लिंग को ज्यादा देर तक खड़ा रखने के 9 घरेलू उपाय

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी, पर्यावरण प्रदूषण और लगभग हर खाद्य पदार्थ में केमिकल होने के कारण, पुरुषों को सेक्स के दौरान अपना लिंग ज्यादा देर तक खड़ा न रख पाना काफी आम बात हो गई है। खासतौर से निम्न पुरुषों में –

  • जिन्हें डायबिटीज या हाई ब्लड प्रेशर की बीमारी हो
  • जिनके लिंग, अंडकोष या रीड की हड्डी में चोट लगी हो
  • जो डिप्रेशन या ब्लड प्रेशर की दवाएं लेते हैं
  • जिनको तनाव और डिप्रेशन की समस्या है
  • जिनका वजन नॉर्मल से ज्यादा है
  • या जो धूम्रपान या अत्यधिक शराब का सेवन करते हैं

लिंग को ज्यादा देर तक खड़ा न रख पाने की समस्या का उपचार, इसके कारणों पर निर्भर करता है। इस उपचार में डॉक्टर की दवाएं, पेनिस पंप और यहाँ तक कि सर्जरी भी शामिल है।

हालाँकि, अपनी जीवनशैली में कुछ बदलाव लाकर और अन्य प्राकृतिक उपचारों को अपनाकर भी इस समस्या को ठीक किया जा सकता है।

इन सभी प्राकृतिक उपचारों की विस्तृत जानकारी हमने नीचे दी है –

  1. खानपान
  2. एक्सरसाइज
  3. नींद
  4. वजन नियंत्रण
  5. मनोचिकित्सा
  6. सेक्स थेरेपी
  7. तनाव में कमी लाएं
  8. शराब का सेवन कम करें
  9. धूम्रपान छोड़ें

खानपान

संतुलित आहार खाने से यौन क्रिया को बेहतर बनाए रखने और लिंग के जल्दी बैठ जाने के जोखिम को कम किया जा सकता है।

2002 में अमेरिका में हुए एक शोध के अनुसार, जो पुरुष तले-भुने फास्ट फूड्स से दूर रहते हैं और पोषक तत्वों से युक्त खाद्य पदार्थों का ज्यादा सेवन करते हैं, उनमें लिंग को लम्बे समय तक खड़ा रखने की क्षमता ज्यादा होती है।

इस शोध में पुरुषों ने खासतौर से निम्न खाद्य पदार्थों का नियमित सेवन किया –

  • ताजा फल और सब्जियाँ
  • दालें, खासतौर से मूंग दाल
  • नट्स, जैसे अखरोट, बादाम, पिस्ता आदि
  • प्रोटीन युक्त मछलियाँ जैसे सैल्मन और टूना

इसी तरह, 2007 के एक शोध में पाया गया कि 18 से 40 वर्ष की आयु के पुरुषों द्वारा ज्यादा फलों, सब्जियों और फ्लेवोनोइड (कॉफ़ी, प्याज, डार्क चॉकलेट आदि में पाया जाने वाला एक जरूरी यौगिक) का सेवन करने से नामर्दी और लिंग के जल्दी बैठ जाने की समस्या का खतरा कम होता है।

ये खाद्य पदार्थ आपके संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण हैं, इसलिए आपकी यौन क्रिया और लिंग के कामकाज को बेहतर बनाए रखने या सुधारने में भी मदद करते हैं।

एक्सरसाइज

कई शोधों से यह साबित हो चुका है कि शारीरिक एक्सरसाइज लिंग की समस्याओं से बचाव और सुधार करने में काफी मददगार होती है। खासतौर से तब जब आपमें मोटापा, निष्क्रियता, आलस्य या हृदय रोग की समस्या है।

2018 की एक शोध समीक्षा में पाया गया कि हफ्ते में कम से कम 4 दिन रोज मध्यम से तीव्र एरोबिक एक्सरसाइज करने से पुरुषों में नामर्दी के लक्षणों जैसे लिंग का ढीलापन, तनाव में कमी और छोटापन दूर करने में मदद मिलती है।

मुख्य रूप से निम्न एक्सरसाइज ज्यादा फायदेमंद होती हैं:

  • दौड़ (रनिंग)
  • तेज चलना
  • साइकिल चलाना
  • तैराकी (स्विमिंग)

शारीरिक गतिविधि रक्त वाहिकाओं में सुधार करने, तनाव कम करने और टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाने में मदद करती है, जो सभी लिंग स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हैं।

नींद

आपके संपूर्ण स्वास्थ्य को ठीक रखने के लिए हर रात पर्याप्त नींद लेना जरूरी है। पूरी नींद लेने से भी लिंग और हृदय का स्वास्थ्य ठीक रहता है।

2017 के एक शोध में पाया गया कि रात की शिफ्ट में काम करने वाले पुरुष, जिन्होंने अपनी नींद की गुणवत्ता खराब होने की सूचना दी, उनमें इरेक्टाइल डिसफंक्शन और लिंग की समस्याओं का खतरा अधिक पाया गया।

2015 के एक बड़े शोध ने यह भी संकेत दिया कि नींद विकार वाले लोगों में सेक्स समस्याएं विकसित होने का अधिक जोखिम होता है। एक अन्य शोध ने ‘ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया’, जिसमें व्यक्ति की सोते समय सांस भूलने लगती है जिसके कारण वह ठीक से सो नहीं पाता, और लिंग के ज्यादा देर तक खड़ा न होने की समस्या में सीधा संबंध पाया।

पर्याप्त नींद न लेने से आपके टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम हो सकता है, जो लिंग की समस्या में योगदान कर सकता है। नींद की निरंतर कमी उन स्थितियों से भी जुड़ी है जो लिंग की समस्याओं से संबंधित हैं, जैसे डायबिटीज और हाई ब्लड प्रेशर।

वजन नियंत्रण

आपका वजन भी लिंग देर तक खड़ा न होने का एक कारक हो सकता है।

2020 की एक शोध समीक्षा के अनुसार, लिंग देर तक खड़ा न होने की समस्या उन पुरुषों में काफी अधिक आम थी जो अधिक वजन वाले थे या मोटापे से ग्रस्त थे।

2014 के एक छोटे शोध ने संकेत दिया कि अत्यधिक मोटे पुरुषों द्वारा गैस्ट्रिक बाईपास सर्जरी करवाने से उनकी रक्त वाहिकाओं और लिंग स्वास्थ्य में सुधार होता है। गैस्ट्रिक बाईपास सर्जरी एक प्रकार की मोटापा कम करने और वजन घटाने की सर्जरी होती है। इस सर्जरी के दौरान, आपका चिकित्सक भोजन को अवशोषित करने और पचाने के तरीके को बदलने के लिए आपके पेट और छोटी आंत में बदलाव करता है। इससे आपका शरीर भोजन में से फैट और कैलोरी को कम अवशोषित करता है।

2017 की एक शोध समीक्षा में इसी तरह वजन घटाने की सर्जरी के बाद पुरुषों के लिंग के खड़ा होने की क्षमता में सुधार पाया गया।

यदि आपके मोटापे के कारण आपका लिंग देर तक खड़ा नहीं रह पाता है, तो नियमित व्यायाम और संतुलित आहार आपको अपना वजन कम करने और अपने लिंग को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है।

मनोचिकित्सा

कुछ मामलों में, शारीरिक और मनोवैज्ञानिक समस्याओं के संयोजन के कारण लिंग देर तक खड़ा न होने की समस्या हो जाती है। इसमें अपनी पार्टनर को पूर्ण संतुष्ट न कर पाने का डर, धार्मिक विश्वास और यौन आघात शामिल हो सकते हैं।

इसके फलस्वरूप, व्यक्ति में अतिरिक्त मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं का जन्म हो सकता है, जिसमें भावनात्मक संकट और आत्मविश्वास में कमी शामिल हैं, जो लिंग खड़ा न होने की समस्या को और ज्यादा बिगाड़ सकते हैं।

2021 की एक शोध समीक्षा के अनुसार, सेक्स को बेहतर बनाने के लिए मनोवैज्ञानिक थेरेपी खासतौर से संज्ञानात्मक व्यवहार थेरेपी (cognitive behavioral therapy) विशेष रूप से प्रभावी होती हैं।

2008 में 4 सप्ताह तक हुए एक छोटे शोध में पाया गया कि माइंडफुलनेस-केंद्रित थेरेपी (या दिमाग को शांत और केंद्रित रखने वाले अभ्यास) करने से लिंग के खड़ा होने की क्षमता और सेक्स संतुष्टि में सुधार आता है।

सेक्स थेरेपी या कपल काउन्सलिंग

लिंग देर तक खड़ा न होने की समस्या से ग्रसित लगभग 10 से 25 प्रतिशत पुरुषों में कोई ज्ञात जोखिम कारक नहीं होते हैं। इस स्थिति को मेडिकल भाषा में नॉन-आर्गेनिक इरेक्टाइल डिसफंक्शन के नाम से जाना जाता है, जो कुछ मानसिक समस्याओं जैसे डिप्रेशन या सेक्स के दौरान अनुभव की जाने वाली चिंता के कारण हो सकता है।

2020 के एक छोटे से शोध में पाया गया कि नॉन-आर्गेनिक इरेक्टाइल डिसफंक्शन को कम करने में कॉग्निटिव बिहेवियर सेक्स थेरेपी (CBST) काफी प्रभावी होती है। कुछ दवाओं जैसे सिल्डेनाफिल (वियाग्रा) के सेवन से भी इस समस्या से निजात मिल सकती है। हालाँकि, CBST शोध प्रतिभागियों के बीच चिंता को कम करने में अधिक प्रभावी थी।

अपनी साथी के साथ सेक्स काउन्सलिंग में भाग लेने से भी मदद मिल सकती है, ताकि मनोवैज्ञानिक को आपकी स्थिति को बेहतर ठंग से समझने और आपकी सहायता करने के तरीकों पर चर्चा करने में ज्यादा मदद मिल सके।

2016 के एक शोध ने नामर्दी को सेक्स पार्टनर्स की एक साझा स्वास्थ्य समस्या के रूप में लेबल किया और कपल को एक साथ काउन्सलिंग, थेरेपी और सेक्स शिक्षा में भाग लेने की गुजारिश की।

तनाव में कमी लाएं

तनाव और चिंता जैसी मानसिक समस्याओं को अक्सर लिंग देर तक खड़ा न होने की समस्या से जोड़कर देखा जाता है।

2019 के एक शोध में पाया गया कि तनाव, चिंता और डिप्रेशन नामर्दी के मुख्य कारकों में से एक होते हैं। शोध में बताया गया कि लम्बे समय से तनाव से ग्रसित पुरुषों के टेस्टोस्टेरोन के स्तर और नींद में कमी आ सकती है, जिससे आखिर में उन्हें नामर्दी, लिंग खड़ा न होना और सेक्स में संतुष्टि न मिलने जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

2014 के एक अन्य छोटे शोध में पाया गया कि नामर्दी की दवा के साथ तनाव प्रबंधन के तरीके अपनाने से समस्या से जल्दी छुटकारा पाने में मदद मिल सकती है।

शराब का सेवन कम करें

शराब का संतुलित मात्रा में सेवन करने से लिंग की समस्याएं होने का जोखिम कम होता है, लेकिन इसका अत्यधिक सेवन करने से नामर्दी होने की सम्भावना काफी ज्यादा बढ़ जाती है।

2018 की एक शोध समीक्षा के अनुसार हल्की से मध्यम मात्रा में शराब का सेवन (हर हफ्ते 14 से कम पैक) करने वाले पुरुषों में नामर्दी का जोखिम कम पाया गया।

वहीं दूसरी ओर, 2018 के एक अन्य शोध में पाया गया कि शराब पर निर्भर रहने वाले (या इसका अत्यधिक सेवन करने वाले) पुरुषों में यौन रोग, विशेष रूप से लिंग देर तक खड़ा न होने की समस्या आम थी।

2020 की एक शोध समीक्षा ने भी शराब को नामर्दी के एक जोखिम कारक के रूप में पहचाना।

हालाँकि शराब लिंग पर किस प्रकार से प्रभाव डालती है, इसपर अभी और शोध होना बाकी है। लेकिन अमेरिका के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के अनुसार व्यक्ति को रोज दो से ज्यादा पैक शराब का सेवन नहीं करना चाहिए।

धूम्रपान छोड़ें

धूम्रपान भी एक ऐसी आदत है जो संभवतः लिंग की समस्याओं में योगदान देती है। ऐसा इसलिए हो सकता है क्योंकि धूम्रपान रक्त वाहिकाओं को नुकसान पहुँचाता है, जिससे लिंग को देर तक खड़ा करने के लिए पर्याप्त रक्त नहीं पहुँच पाता है।

धूम्रपान शरीर में नाइट्रिक ऑक्साइड की उपलब्धता को भी कम कर सकता है, जो लिंग में रक्त प्रवाह को बढ़ाने के लिए अत्यधिक आवश्यक होता है।

2015 की एक शोध समीक्षा के अनुसार, अत्यधिक धूम्रपान करने वाले पुरुषों के लिंग में सिर्फ ढीलापन ही नहीं आता, बल्कि उनके स्थाई रूप से नामर्द होने की सम्भावना भी काफी ज्यादा बढ़ जाती है।

धूम्रपान से होने वाले कुछ नुकसानों को फिर से ठीक नहीं किया जा सकता। हालाँकि फिर भी, शोध समीक्षा ने यह भी निष्कर्ष निकाला कि धूम्रपान छोड़ने से, खासतौर से 50 वर्ष से कम आयु के पुरुषों में लिंग की दुर्बलता में सुधार आ सकता है।

धूम्रपान छोड़ना चुनौतीपूर्ण होता है, खासतौर से तब जब आप इसे काफी लम्बे समय से करते आ रहे हैं। लेकिन इसे छोड़ने में मदद करने वाले कई सेंटर उपलब्ध हैं। धूम्रपान छोड़ने से न केवल आपके यौन जीवन को बेहतर बनाने में मदद मिल सकती है, बल्कि आपके सम्पूर्ण स्वास्थ्य को भी लाभ मिलता है।

यदि यह प्राकृतिक उपचार काम न करें तो क्या करूँ?

आपकी समस्या के कारक के आधार पर, हो सकता है कि यह प्राकृतिक उपचार प्रभावी न हों। ऐसी स्थिति में डॉक्टर आपको निम्न दवाएं लेने की सलाह दे सकता है:

इन दवाओं के दुष्प्रभाव के रूप में आपको सिरदर्द, अपच और चक्कर आने की समस्या हो सकती है। यदि आप नाइट्रेट्स (सीने में दर्द की दवाएं) ले रहे हैं, तो आपको इनका उपयोग नहीं करना चाहिए।

निष्कर्ष

लिंग देर तक खड़ा न होना एक आम समस्या है, जो व्यक्ति के आत्मविश्वास, रिश्तों और जीवन की गुणवत्ता पर बुरा प्रभाव डाल सकती है।

आपके लिए सबसे प्रभावी उपचार इस समस्या के कारकों पर निर्भर करता है। फिर भी, ऊपर दिए गए प्राकृतिक उपचार इस समस्या को कम करने के लिए फायदेमंद हो सकते हैं।

अपने लिए सही उपचार की पहचान करने के लिए आपको अपने डॉक्टर से बात करने की आवश्यकता है। अपनी साथी के साथ मिलकर अपनी स्थिति के बारे में डॉक्टर (या मनोवैज्ञानिक) से बात करना ज्यादा फायदेमंद हो सकता है।

याद रखें कि प्राकृतिक उपचार, विशेष रूप से जीवनशैली में बदलाव जैसे मोटापा कम करने या एक्सरसाइज करने के जरिये उचित परिणाम प्राप्त करने में समय लग सकता है, इसलिए आपको धैर्य रखने की आवश्यकता होगी।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.