लिंग की स्किन फटना: राहत, घरेलू इलाज, घाव भरने का समय आदि

लिंग के मुठ को ऊपर से ढकने वाली स्किन को फोरस्किन कहा जाता है। यह फोरस्किन मुठ के नीचे एक पतली स्किन से जुड़ी होती है जिसे फ्रेनुलम कहते हैं।

फ्रेनुलम काफी नाजुक होती है, इसलिए थोड़ी सी भी रफ़ गतिविधि इसे फाड़ सकती है, जैसे:

  • रफ़ सेक्स या हस्तमैथुन करना
  • टाइट पैंट या अंडरवियर पहनना
  • लम्बे समय तक बाइक चलाना
  • कांटेक्ट स्पोर्ट्स जिनमें खिलाड़ी एक दूसरे से बार-बार असहजता से टकराते हैं जैसे कबड्डी, फुटबाल आदि खेलना
  • अत्यधिक शारीरिक श्रम करना

अगर आपके साथ यह समस्या होती है, तो गहरी सांस लें। हालांकि इसमें दर्द होने की संभावना है, लेकिन यह चोट काफी जल्दी भर जाती है और बहुत कम मामलों में किसी गंभीर समस्या का कारण बनती है।

आमतौर पर इसका इलाज घर पर ही किया जा सकता है, जिसकी पूरी जानकारी हमने नीचे दी है।

खून बह रहा है – मैं क्या करूँ?

फ्रेनुलम की स्किन में कई रक्त वाहिकाएं मौजूद होती हैं, इसलिए इसके फटने पर हल्का रक्त बहना आम है।

इस रक्तस्राव को रोकने के लिए निम्न प्राथमिक उपचार का प्रयोग करें:

  • सबसे पहले अपने हाथों को साबुन और साफ पानी से धो लें।
  • रक्त प्रवाह को रोकने के लिए चोट के ऊपर एक साफ कपड़ा या रुई रखें।
  • चोट और उसके आस-पास के क्षेत्र को साफ पानी और डेटोल से धीरे से धोएं। डेटोल को कम ही लगाएं नहीं तो आपको बहुत जलन होगी।
  • एक ताजे कपड़े या तौलिये से क्षेत्र को धीरे से थपथपाकर सुखाएं।
  • चोट पर एंटीबायोटिक क्रीम लगाएं।
  • चोट को ढकने के लिए एक साफ पट्टी या बैंडेज लगाएं।
  • रोज दिन में कम से कम एक बार इस पट्टी को बदलें।

हालांकि अत्यधिक खून बहने की संभावना न के बराबर है, लेकिन यदि पट्टी लगाने के एक-दो घंटे बाद भी रक्त निकल रहा है, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

इसमें बहुत दर्द हो रहा है – क्या यह आम है?

पुरुष लिंग सेंसिटिव नसों और रिसेप्टर्स का एक घना बंडल होता है, इसलिए आपके फटे हुए फ्रेनुलम में अपेक्षा से अधिक दर्द का अहसास होना सामान्य है।

इसलिए आमतौर पर फोरस्किन के दर्द का स्तर वास्तविक चोट की गंभीरता से संबंधित नहीं होता।

दूसरे शब्दों में कहें तो, यह दर्द – भले ही फिर वह कुछ दिनों तक बना रहे – फिर भी इसका मतलब यह नहीं है कि आपके लिंग में कोई स्थाई क्षति पहुँच गई है या चोट काफी गंभीर है।

इस दर्द का वर्णन करना मुश्किल हो सकता है – इसे लिंग की नोक के पास एक तेज, धड़कते, केंद्रित दर्द के रूप में वर्णित किया जाता है।

ये लक्षण आमतौर पर कितने समय तक रहते हैं?

अक्सर, कोई भी प्रारंभिक रक्तस्राव या तीव्र दर्द कुछ ही घंटों में ठीक हो जाता है।

चोट के ठीक होने के दौरान आप कुछ दिनों के लिए सुस्त और हल्का दर्द महसूस कर सकते हैं।

चोट की गंभीरता के आधार पर यह दर्द एक या दो सप्ताह तक रह सकता है।

इस दौरान यदि चोट में संक्रमण हो जाता है, तो आपके लक्षण खराब हो सकते हैं जिसमें लिंग से असामान्य डिस्चार्ज, दुर्गंध और बुखार शामिल हैं।

यदि संक्रमण का इलाज नहीं किया जाता है, तो ये लक्षण एक सप्ताह या उससे अधिक समय तक रह सकते हैं।

एक अनुपचारित संक्रमण आपके लिंग के अन्य भागों में भी फैल सकता है और अधिक व्यापक व गंभीर दर्द का कारण बन सकता है।

क्या फ्रेनुलम अपनेआप ठीक हो जाएगी?

हां! कट, खरोंच और चोट आमतौर पर अपने आप ठीक हो जाती हैं यदि आप:

  • उनका शीघ्र उपचार करें
  • उनपर रोज नई ड्रेसिंग करके बंद रखें
  • उनको नियमित रूप से साफ करके सुखाएं
  • इस दौरान ऐसी तेज गतिविधियों से बचें जो फ्रेनुलम की चोट पर असर डाल सकती है

क्या ऐसा कुछ है जो इसके ठीक होने के दौरान मुझे करना चाहिए?

फोरस्किन की चोट को जल्द से जल्द ठीक होना सुनिश्चित करने के लिए आपको निम्न बातों का ध्यान रखना चाहिए:

  • फोरस्किन में चोट लगने के तुरंत बाद उसे अच्छे से साफ करके बैंडेज लगाएं।
  • ढीला, आरामदायक अंडरवियर और पैंट पहनें जबतक कि चोट बहुत हद तक भर न जाये।
  • जब आप दोबारा सेक्स करने के लिए तैयार हों, तो फोरस्किन को दोबारा फटने से बचाने के लिए प्राकृतिक, पानी आधारित लुब्रीकेंट का उपयोग करें।

यदि समय के साथ चोट बिगड़ती जाती है या दर्द एक सप्ताह से अधिक समय तक बना रहता है, तो डॉक्टर से मिलें।

क्या ऐसा कुछ है जो इसके ठीक होने के दौरान मुझे नहीं करना चाहिए?

अपनी फोरस्किन को अच्छी तरह से ठीक होना सुनिश्चित करने के लिए आपको निम्न बातों का ध्यान रखना है:

  • रक्तस्राव और प्रारंभिक दर्द बंद होने तक सेक्स गतिविधि न करें।
  • जब तक चोट पूरी तरह से ठीक न हो जाए, तब तक किसी भी तरह की कठोर गतिविधि में शामिल न हों।
  • चोट को खुला न छोड़ें क्योंकि इससे उसमें संक्रमण हो सकता है।
  • जब तक चोट ठीक न हो जाए तब तक लिंग में कोई कंडोम या अन्य यन्त्र न लगाएं। इनसे संक्रमण की सम्भावना बढ़ जाती है।
  • अपने लिंग पर कृत्रिम अवयव युक्त आयल बेस्ड लुब्रीकेंट का प्रयोग न करें, क्योंकि यह चोट के साथ रिएक्शन कर सकते हैं और उसे नुकसान पहुँचा सकते हैं।
  • कभी भी चोट को गीला न छोड़ें और हमेशा पानी से साफ करने के बाद इसे अच्छे से सूखा लें।

किस स्थिति में मुझे डॉक्टर से मिलना चाहिए?

यदि आप निम्न में से कोई स्थिति नोटिस करते हैं, तो अपने डॉक्टर या अन्य स्वास्थ्य सेवा प्रदाता से मिलें:

  • हल्की यौन क्रिया या व्यायाम से भी चोट खुल जाती है
  • चोट के आसपास असामान्य लालिमा छा गई हो, खासकर अगर यह लिंग के अन्य हिस्सों में फैलने लगी हो
  • चोट पर या उसके आसपास सूजन हो
  • चोट के आसपास गर्मी महसूस होना
  • दिन-प्रतिदिन चोट के आसपास दर्द या संवेदनशीलता बढ़ती जाना
  • चोट से मवाद या डिस्चार्ज निकलना
  • लिंग में कुछ भी महसूस न होना या उसकी संवेदना में कमी आना
  • बुखार आना, भले ही फिर वह हल्का हो
  • पेशाब करते समय जलन होना
  • बार-बार पेशाब लगना
  • पेशाब में खून आना या यह बादलों की तरह गाढ़ी निकलना
  • पेट में ऐंठन होना

चोट का इलाज करने के लिए डॉक्टर क्या-क्या कर सकता है?

यदि चोट हल्की है, तो आपका डॉक्टर केवल उसको साफ करके पट्टी कर सकता है।

वह पट्टियों को बदलने और ठीक होने तक उसे साफ रखने का निर्देश देगा।

ऊतकों को जल्दी भरने और संभावित बैक्टीरिया या वायरल संक्रमण से बचाने के लिए आपका डॉक्टर आपको एक एंटीबायोटिक क्रीम लिख सकता है।

यदि आपमें पहले से ही हल्के संक्रमण के लक्षण दिखाई देते हैं, तो वह कुछ मौखिक एंटीबायोटिक्स भी लिख सकता है।

यदि चोट गंभीर है, तो आपका डॉक्टर दोबारा आने का अनुरोध कर सकता है।

अगले अपॉइंटमेंट में वह जाँच करेगा कि आपकी चोट ठीक से भर रही है या नहीं और इसमें कोई संक्रमण या अन्य जटिलता तो नहीं उभर रही है।

यदि यह फिर से फट जाये तो मुझे क्या करना चाहिए?

यदि आपकी फोरस्किन फिर से फट जाती है तो सबसे पहले आपको ऊपर बताये गए सफाई, पट्टी और चोट की देखभाल के चरणों को दोबारा दोहराना चाहिए।

यदि रफ़ सेक्स या अन्य शारीरिक गतिविधि के कारण यह बार-बार फट जाती है, तो आपको इन गतिविधियों को थोड़ा सावधानी से और धीमी गति से करने का अभ्यास करना चाहिए।

फोरस्किन के बार-बार फटने से इसमें अत्यधिक स्कार टिश्यू बनने लगते हैं, जो उसे और ज्यादा टाइट कर सकते हैं और समस्या को और ज्यादा बड़ा सकते हैं।

यदि आपकी फोरस्किन एक ही जगह पर बार-बार फटती है, तो आपको एक अच्छे urologist से मिलना चाहिए।

डॉक्टर आपकी मेडिकल हिस्ट्री के बारे में पूछ सकता है और दोबारा चोट लगने से बचने के लिए सर्जरी की सलाह दे सकता है।

क्या मुझे सर्जरी करवानी पड़ेगी?

आपका डॉक्टर सर्जरी की सलाह दे सकता है यदि:

  • आपकी फोरस्किन बार-बार फट रही है, यहाँ तक कि आपके द्वारा अतिरिक्त ध्यान देने और रफ़ सेक्स से परहेज करने के बावजूद
  • चोट में संक्रमण हो जाता है और फोरस्किन के ऊतकों को नुकसान पहुँचता है
  • आसपास के लिंग के ऊतक क्षतिग्रस्त या संक्रमित हो जाते हैं
  • लिंग की नसों या रक्त वाहिकाओं में परमानेंट डैमेज हो गया है

सर्जरी कैसी होगी?

फोरस्किन की फ्रेनुलम सर्जरी को फ्रेनुलोप्लास्टी कहा जाता है।

इंग्लैंड के डिपार्टमेंट ऑफ़ यूरोलॉजी में हुए एक शोध के अनुसार फ्रेनुलम की सभी समस्याओं को ठीक करने के लिए फ्रेनुलोप्लास्टी सबसे कारगर सर्जरी होती है।

फ्रेनुलोप्लास्टी के चरण निम्न हैं:

  • सबसे पहले सर्जरी के दौरान आपको बेहोश रखने के लिए एनेस्थीसिया दिया जायेगा। कुछ मामलों में सिर्फ लिंग को सुन्न करना काफी होता है।
  • इसके बाद डॉक्टर लिंग के सिर के पास फ्रेनुलम पर एक छोटा सा कट लगाएगा।
  • फिर डॉक्टर फ्रेनुलम को ढीला करने के लिए उसके ऊतकों को हीरे के आकार में फैलाएगा। ऐसा करने से उसकी फटने की सम्भावना कम होगी।
  • फिर वह फ्रेनुलम ऊतकों को सही आकार में सिलेगा। ऐसा करने से आपकी फोरस्किन काफी ढीली हो जाएगी और लिंग खड़ा होने के दौरान इसपर अतिरिक्त प्रेशर नहीं पड़ेगा।

यह प्रक्रिया काफी सामान्य होती है और 30 मिनट के अंदर ही पूर्ण हो जाती है। सर्जरी के तुरंत बाद डॉक्टर आपको कुछ दवाएं लिखकर छुट्टी कर देगा।

आपको टाँकों पर अगले 1-2 दिन तक बैंडेज लगाए रखना होगा और एक से दो हफ़्तों में यह पूरी तरह से ठीक जायेंगे।

सर्जरी के बाद की देखभाल की कुछ टिप्स निम्न हैं:

  • दर्द होने पर डॉक्टर द्वारा बताई गई दर्द निवारक दवा लें।
  • हर बार जब आप पेशाब करें तो अपने लिंग को धीरे से थपथपाएं। ऐसा करने से उसका रक्त संचार बेहतर रहता है और रिकवरी जल्दी होने में मदद मिलती है।
  • यदि अगले 1-2 दिन में बैंडेज अपनेआप नहीं गिरती तो इसे निकाल दें।
  • अपने लिंग के सिरे पर थोड़ा सिलिकॉन आधारित लुब्रीकेंट लगाएं ताकि यह आपके कपड़ों से न चिपके।
  • रोज कम से कम एक बार अपनी फोरस्किन को पूरा पीछे करें ताकि घाव सही दिशा में भर सके।
  • सर्जरी के 1 से 2 दिन तक घाव पर पानी न लगने दें।

जब तक घाव पूरी तरह से भर न जाये, तब तक आपको हस्तमैथुन या अन्य लिंग-केंद्रित सेक्स गतिविधि से बचना चाहिए।

निष्कर्ष

आमतौर पर आप फोरस्किन के मामूली घावों का घर पर ही इलाज कर सकते हैं। यह काफी जल्दी ठीक हो जाते हैं – आमतौर पर एक हफ्ते के अंदर।

जब तक आप भारी रक्तस्राव, संक्रमण के लक्षण या लगातार दर्द का अनुभव नहीं कर रहे हैं, तब तक आपको डॉक्टर के पास जाने की आवश्यकता नहीं है।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.