल्द डॉक्टर के पास जाकर अपना फुल बॉडी चेकअप करवाएं।

जीवनशैली में बदलाव

आप अपने खानपान, दिनचर्या और जीवनशैली में बदलाव लाकर भी अपना लिंग बड़ा कर सकते हैं।

जैसा कि हमने ऊपर बताया था, कि लिंग के छोटा होने का सबसे मुख्य कारण होता है, अनियमित खानपान, आलस्यपूर्ण दिनचर्या और अस्वस्थ जीवनशैली।

इसलिए यदि आप स्थायी रूप से लिंग बड़ा करना चाहते हैं, तो अपनी जीवनशैली में कुछ सुधार लाएँ।

अपनी जीवनशैली सुधारने के लिए आप निम्न उपाय कर सकते हैं।

धूम्रपान छोड़ दें​

धूम्रपान छोड़ दें

हर व्यक्ति के लिंग का साइज पूरी तरह से उसके रक्त संचार पर निर्भर करता है।

लिंग एक रक्त का गुच्छा होता है और उत्तेजना के समय इसमें जितना रक्त पहुँचता है वह उतना ही बड़ा होता है।

नियमित धूम्रपान करने से रक्त वाहिकाएं (नसें और धमनियां) सिकुड़ने लगती हैं, जिससे उत्तेजना के समय लिंग तक पर्याप्त रक्त नहीं पहुँच पाता और वह अपनी क्षमता के अनुसार पूरा खड़ा नहीं हो पाता।

साथ ही, धूम्रपान करने से फेफड़ों के छिद्र ब्लॉक होने लगते हैं, जिससे रक्त को पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं मिल पाती।

रक्त को पर्याप्त ऑक्सीजन न मिलने के कारण, वह अंगों तक इसे पर्याप्त मात्रा में नहीं पहुँचा पाता। इससे अंगों की कार्य क्षमता पर काफी बुरा असर पड़ता है।

नियमित रूप से एक्सरसाइज और योग करें​

नियमित रूप से एक्सरसाइज और योग करें​

नियमित रूप से एक्सरसाइज और योग करने से भी ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है।

इसलिए रोज कम से कम एक घंटा एक्सरसाइज और योग करें।

पढ़े – लिंग बढ़ा करने का योग

इसके लिए आप स्विमिंग (तैराकी), रनिंग, जॉगिंग, सैर, साइकिलिंग, आउटडोर स्पोर्ट्स, जिम आदि भी कर सकते हैं। यह सभी एक्सरसाइज आपके ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाने में मदद करेंगी।

हाई कैलोरी फूड्स न खाएं​

हाई कैलोरी फूड्स न खाएं​

ज्यादा कैलोरी और फैट युक्त भोजन का सेवन करने से, दिल की बीमारी होने का खतरा रहता है।

शरीर के प्रत्येक अंग तक पर्याप्त ऑक्सीजन पहुँचाने के लिए, दिल का स्वस्थ रहना भी जरूरी है, क्योंकि यही प्रेशर के जरिये रक्त को संचारित करता है।

अधिक आयल युक्त पदार्थों का सेवन करने से, रक्त में कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ जाता है।

यह अतिरिक्त कोलेस्ट्रॉल, ब्लड वेसल्स में जमा होने लगता है और ब्लड सर्कुलेशन में बाधा पैदा करने लगता है।

इसलिए यदि लिंग बड़ा करना हैं, तो अत्यधिक ऑयली और तले भुने भोजन से परहेज करें।

तनाव और टेंशन को कम करें​

तनाव और टेंशन को कम करें​

डॉक्टर्स के अनुसार, अत्यधिक तनाव में रहने से सेक्स इच्छा में कमी आती है, जिसके कारण लिंग भी अपनी क्षमता के मुताबित खड़ा नहीं हो पाता।

तनाव पर हुई एक रिसर्च के अनुसार, तनाव लेने के दौरान व्यक्ति का किसी भी कामकाज में मन नहीं लगता।

और यदि इस पर समय रहते काबू न पाया जाये, तो यह डिप्रेशन का कारण बन सकता है।

एक बार यदि व्यक्ति को डिप्रेशन हो जाये, तो उसके स्वभाव में काफी बुरा बदलाव आ सकता है और वह अपने प्रत्येक काम को बिना सोचे समझे करने लगता है।

डिप्रेशन से पीड़ित व्यक्ति अपने साथी को भी पूरी तरह से संतुष्ट नहीं कर पाता और उनके रिश्तों में दरार आने लगती है।

तनाव के कारण शरीर पर फिजिकली भी काफी बुरा असर पड़ता है।

इसके कारण आपको लम्बे समय तक दिल और रक्त की समस्यायें हो सकती हैं।

तनाव लेने के दौरान व्यक्ति के दिल की धड़कन तेज हो जाती है और शरीर में स्ट्रेस हॉर्मोन का स्तर और ब्लड प्रेशर बढ़ने लगता है।

यह सभी लिंग को छोटा करने के कारण बन सकते हैं।

साथ ही, तनाव के दौरान हमारे शरीर में कोर्टिसोल नामक हॉर्मोन का स्तर भी बढ़ जाता है।

कोर्टिसोल एक रेगुलेटरी हॉर्मोन होता है, जो हमारे शरीर के ब्लड शुगर लेवल, मेटाबोलिज्म और मेमोरी फार्मेशन को कंट्रोल करने में मदद करता है।

लेकिन हमारे शरीर को इसकी बहुत कम मात्रा की जरूरत होती है और यदि इसका स्तर काफी बढ़ जाये तो इसका शरीर पर उल्टा असर होने लगता है।

इस हॉर्मोन का स्तर बढ़ने पर शरीर में शुगर का स्तर बढ़ने लगता है, कामोत्तेजना कम होने लगती है, चेहरे पेट गर्दन पर चर्बी जमा होने लगती है और टाइप-2 डायबिटीज और मेटाबोलिक सिंड्रोम होने का खतरा काफी बढ़ जाता है।

इसलिए अपनी सेक्स लाइफ को बेहतर बनाने के लिए और अपने लिंग को बड़ा करने के लिए अपने तनाव पर काबू पायें।

खाद्य पदार्थ

कुछ खाद्य पदार्थों का नियमित सेवन करने से भी लिंग बड़ा करना आसान हो जाता है।

इसलिए जब भी आप बाजार जायें तो इन खाद्य पदार्थों को लेना न भूलें।

इन पदार्थों में ऐसे तत्व पाए जाते हैं, तो लिंग की उत्तेजना और साइज बढ़ाने में मदद करते हैं।

तो चलिए जानते हैं इन पदार्थों के बारे में –

केला​

केला दिल को स्वस्थ रखने में मदद करता है। और यह एक जाना-माना तथ्य है कि स्वस्थ दिल वाले पुरुष अपने लिंग को कुछ इंच तक ज्यादा बड़ा सकते हैं।

साथ ही केला में अत्यधिक मात्रा में पोटैशियम होता है, जो इसे रक्त संचार बढ़ाने के लिए एक अच्छा खाद्य पदार्थ बनाता है।

यह शरीर में सोडियम के स्तर को भी कंट्रोल में रखता है और हाई ब्लड प्रेशर की संभावना को कम करता है।

इसलिए इसे लिंग बढ़ाने में सबसे कारगर खाद्य पदार्थ माना जाता है।

प्याज​

प्याज सबसे अच्छी कामोत्तेजक खाद्य पदार्थों में से एक है।

यह कामेच्छा बढ़ाने में मदद करती है और प्रजनन अंगों (जिनमें लिंग भी शामिल है) को मजबूत करती है।

कई शोधों से यह साबित हुआ है, कि प्याज शरीर के प्रत्येक अंग से हार्ट तक रक्त संचार को बढ़ाने में मदद करती है।

साथ ही, प्याज का नियमित सेवन करने से, नसों में ब्लड क्लोटिंग नहीं होती और रक्त आसानी से फ्लो करता रहता है।

रक्त संचार ठीक रहने से लिंग तक प्रचुर मात्रा में रक्त पहुँचता है और वह उत्तेजना के समय ज्यादा मोटा लम्बा होता है।

लेकिन, कभी भी प्याज को सेक्स के पहले न खायें, क्योंकि इसे खाने के बाद मुँह में बदलू आ सकती है।

सैल्मन मछली​

यह सुपर सीफूड दिल के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद ओमेगा -3 फैटी एसिड्स से भरा होता है, जो आपके शरीर में ब्लड सर्कुलेशन को ठीक रखने के लिए जरूरी हैं।

सैल्मन में विटामिन डी भी पाया जाता है। पुरुषों में विटामिन डी की कमी होने पर, उनमें इरेक्टाइल डिसफंक्शन होने की संभावना काफी ज्यादा बढ़ जाती है।

इसके अलावा, सैल्मन में अत्यधिक प्रोटीन और विटामिन बी-6 भी पाया जाता है, जो रक्त संचार को ठीक करता है और माँसपेशियों को मजबूत बनाने में मदद करता है।

इंटरनेशनल जर्नल ऑफ इम्पोटेंस रिसर्च में हुए एक शोध के अनुसार, सैल्मन जैसी हाई ओमेगा-3 फैटी एसिड्स वाले खाद्य पदार्थों का नियमित सेवन करने से, यौन अंगों का कामकाज ठीक रहता है और सेक्स के दौरान लिंग को पूरा लम्बा मोटा करने में मदद मिलती है।

तरबूज​

शोधकर्ताओं के अनुसार, तरबूज एक प्राकृतिक वियाग्रा की तरह काम करता है, क्योंकि इसमें अत्यधिक मात्रा में सिट्रललाइन (citrulline) नामक एमिनो एसिड पाई जाती है जो वियाग्रा की तरह ही रक्त वाहिकाओं को चौड़ा और पतला करती है।

सिट्रललाइन शरीर में नाइट्रिक ऑक्साइड को बड़ा देती है जिससे ब्लड सर्कुलेशन सुधरता है।

साथ ही, तरबूज हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में भी मददगार होता है।

इसलिए तरबूज का नियमित सेवन करने से लिंग में उत्तेजना बढ़ाने में मदद मिलती है।

कम चिकनाई वाला दही​

कम चिकनाई वाले दही में अत्यधिक मात्रा में लीन प्रोटीन्स पाए जाते हैं, जो लिंग को प्राकृतिक रूप से बड़ा करने में मदद करते हैं।

साथ ही, यह मोटापे को कंट्रोल करने में भी मददगार होता है।

डार्क चॉकलेट​

चॉकलेट एक ऐसी पदार्थ है, जो आपके मुँह को तो मीठा करेगी ही, साथ ही आपके लिंग के स्वास्थ्य को भी बढ़ावा देगी।

इसमें मौजूद कोकोआ, दिमाग में सेरोटोनिन नामक मूड-बूस्टिंग हार्मोन के स्तर को बढ़ाता है।

दिमाग में अधिक सेरोटोनिन होने से, आपके तनाव का स्तर कम होता है, आपकी कामेच्छा अधिक होती है और सेक्स के दौरान आपके लिंग के पूरा खड़ा होने की संभावना बढ़ती है।

इतना ही नहीं, ब्रिटिश जर्नल ऑफ न्यूट्रिशन में प्रकाशित एक शोध से पता चला है, कि कोकोआ रक्त प्रवाह को भी बढ़ाता है और रक्त वाहिकाओं को आराम देता है, जिससे शरीर के सभी अंगों में पर्याप्त रक्त पहुँचता है।

ब्रोकली​

ब्रोकली, गोभी की तरह एक हरी सब्जी होती है।

इसका नियमित सेवन करने से पेल्विक फ्लोर मसल्स मजबूत होती हैं।

जैसा कि हमने ऊपर बताया था, कि पेल्विक मसल्स के मजबूत होने से लिंग में लम्बे समय तक ज्यादा रक्त रोके रखने में मदद मिलती है और लिंग का साइज बढ़ता है।

लिंग बढ़ाने में मदद करने वाले अन्य खाद्य पदार्थ​

  • शहद – इसमें अत्यधिक मात्रा में विटामिन बी पाया जाता है, जो टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाने में मदद करता है।
  • अंडा– यह हमारे शरीर को एक्स्ट्रा प्रोटीन देने के साथ-साथ लिंग के ऊतकों के निर्माण में भी मदद करता है। साथ ही, यह शरीर की हॉर्मोन्स कंट्रोल करने वाली प्रक्रिया में भी मददगार होता है।
  • लहसुन – प्याज की तरह लहसुन में भी अत्यधिक मात्रा में एलिसिन (allicin) कंपाउंड पाया जाता है, जो रक्त संचार को बढ़ाने में मदद करता है। साथ ही, लहसुन ह्रदय को स्वस्थ रखने में भी मदद करता है।
  • अंजीर – अंजीर में में एमिनो एसिड्स पाए जाते हैं, जो सेक्स स्टैमिना और कामोत्तेजना बढ़ाने में मदद करते हैं।
  • पानी – पर्याप्त मात्रा में पानी का सेवन करने से, शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद मिलती है, जिससे लिंग के साथ-साथ पूरा शरीर स्वस्थ रहता है।
  • कद्दू के बीज – इनमें भी भरपूर मात्रा में एमिनो एसिड्स पाए जाते हैं।

विटामिन्स

लिंग बड़ा करने के लिए ऊपर दिए खाद्य पदार्थों का नियमित सेवन करने के साथ-साथ, कुछ विटामिन्स का सेवन भी किया जा सकता है।

विटामिन ए​

विटामिन ए​

हार्वर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा किये गए एक शोध में, शोधकर्ताओं ने शुक्राणु की गुणवत्ता पर विभिन्न फलों और सब्जियों के प्रभावों की जाँच की।

शुक्राणुओं की संख्या और तैरने की क्षमता पर गाजर का सबसे अच्छा ऑल-अराउंड रिजल्ट मिला।

सबसे ज्यादा गाजर खाने वाले पुरुषों के शुक्राणुओं के प्रदर्शन में 6.5 से 8 प्रतिशत की बढ़ोतरी देखी गई।

हार्वर्ड के शोधकर्ताओं ने इस फायदे का कारण, गाजर में मौजूद कैरोटेनॉइड नामक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट को पाया, जो शरीर को विटामिन ए बनाने में मदद करता है।

विटामिन ए एक एंटीबैक्टीरियल विटामिन भी होता है, जो शरीर में होने वाले किसी भी प्रकार के इन्फेक्शन से लड़ता है।

शरीर में होने वाला कोई भी इन्फेक्शन, लिंग को बढ़ने से रोक सकता है और उत्तेजना में कमी ला सकता है।

इसलिए नियमित रूप से विटामिन ए युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करें।

विटामिन ए निम्न खाद्य पदार्थों में पाया जाता है – गाजर, शकरकंद, पालक, ब्रोकली और अंडे।

इसके अलावा आप विटामिन ए के सप्लीमेंट्स भी ले सकते हैं।

विटामिन बी5​

विटामिन बी5​

विटामिन बी5 स्किन के स्वास्थ्य और देखभाल को बढ़ावा देने के लिए फायदेमंद होता है।

यह स्किन को नमी प्रदान करने में मदद करता है।

आप यह तो नहीं चाहेंगे, कि आपके लिंग की स्किन सूखी और टूटी-फूटी हो।

कुछ वैज्ञानिकों का मानना है, कि विटामिन बी5 वास्तव में हवा से नमी को स्किन में खींचता है।

विटामिन बी5 एक्सरसाइज करने के बाद, लिंग की रिकवरी की रफ्तार को भी बढ़ाता है, जिससे लिंग को जल्दी बड़ा करने में मदद मिलती है।

विटामिन बी5 निम्न खाद्य पदार्थों में पाया जाता है – सूरजमुखी के बीज, एवोकाडो, अनाज, मशरूम, ब्रोकली और धूप में सुखाये गए टमाटर।

विटामिन बी5 टेबलेट्स, कैप्सूल और पाउडर फॉर्म में भी उपलब्ध होता है।

विटामिन सी​

विटामिन सी​

विटामिन सी ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाने में मदद करता है।

विटामिन सी को शरीर संग्रहीत नहीं करता है, इसलिए आपको हर दिन विटामिन सी से भरपूर खाद्य पदार्थ खाने की जरूरत है।

विटामिन सी निम्न खाद्य पदार्थों में पाया जाता है – अमरूद, काली किशमिश, लाल मिर्च, हरी मिर्च, कीवी, संतरा, स्ट्रॉबेरी, आम, अनानास और पपीता। बाजार में इसके सप्लीमेंट्स भी उपलब्ध होते हैं।

विटामिन डी​

विटामिन डी​

एक शोध के अनुसार नामर्दी से पीड़ित मरीजों में, विटामिन डी की अत्यधिक कमी पाई गई।

शरीर में विटामिन डी की कमी होने पर, एंडोथेलियल डिसफंक्शन होने लगता है, जिससे लिंग में उत्तेजना आना बंद हो जाती है।

इसलिए यदि आप अपना लिंग बड़ा बनाये रखना चाहते हैं, तो अपने शरीर में विटामिन डी की कमी न होने दें।

विटामिन डी ज्यादातर सूरज की किरणों से प्राप्त होता है, इसलिए रोज सुबह धूप में कम से कम 30 मिनट बैठें।

विटामिन डी को सप्लीमेंट्स के रूप में भी लिया जा सकता है।

सर्जरी द्वारा लिंग बड़ा करें

सर्जरी की मदद से लिंग को बड़ा करना सबसे आसान तरीका होता है, जिसमें ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ती।

लिंग की कई प्रकार की सर्जरी होती हैं, जिनमें इम्प्लांट और फैट इंजेक्शन सबसे प्रचलित हैं।

इम्प्लांट सर्जरी में लिंग में एक फ्लेक्सिबल सिलिकॉन इम्प्लांट किया जाता है, जिससे वह बड़ा दिखाया देने लगता है।

फैट इंजेक्शन एक त्वरित और कम-खतरे वाली सर्जरी प्रक्रिया है, जिसमें व्यक्ति के शरीर की अन्य जगह से फैट निकालकर, लिंग में भर दिया जाता है।

इससे लिंग की लम्बाई में आधे इंच और मोटाई में लगभग एक तक बढ़ोतरी हो सकती है।

साथ ही, इससे लिंग थोड़ा भारी भी हो जाता है।

लिंग को लम्बा करने की एक अन्य सर्जरी में, लिंग और पेल्विक हड्डी को जाने वाले लिगामेंट टिश्यू को काट दिया जाता है।

ऐसा करने से लिंग थोड़ा आगे की तरफ निकल आता है और लगभग आधे इंच तक लम्बा दिखाई देने लगता है।

हालाँकि इसके बाद लिगामेंट के दोबारा पेल्विक से जुड़ जाने की सम्भावना होती है, इसलिए इस सर्जरी के बाद अक्सर डॉक्टर रोज लिंग को स्ट्रेच करने और वजन लटकाने की सलाह देते हैं।

एक और कम कम खतरे वाली सर्जरी कुछ पुरुषों के लिए उपलब्ध है, जिनकी अंडकोश की थैली लिंग की शाफ्ट पर ऊपर तक चिकपी होती है।

सर्जरी के द्वारा इस थैली को ऊपर से काटकर नीचे जोड़ दिया जाता है। इस सर्जरी के जरिये लिंग का आधार उभर आता है और लिंग ज्यादा लम्बा दिखाई देने लगता है।

लेकिन ज्यादातर लिंग की सर्जरी में कई जोखिम होते हैं, जैसे नर्व डैमेज, संवेदनशीलता में कमी, लिंग खड़ा न होना और स्कारिंग होना जिसमें लिंग पहले से भी ज्यादा छोटा हो जाता है।

इसलिए यदि आप लिंग की सर्जरी करवाना चाहते हैं, तो किसी अच्छे सर्जन से संपर्क करें।

ध्यान रखें –

लिंग की सर्जरी में काफी जटिलताएं होती हैं, इसलिए इसे करवाने से पहले डॉक्टर से इसकी पूरी जानकारी ले लें।

यदि आपकी सर्जरी असफल होती है, तो इसके कारण आपको उल्टा नुकसान भी हो सकता है।

2 thoughts on “लिंग मोटा लम्बा करने के 11 बेस्ट तरीके”

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.