लिंग 20 प्रकार के होते हैं, और यह सभी नार्मल हैं

जैसे दुनिया का हर एक व्यक्ति अपने आप में अनूठा होता है, उसी प्रकार लिंग भी अलग-अलग साइज और शेप के पाए जाते हैं।

इसलिए अपने लिंग के आकार को बुरा नहीं समझना चाहिए।

तो चलिए जानते हैं कि अपने लिंग के प्रति अच्छा महसूस कैसे करें और इसके साथ क्या-क्या करें।

  1. ऊपर की ओर घुमावदार (Curved Upward)
  2. नीचे की ओर घुमावदार (Curved Downward)​
  3. C के आकार का (C-shapes)​
  4. सीधा (Straight)​
  5. सकरे सिर के साथ बड़ा आधार​
  6. बड़े सिर के साथ सकरा आधार​
  7. औसत लम्बाई और मोटाई से छोटा​
  8. औसत लम्बाई से छोटा लेकिन काफी मोटा​
  9. औसत लम्बाई और मोटाई​
  10. औसत लम्बाई और मोटाई से बड़ा​
  11. औसत से लम्बा लेकिन मोटाई में पतला​
  12. काला लिंग​
  13. खतना किया लिंग (Circumcised)​
  14. बिना खतना किया लिंग (Uncircumcised)​
  15. बालदार लिंग (Hairy)​
  16. चिकना लिंग​
  17. नसों से भरा लिंग​
  18. चितकबरा लिंग​
  19. शोवर लिंग (Shower Penis)​
  20. ग्रोवर लिंग (Grower Penis)​

आकार के आधार पर

सामान्य तौर पर लिंग सिलेंडर के आकार का होता है, अक्सर जिसका मुठ (सिरा) चौड़ा होता है या कम से कम ज्यादा स्पष्ट तो होता ही है।

1. ऊपर की ओर घुमावदार (Curved Upward)

ऊपर की ओर घुमावदार (Curved Upward)

केले की तरह यह लिंग ऊपर की तरफ घुमा हुआ होता है, खासतौर पर तब जब यह खड़ा होता है।

ऊपर की ओर घूमे लिंग का फायदा यह है कि यह योनि के सभी सही स्पॉट्स जैसे G-स्पॉट, A-स्पॉट और प्रोस्टेट तक आसानी से पहुँच जाता है और लड़की को फुल मज़ा देने में मदद करता है।

टिप: इस लिंग के ऊपर की ओर घुमावदार होने के कारण आप किसी भी मिशनरी सेक्स पोजीशन में अपनी पार्टनर को स्वर्ग का अनुभव करा सकते हैं। फिर चाहे वह गुदा सेक्स की क्यों न हो।

2. नीचे की ओर घुमावदार (Curved Downward)​

नीचे की ओर घुमावदार (Curved Downward)

टेड़े केले को चारों ओर पलटें तो आपको यह आकार मिल जायेगा, जिसमें आमतौर पर लिंग नीचे की तरफ घुमावदार होता है। यह घुमाव ज्यादातर लिंग खड़ा होने के दौरान दिखाई देता है।

टिप: इस प्रकार के लिंग वाला व्यक्ति यदि उल्टा होकर योनि के अंदर लिंग डाले तो लड़की को पहले वाले लिंग की तरह मज़ा मिलेगा। या फिर आप अपनी पार्टनर के पीछे से भी लिंग अंदर डाल सकते हैं। मुख्य बात यह कि योनि के ऊपर की तरफ ज्यादा घर्षण होने से लड़की को ज्यादा मज़ा आता है, क्योंकि वहाँ ज्यादा संवेदनशील पॉइंट जैसे G-स्पॉट आदि मौजूद होते हैं।

3. C के आकार का (C-shapes)

C के आकार का (C-shapes)

इस प्रकार का लिंग बाईं (left) या दाईं (right) तरफ मुड़ा हुआ होता है।

यदि सही पोजीशन में सेक्स किया जाए तो यह लिंग भी ऊपर के दो लिंगों की तरह ही लड़की को मज़ा देने में मदद कर सकता है। आप अलग-अलग एंगल को बदलकर सही सेक्स पोजीशन का पता लगा सकते हैं।

टिप: आप अपनी पार्टनर की एक टांग की जांख पर बैठकर और दूसरी टांग को अपने कंधे पर रखकर लिंग अंदर डाल सकते हैं। इस दौरान यह ध्यान रखें कि आपके लिंग का टेड़ा भाग योगी के ऊपरी भाग की तरफ हो। इस पोजीशन में ऊपर के दो लिंगों की तरह ही लड़की को फुल मजा आएगा।

4. सीधा (Straight)​

सीधा (Straight)

सीधे लिंग में अक्सर आधार से लेकर मुठ (सिरे) तक एक ही जैसा आकार होता ही।

इस लिंग में कोई भी एंगल न होने के कारण आप किसी भी सेक्स पोजीशन में बिना किसी परेशानी के इसे सीधा अंदर डाल सकते हैं।

टिप: इस लिंग से अपनी पार्टनर को फुल मजा देने के लिए उसके साथ पीछे से सेक्स करें। ऐसा करने से आपका लिंग उसकी योनि के ऊपरी भाग में ज्यादा घर्षित होगा जहाँ पर G-स्पॉट और अन्य उत्तेजित नर्व मौजूद होते हैं।

5. सकरे सिर के साथ बड़ा आधार​

सकरे सिर के साथ बड़ा आधार

यह लिंग आधार पर मोटा होता है और सिरे तक आते-आते सकरा होता चला जाता है, एक कोन (शंकु) के आकार की तरह।

अन्य लिंगों की तरह इसकी भी कुछ ख़ास खूबियाँ होती हैं। सिरा पतला होने के कारण लिंग को योनि के अंदर डालना आसान होता है, उसी प्रकार जैसे नुकीली कील आसानी से दीवार में खुस जाती है। और मोटा आधार होने के कारण आप जितना अंदर जाते हैं, आपको और आपकी पार्टनर को उतना ही ज्यादा मजा आता है।

पढ़ें -  वीर्य बढ़ाने के 3 सबसे कारगर तरीके

टिप: यदि आप दोनों पार्टनर्स गुदा सेक्स के लिए तैयार हैं तो सकरे मुठ वाला लिंग इसके लिए सबसे अच्छा विकल्प होता है। चूँकि गुदा काफी टाइट होता है और शुरुआत में गुदा सेक्स से लड़की को तकलीफ हो सकती है। लेकिन सकरे मुठ का लिंग इस तकलीफ को काफी कम कर देता है। हालाँकि गुदा सेक्स के दौरान अत्यधिक लुब्रीकेंट (चिकनाई युक्त पदार्थ) का उपयोग करना तो जरूरी ही है।

6. बड़े सिर के साथ सकरा आधार​

बड़े सिर के साथ सकरा आधार

इसे हैमर पेनिस भी कहा जाता है। यह हथौड़े की तरह काफी बड़े सिर का होता है, जो सेक्स को काफी मजेदार बना सकता है।

सिर पर अतिरिक्त मोटाई होने के कारण यह लिंग योनि (या गुदा) की दीवारों को कठोरता से घर्षित करता है, जिससे दोनों ही पार्टनर्स को काफी मजा आता है।

टिप: एक ऐसी सेक्स पोजीशन अपनाएं जो योनि को ज्यादा से ज्यादा खोल सके ताकि यह लिंग आसानी से अंदर जा सके। जैसे लड़की के दोनों पैरों को अपने दोनों कन्धों पर रखें और फिर उसकी छाती की तरफ झुककर लिंग अंदर डालें। इसके अलावा मिशनरी और काउगर्ल सेक्स पोजीशन भी इस प्रकार के लिंग के लिए अच्छी होती हैं।

लम्बाई और मोटाई की बात करें तो

लिंग सिर्फ अलग-अलग आकार के ही नहीं होते, बल्कि अलग-अलग लम्बाई और मोटाई के भी होते हैं।

आपके पास चाहे जिस भी प्रकार का लिंग हो, आप उसे ठीक से इस्तेमाल करके अपने सेक्स को मजेदार बना सकते हैं।

7. औसत लम्बाई और मोटाई से छोटा​

औसत लम्बाई और मोटाई से छोटा

कई लोगों का लिंग औसत लम्बाई और मोटाई से छोटा होता है। लेकिन इसकी छोटी साइज को आप हलके में न लें। सेक्स को गजब का बनाने के लिए लिंग का बड़ा होना जरूरी नहीं है।

टिप: यदि आप छोटे लिंग के साथ योनि में गहराई तक जाना चाहते हैं तो कुछ सेक्स पोजीशन आपकी मदद कर सकती हैं। छोटे लिंग के लिए डॉगी स्टाइल सबसे अच्छी पोजीशन होती है।

यदि आपकी पार्टनर का शरीर थोड़ा लचीला है तो पाइल ड्राइवर पोजीशन भी आपके लिए मजेदार हो सकती है। इस पोजीशन में आपकी पार्टनर पीठ के बल लेट जाती है। फिर वह अपने दोनों पैरों को उठाकर सिर के पीछे कर लेती है। ऐसा करने में आप उसकी मदद कर सकते हैं। इस दौरान उसके दोनों घुटने उसके कन्धों (या स्तनों) को टच कर रहे हों। अब आप उसके दोनों नितम्बों पर बैठ जाएँ और अपना लिंग अंदर डालें। जैसा कि हमने इस फोटो में दिखाया है –

पाइल ड्राइवर पोजीशन
पाइल ड्राइवर पोजीशन

ऐसा करने से उसकी योनि पूरी तरह खुल जाती है और आपका छोटा लिंग उसके काफी अंदर तक जा सकता है।

8. औसत लम्बाई से छोटा लेकिन काफी मोटा​

औसत लम्बाई से छोटा लेकिन काफी मोटा

कुछ लिंग लम्बाई में तो काफी छोटे होते हैं लेकिन उनकी मोटाई काफी ज्यादा होती है। यह लिंग योनि (या गुदा) की दीवारों को उत्तेजित करने में सबसे ज्यादा कारगर होते हैं।

योनि के प्रवेश बिंदु के आसपास काफी ज्यादा संवेदनशील तंत्रिकाएं होती हैं, इसलिए छोटा लिंग दोनों ही पार्टनर्स को घोड़ा पछाड़ मजा देने में काफी मदद करता है।

टिप: इस लिंग के साथ पूरी सेक्स संतुष्टि पाने के लिए डॉगी स्टाइल या पाइल ड्राइवर पोजीशन अपनाएं।

9. औसत लम्बाई और मोटाई का

औसत लम्बाई और मोटाई

बधाई हो! यदि आपके लिंग की लम्बाई और मोटाई न तो काफी ज्यादा है और न ही काफी कम तो आप कोई भी सेक्स पोजीशन में पूरा मजा ले सकते हैं।

टिप: अलग-अलग सेक्स पोसिशन्स को अपनाकर देखें और अपने लिए सबसे अच्छी पोजीशन का पता लगायें।

10. औसत लम्बाई और मोटाई से बड़ा​

औसत लम्बाई और मोटाई से बड़ा

यह वो लिंग है जिसे आपने अक्सर पॉर्न मूवीज में देखा होगा: काफी लम्बा और मोटा।

हालाँकि यह सेक्स में थोड़ा बहुत मजा दे सकता है, लेकिन यह बात भी सही है कि लड़की को इसे लेने में तकलीफ होती है।

पढ़ें -  लिंग का साइज किस उम्र तक बढ़ता है?

इस लिंग के साथ मजा लेने के लिए बहुत सारे लुब्रीकेंट की जरूरत होती है और ऐसी पोजीशन अपनानी होती है जिसपर लड़की का ज्यादा कंट्रोल हो।

टिप: सेक्स के समय बहुत सारे लुब्रीकेंट का उपयोग करें और लिंग कितना अंदर जाना चाहिए और कितनी स्पीड होनी चाहिए इसका पूरा कंट्रोल अपनी पार्टनर को दे दें। ऐसा करने के लिए आप काउगर्ल (cowgirl) या स्पूनिंग (spooning) सेक्स पोजीशन अपना सकते हैं।

काउगर्ल सेक्स पोजीशन
काउगर्ल सेक्स पोजीशन
स्पूनिंग सेक्स पोजीशन
स्पूनिंग सेक्स पोजीशन

11. औसत से लम्बा लेकिन मोटाई में पतला

औसत से लम्बा लेकिन मोटाई में पतला

इस प्रकार के लिंग को “पेंसिल” टाइप लिंग कहा जाता है। हालाँकि यह पेंसिल की तरह पतला तो नहीं होता, लेकिन औसत से काफी ज्यादा पतला होता है।

पतले लिंग से सेक्स का पूरा मजा लेने के लिए अपनी पार्टनर के पैरों को सटाकर रखने वाली सेक्स पोजीशन को अपनाएं। ऐसा करने से योनि सकरी और टाइट हो जाती है जिससे पतले लिंग में भी पूरे घर्षण का मजा आता ही। साथ ही, इससे आपका लिंग योनि के कितने अंदर जायेगा इसका पूरा कंट्रोल आपकी पार्टनर के पास चला जाता है।

टिप: इस लिंग के लिए भी स्पूनिंग सेक्स पोजीशन सबसे अच्छी होती है। पीछे से अंदर डालने से योनि टाइट हो जाती है और लिंग को भी ज्यादा लम्बाई की जरूरत होती है, इसलिए लम्बे और पतले लिंग के लिए यह पोजीशन सबसे सही बैठती है। इस पोजीशन में आप गुदा सेक्स भी कर सकते हैं और एक डिल्डो का इस्तेमाल करके अपनी पार्टनर को DP (double penetration) का मजा दे सकते हैं।

स्किन का रंग किस प्रकार से लिंग के रंग को निर्धारित करता है?

व्यक्ति का किसी भी नस्ल (या रेस) का होने के बावजूद उसके लिंग का रंग शरीर के बाकी हिस्सों से काफी अलग हो सकता है। यही बात योनि और निप्पल्स के रंग पर भी लागू होती है।

ऐसा इसलिए होता है क्योंकि मेलानोसाइट सेल्स (melanocyte cells) को हमारे सेक्स हॉर्मोन कंट्रोल करते हैं। यह स्किन के वह सेल्स होते हैं जो मेलेनिन (melanin) स्त्रावित करते हैं। मेलेनिन स्किन में पिगमेंटेशन के जरिये उसके रंग को निर्धारित करता है।

12. काला लिंग

काला लिंग
काला लिंग

पूरे जीवन भर टेस्टोस्टेरोन का लेवल बड़ा हुआ होने पर लिंग का रंग गहरा होने लगता है। यह रंग भूरा या गहरा ग्रे हो सकता है। और लिंग खड़ा होने के दौरान रक्त संचार इसे लाल या बैंगनी रंग का बना सकता है।

लिंग का कोई भी रंग पूरी तरह से सामान्य होता है, और इसका लिंग के कामकाज पर कोई प्रभाव नहीं होता।

बाल, फोरस्किन आदि

लम्बाई, मोटाई या रंग के अलावा लिंग के बाल, फोरस्किन, खतना और नसें भी उसे दूसरों से अलग बनाते हैं।

चलिए इनकी विशेषताओं के बारे में विस्तार से बातें करते हैं और जानते हैं कि इन्हें कैसे संभालना चाहिए।

13. खतना किया लिंग (Circumcised)​

खतना किया लिंग (Circumcised)

लिंग की फोरस्किन को काटकर निकाल देने की प्रक्रिया को खतना किया जाता है। इसका मतलब यह हुआ कि लिंग का मुठ (या सिरा) हमेशा बाहर रहता है, और इसे निकालने के लिए फोरस्किन को पीछे नहीं करना पड़ता।

कई लोकप्रिय संस्कृतियों (या धर्मों) में बच्चों का बचपन में ही खतना कर दिया जाता है। एक शोध के अनुसार भारत में लगभग 13.5 प्रतिशत पुरुषों का लिंग खतना किया हुआ है।

टिप: फोरस्किन के होने या न होने से सेक्स में आपके या आपकी पार्टनर के सेक्स के मजे में कोई अंतर नहीं आता। लेकिन लम्बे या रफ़ सेक्स के दौरान लुब्रीकेंट का उपयोग आपके लिंग की जलन को कम कर सकता है।

14. बिना खतना किया लिंग (Uncircumcised)​

बिना खतना किया लिंग (Uncircumcised)

बिना खतने के लिंग की फोरस्किन बरकरार होती है। बैठे लिंग के मुठ का सिर्फ थोड़ा सा हिस्सा ही दिखाई देता है, और कई मामलों में तो लिंग खड़ा होने पर भी फोरस्किन मुठ पर चढ़ी हुई होती है।

टिप: हस्तमैथुन या पार्टनर के द्वारा लिंग को हाथ से हिलाने में फोरस्किन काफी मदद करती है। लिंग का मुठ काफी सेंसिटिव होता है, इसलिए उसपर बार-बार कठोर हाथों से घर्षण करने पर उसको नुकसान पहुँच सकता है। लेकिन फोरस्किन होने के कारण ऐसी नौवत ही नहीं आती।

पढ़ें -  क्या लिंग बड़ा करने वाली तकनीकें वास्तव में काम करती हैं

15. बालदार लिंग (Hairy)​

बालदार लिंग (Hairy)

लगभग हर पुरुष के लिंग के आधार और अंडकोषों पर घने बालों का गुच्छा होता है, जबतक कि इन्हें शेव न कर लिया जाये। आपने कभी अपने लिंग की शाफ़्ट पर भी थोड़े-बहुत बालों को नोटिस किया होगा। यह सब होना काफी अच्छी बात है। कुछ लड़कियों को लिंग के आसपास के बाल या कम से कम थोड़े-बहुत बाल पसंद होते हैं।

टिप: यदि आप इन प्राकृतिक बालों को अपने लिंग के पास रखना चाहते हैं तो इन्हें हमेशा साफ़ और फ्रेश रखना न भूलें। यदि आपको या आपकी पार्टनर को ट्रिम या कुछ बाल रहित क्षेत्र पसंद हैं, तो इन्हें साफ़ करने के दौरान सावधानी बरतें।

16. चिकना लिंग​

चिकना लिंग

कुछ लिंग बिना किसी नस या दरदरेपन के बिलकुल चिकने होते हैं, जिससे इसे योनि के अंदर डालना काफी सिल्की स्मूथ होता है।

टिप: यदि आप अपने लिंग की इस अतिरिक्त चिकनाहट से परेशान हैं तो डॉटेड कंडोम या कॉक रिंग का इस्तेमाल करके अपने सेक्स अनुभव को बदलें।

17. नसों से भरा लिंग​

नसों से भरा लिंग

कुछ लिंगों के ऊपर नसों की भरमार होती है जो उसे काफी ऊबड़-खाबड़ बना देती हैं, खासतौर से तब जब लिंग खड़ा होता है।

लिंग पर नसें होना जेनेटिक कारणों से होता है और इसका लिंग की मांसपेशियों या सेक्स पर कोई बुरा असर नहीं पड़ता।

टिप: नसों वाले लिंग से सेक्स के घर्षण के दौरान काफी ज्यादा उत्तेजना उत्पन्न होती है जिससे वीर्य जल्दी गिर सकता है और लम्बे समय तक सेक्स करने में समस्या आ सकती है। इससे बचने के लिए चिकने कंडोम और लुब्रीकेंट का इस्तेमाल करें।

18. चितकबरा लिंग​

चितकबरा लिंग

कुछ लिंगों पर पिगमेंटेशन के कारण चितकबरे धब्बे पड़ जाते हैं। यह पूरी तरह से सौंदर्यात्मक होते हैं और लिंग के कामकाज पर इनका कोई प्रभाव नहीं पड़ता।

टिप: स्किन के किसी भी हिस्से पर पिगमेंटेशन होना पूरी तरह से सामान्य होता है। लेकिन यदि आपको या आपकी पार्टनर को इन धब्बों को लेकर चिंता है तो कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लें।

19.शोवर लिंग (Shower Penis)

शावर लिंग (Shower Penis)

शावर उस लिंग को कहा जाता है जो खड़े और बैठी हुई अवस्था में लगभग एक ही साइज का होता है।

विशेषज्ञों को नहीं पता कि ऐसा क्यों होता है, लेकिन एक शोध के अनुसार लिंग की ऐसी स्थिति होना अपेक्षाकृत सामान्य प्रतीत होता है।

टिप: इस लिंग के साथ आप सामान्य की तरह ही जैसे चाहें वैसे सेक्स कर सकते हैं।

20. ग्रोवर लिंग (Grower Penis)​

ग्रोवर लिंग (Grower Penis)

ज्यादातर लिंग ग्रोवर होते हैं, जिसका मतलब है वो खड़े होने पर बड़े हो हो जाते हैं।

टिप: इस लिंग में भी आप जैसे चाहे वैसे सेक्स कर सकते हैं।

निष्कर्ष

कोई भी एक प्रकार का लिंग दूसरे प्रकार से बेहतर नहीं होता। इसलिए इसकी दिखावट के बजाय उस आनंद पर ध्यान केंद्रित करने की कोशिश करें जिसमें देने में आपका लिंग सक्षम है।

हालाँकि, लिंग में आने वाले कोई भी असामान्य बदलावों पर नजर रखना आवश्यक जरूरी है।

यदि आपको या आपकी पार्टनर को लिंग पर अचानक कोई गांठ या रंग में बदलाव दिखाई दे तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। यह एसटीडी (सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिजीज), चोट या किसी अन्य हेल्थ प्रॉब्लम के शुरुआती लक्षण हो सकते हैं।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.