लिंग की औसत साइज और सेक्स संतुष्टि में इसका महत्व

ज्यादातर पुरुषों के मन में यही भ्रांति होती है, कि यदि उनका लिंग मोटा लम्बा नहीं होगा, तो वह अपनी पार्टनर को पूरी तरह से संतुष्ट नहीं कर पाएँगे और न ही लंबे समय तक सेक्स कर पाएंगे।

लेकिन यह सिर्फ कल्पना मात्र ही होती है, क्योंकि कई शोधों से यह साबित हुआ है, कि महिलाओं को संतुष्ट करने के मामले में लिंग का आकार कोई महत्त्व नहीं रखता और उनकी योनी, लिंग की साइज के अनुसार अपनेआप को ढाल लेती है।

लेकिन हाँ, यदि आपके लिंग का साइज औसत से कम है, तो जरूर आपकी सेक्सुअल लाइफ पर बुरा असर पड़ सकता है। लिंग की औसत लंबाई और मोटाई कितनी होती है, इसकी जानकारी हमने नीचे इस लेख में दी है।

लिंग की औसत साइज कितनी होती है​?

21 साल से कम उम्र के पुरुषों में, लिंग की औसत साइज बता पाना मुश्किल होता है, क्योंकि हर व्यक्ति के लिंग के बढ़ने की प्रक्रिया अलग-अलग होती है। लेकिन 21 वर्ष की आयु के पश्चात् लगभग हर पुरुष के लिंग का आकार पूरा बढ़ जाता है।

21 वर्ष से अधिक उम्र के पुरुषों पर किये गए शोधों से, लिंग की जो औसत लंबाई और मोटाई निकली उसकी जानकारी नीचे दी जा रही है –

  • बैठे हुए लिंग या बिना तनाव या उत्तेजना वाले लिंग की औसत लंबाई 8.9 सेंटीमीटर या 3.50 इंच होती है।
  • खड़े हुए लिंग या उत्तेजित लिंग की औसत लंबाई 14 से 16 सेंटीमीटर या 5.50 से 6.30 इंच के बीच होती है।
  • खड़े हुए लिंग की औसत परिधि यानि मोटाई 8.9 से 9.9 सेंटीमीटर या 3.50 से 3.90 इंच के बीच होती है।

नोट – ऊपर दी गई लिंग की औसत लंबाई और मोटाई, भारत में किये गए कई शोधों के परिणाम का औसत लेकर निकाली गई है। यह औसत लंबाई और मोटाई, व्यक्ति की अनुवांशिकता और जेनेटिक पृष्ठभूमि के आधार पर कम या ज्यादा हो सकती है।

पढ़ें -  लिंग मोटा लम्बा करने के 11 बेस्ट तरीके

लिंग का आकार कैसा होना चाहिए?

खड़े हुए लिंग का आकार कई तरह का हो सकता है। कुछ लोगों का लिंग खड़ा होने पर भी सीधा होता है, जबकि कुछ का नीचे की ओर थोड़ा झुका हुआ होता है। वहीं कुछ का बाईं या दाईं ओर झुका हुआ हो सकता है।

यह लिंग की सामान्य विविधतायें होती हैं, जिनके बारे में ज्यादा चिंता करने की कोई आवश्यकता नहीं है।

लेकिन यदि लिंग में अत्यधिक टेढ़ापन है और यदि सेक्स के दौरान लिंग में दर्द महसूस होता है, तो यह पेयरोनी बीमारी (Peyronie’s disease) के संकेत हो सकते हैं। पेयरोनी बीमारी में लिंग खड़ा होने पर एक तरफ अत्यधिक टेड़ा हो जाता है।

क्या सेक्स में संतुष्टि के लिए लिंग के साइज का कोई महत्त्व होता है?​

ज्यादातर पुरुष अपने लिंग के साइज को लेकर परेशान रहते हैं। उन्हें लगता है कि वह अपने लिंग के कम साइज के कारण, अपनी पार्टनर को पूरी तरह से संतुष्ट नहीं कर पाएंगे।

हमारे भारत में तो लिंग का साइज पुरुषों के आत्मविश्वास और मर्दानगी का प्रतीक माना जाता है।

लेकिन यह एक गलत सोच है, क्योंकि लिंग के साइज का महिलाओं को खुश करने के मामले से कोई लेना देना नहीं होता।

जहाँ तक बात है आत्मविश्वास की, तो यह पूरी तरह से आपकी मनोस्थिति पर निर्भर करता है।

महिलाओं को सम्पूर्ण सेक्स संतुष्टि देने के लिए यौन तकनीक का ज्यादा महत्त्व होता है, इसलिए आपको अपनी तकनीक पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए, न कि साइज पर।

कई पुरुषों को यह लगता है, कि लिंग के साइज का महत्त्व होता है। इसलिए इस धारणा को पूरी तरह से मिटाने के लिए, हम आपको लिंग के ऊपर हुए कई सर्वेक्षणों की जानकारी देने जा रहे हैं।

लिंग के साइज की धारणा दो बातों पर निर्भर करती है: आप अपने लिंग की साइज को कितना समझते हैं और आपको क्या लगता है कि आपके लिंग की साइज कितनी होनी चाहिए।

पढ़ें -  लिंग बड़ा करने वाली 8 दवाओं के नाम

लंदन की एक हेल्थ कंपनी ‘हेल्थ ब्रिज लिमिटेड’ के शोधकर्ताओं ने यूरोप के विभिन्न देशों के पुरुषों पर इसी प्रकार का एक सर्वेक्षण किया।

उन्होंने हर पुरुष से यह दो प्रश्न पूछे, कि “उनके लिंग का साइज कितना है?” और “उनके अनुसार उनके लिंग का साइज कितना होना चाहिए?”

फिर शोधकर्ताओं ने हर देश के पुरुषों के जबावों का औसत निकाला। औसत की टेबल नीचे दी गई है –

जैसा कि आप ऊपर दी गई टेबल में देख सकते हैं, कि लगभग हर देश में पुरुषों को लगता है, कि उनके लिंग की साइज एवरेज है, लेकिन उनको यह भी लगता है कि उनका लिंग और बड़ा होना चाहिए।

इसका मतलब यह हुआ, कि पुरुष का लिंग चाहे कितना ही बड़ा हो, वह उसे और बड़ा करना चाहता है।

यह एक यूनिवर्सल धारणा है, जो दुनिया के लगभग हर परुष में पाई जाती है।

इसी प्रकार शोधकर्ताओं ने महिलाओं से भी लिंग की साइज के बारे में कुछ सवाल पूछे।

उन्होंने महिलाओं से पूछा, कि “उनकी सेक्सुअल संतुष्टि में लिंग के साइज का कितना महत्त्व होता है?”। इस सवाल के जवाव में उनको तीन आप्शन दिए गए। इन तीन आप्शन्स को जबावों को प्रतिशत के साथ नीचे दिया गया है –

  • साइज बहुत ज्यादा मायने रखती है – 11.2% महिलाओं ने यह उत्तर दिया।
  • साइज कुछ हद तक मायने रखती है – 67.4% महिलाओं ने यह उत्तर दिया।
  • साइज का कोई महत्त्व नहीं होता – 21.4% महिलाओं ने यह उत्तर दिया।

जैसा कि आप देख सकते हैं, ज्यादातर महिलाओं को सेक्स की संतुष्टि के लिए लिंग के साइज का कुछ हद तक महत्त्व होता है। मतलब उनको लगता है, कि सिर्फ लिंग का बड़ा मोटा होना उनको सेक्स संतुष्टि देने के लिए जरूरी नहीं होता, बल्कि तकनीक भी महत्वपूर्ण है।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.