लिंग को कठोर करने के 7 घरेलू उपाय

लिंग की कठोरता में कमी तब आती जब व्यक्ति को अपना लिंग पूरा खड़ा करने या लम्बे समय तक खड़ा बनाये रखने में समस्या आती है।

आमतौर पर लिंग की कठोरता में कमी अस्थायी होती है, जिसके निम्न कारक हो सकते हैं:

  • चिंता या डिप्रेशन
  • रिश्तों में तनाव
  • आत्मसम्मान में कमी या अपनी साथी को पूर्ण संतुष्ट न कर पाने का डर

2016 में हुए एक शोध के अनुसार लिंग में ढीलेपन और नसों में कमजोरी होने का कारण मनोवैज्ञानिक और शारीरिक हो सकता है।

इसके शारीरिक कारक निम्न समस्याओं से सम्बंधित हो सकते हैं:

  • हॉर्मोन में गड़बड़ी
  • रक्त संचार में कमी
  • तंत्रिका तंत्र में समस्या
  • लिंग में चोट या सर्जरी के कारण

डायबिटीज, मोटापा, दिल की बीमारी या अन्य बीमारी से ग्रसित पुरुषों में लिंग की कठोरता में कमी आने की सम्भावना ज्यादा होती है। तनाव, चिंता और डिप्रेशन भी स्थिति को और ज्यादा बिगाड़ सकते हैं।

कारकों के आधार पर लिंग की कठोरता की कमी के विभिन्न उपचार उपलब्ध हैं। आपका डॉक्टर आपको निम्न उपचार दे सकता है:

  • मेडिकल दवाएं जैसे वियाग्रा, सियालिस और लेविट्रा
  • टेस्टोस्टेरोन रिप्लेसमेंट थेरेपी
  • लिंग में कोई भी रक्त की रूकावट को रोकने या प्रत्यारोपण लगाने के लिए सर्जरी
  • काउंसिलिंग

हालाँकि अपनी जीवनशैली में सुधार लाकर और कुछ खाद्य पदार्थों का नियमित सेवन करके भी लिंग की कठोरता को बढ़ाया जा सकता है।

  1. खानपान और जीवनशैली
  2. फ्लेवोनोइड्स
  3. पिस्ता
  4. तरबूज
  5. कॉफी
  6. शराब और धूम्रपान
  7. हर्बल सप्लीमेंट

खानपान और जीवनशैली

अपने आहार, व्यायाम, धूम्रपान और शराब के सेवन में कुछ स्वस्थ बदलाव लाकर आप उन विकासशील स्थितियों के जोखिम को कम कर सकते हैं, जो लिंग की कठोरता में कमी ला सकती हैं, जैसे मोटापा और दिल की बीमारी।

इससे आपके समग्र स्वास्थ्य को बढ़ावा देने और तनाव के स्तर को कम करने में भी मदद मिल सकती है, जिससे आपके समग्र यौन स्वास्थ्य में एक सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।

कुछ स्वस्थ जीवन शैली की आदतें जो आपके लिंग को कठोर बनाने में मदद कर सकती हैं, वो निम्न हैं:

  • नियमित एक्सरसाइज करना
  • विविध और पौष्टिक तत्वों से युक्त भोजन का सेवन
  • वजन को नियंत्रण में रखना
  • शराब का सेवन कम करना और तम्बाखू के सेवन से बचना
  • अपनी साथी के साथ अंतरंग समय बिताना, जिसमें सेक्स शामिल न हो

कई शोधों ने लिंग की कठोरता और आहार के बीच एक गहरा संबंध पाया है।

2018 में प्रकाशित एक शोध समीक्षा ने निष्कर्ष निकाला कि:

  • नियमित रूप से हरी सब्जियों, फलों और जैतून तेल का सेवन करने वाले पुरुषों में लिंग की समस्याएं कम थीं
  • मोटापे या अधिक वजन से ग्रसित पुरुषों द्वारा वजन घटाने से उनके लिंग की कठोरता में सुधार आया
  • जो पुरुष तले भुने और फ़ास्ट फूड्स का ज्यादा सेवन करते हैं, उनके वीर्य की गुणवत्ता में कमी पाई गई

इसलिए नियमित रूप से ताजा सब्जियों, फलों, दालों व नट्स का सेवन करें और अत्यधिक तले-भुने तेलीय भोजन से परहेज करें।

फ्लेवोनोइड्स

फ्लेवोनोइड्स कुछ प्राकृतिक पदार्थों का एक समूह होते हैं, जो फल, सब्जियों, अनाज, छाल, जड़, तना, फूल, चाय और शराब में पाए जाते हैं। ये प्राकृतिक उत्पाद स्वास्थ्य पर अपने लाभकारी प्रभावों के लिए जाने जाते हैं।

कुछ शोधों से पता चलता है कि फ्लेवोनोइड्स से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन करने से लिंग में कमजोरी आने का जोखिम कम होता है।

2018 में 18-40 आयु वर्ग के पुरुषों के आंकड़ों के एक शोध में जिन लोगों ने प्रति दिन 50 मिलीग्राम या अधिक फ्लेवोनोइड्स का सेवन किया, उनमें लिंग कठोर न होने की संभावना 32% कम थी।

फ्लेवोनोइड्स कई प्रकार के होते हैं, लेकिन झारखंड राँची के बिरला इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में हुए एक शोध के अनुसार, निम्न खाद्य पदार्थों में पाए जाने वाले फ्लेवोनोइड्स लिंग के लिए ज्यादा फायदेमंद होते हैं:

  • कोको और डार्क चॉकलेट
  • ताजा फल और सब्जियाँ
  • नट्स, दालें और साबुत अनाज
  • चाय पत्ती
  • वाइन

फ्लेवोनोइड्स लिंग में रक्त के प्रवाह और रक्त में नाइट्रिक ऑक्साइड की सांद्रता को बढ़ाते हैं। ये दोनों कारक ही लिंग को कठोर करने और बनाए रखने में अहम भूमिका निभाते हैं।

पिस्ता

यह स्वादिष्ट हरा अखरोट एक बेहतरीन शाम का नाश्ता होने से भी ज्यादा बहुत कुछ हो सकता है।

2011 के एक शोध में, कम से कम 1 वर्ष से लिंग के ढीलेपन और नामर्दी से पीड़ित 17 पुरुषों ने 3 सप्ताह तक प्रति दिन 100 ग्राम पिस्ता खाया। शोध के अंत में, उनमें निम्न सुधार दर्ज किये गए:

  • लिंग के कड़कपन और खड़ा होने की क्षमता में सुधार
  • कोलेस्ट्रॉल के स्तर में सुधार
  • ब्लड प्रेशर में सुधार

पिस्ता में प्राकृतिक प्रोटीन, फाइबर, एंटीऑक्सिडेंट और स्वस्थ वसा होता है। ये दिल के स्वास्थ्य और नाइट्रिक ऑक्साइड के उत्पादन में काफी फायदेमंद होते हैं।

तरबूज

तरबूज में लाइकोपीन नामक पदार्थ पाया जाता है, जिसके कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं।

2012 के एक शोध में, लाइकोपीन ने डायबिटीज से पीड़ित चूहों के सेक्स परफॉरमेंस में सुधार किया, जिससे शोधकर्ताओं ने निष्कर्ष निकाला कि यह लिंग की कमजोरी के उपचार में सहायता कर सकता है।

लाइकोपीन के अन्य स्रोत निम्न हैं:

  • टमाटर
  • चकोतरा
  • पपीता
  • लाल मिर्च

तरबूज में एल-सिट्रुलिन (L-citrulline) एमिनो एसिड भी पाया जाता है, जो रक्त वाहिकाओं को आराम देने और रक्त प्रवाह में सुधार करने में मदद करता है।

2018 के एक शोध में, वैज्ञानिकों ने ऐसे सबूत पाए कि एल-सिट्रुलिन (L-citrulline) को किसी PDE5 अवरोधक (जैसे वियाग्रा) के साथ लेने से, उन लोगों के लिंग को कठोर बनाने में मदद मिल सकती है, जिनको आम उपचारों से फायदा नहीं मिलता।

कॉफी

कॉफी में अत्यधिक मात्रा में कैफीन पदार्थ पाया जाता है।

2015 में, शोधकर्ताओं ने कैफीन और लिंग के कामकाज में संबंध का पता लगाने के लिए 3,724 पुरुषों के डेटा का विश्लेषण किया। परिणामों से पता चला कि कम कैफीन का सेवन करने वाले पुरुषों में लिंग की कमजोरी होने की संभावना अधिक थी।

हालाँकि कैफीन लिंग पर किस प्रकार से काम करता है इसका अभी तक पता नहीं चला है, लेकिन शोध के परिणाम सुझाव देते हैं कि कैफीन का लिंग पर सुरक्षात्मक प्रभाव पड़ता है।

शराब और धूम्रपान

2018 के एक शोध में शराब पर निर्भर रहने वाले 84 पुरुषों में से 25% पुरुषों में नामर्दी, लिंग की शिथिलता, शीघ्रपतन और सेक्स में पूर्ण संतुष्टि न मिल पाने की समस्या पाई गई।

हालाँकि, एक अन्य शोध जो 1,54,295 पुरुषों पर किया गया था, उसमें पाया गया कि शराब का सीमित मात्रा में सेवन करने से यह लिंग को कठोर बनाने और नामर्दी दूर करने में मदद कर सकती है।

2010 में, 816 लोगों पर हुए एक शोध में पाया गया कि जो लोग एक हफ्ते में दो से ज्यादा बार शराब पीते हैं और धूम्रपान करते हैं, उनमें कम शराब पीने वालों की तुलना में लिंग कमजोर होने की संभावना अधिक होती है।

एक शोध समीक्षा लेख में कहा गया है कि 40 साल की उम्र के बाद 50% से अधिक पुरुषों में कुछ स्तर तक नामर्दी होना शुरू हो जाती है, लेकिन धूम्रपान करने वाले पुरुषों में यह समस्या जल्दी शुरू हो जाती है और काफी तेजी से बढ़ती है।

लेखकों का कहना है कि ऐसा शायद इसलिए हो सकता है क्योंकि धूम्रपान रक्त संचार प्रणाली को नुकसान पहुँचा सकता है, जिससे लिंग के रक्तसंचार में रुकावट आ सकती है।

हर्बल सप्लीमेंट

कुछ शोधों के अनुसार निम्न हर्बल सप्लीमेंट लिंग को कठोर बनाने में मददगार हो सकते हैं:

DHEA

DHEA एक “हार्मोन” है जो स्वाभाविक रूप से शरीर में किडनी के पास मौजूद एड्रेनल ग्लैंड और लिवर द्वारा बनाया जाता है। यह एक अग्रगामी हॉर्मोन होता है, जो बाद में शरीर के मुख्य सेक्स हॉर्मोंस में बदल जाता है।

शरीर में इसकी कमी होने पर व्यक्ति को सेक्स इच्छा में कमी और लिंग कठोर न होने की समस्या हो सकती है।

शरीर में इसकी कमी को दूर करने के लिए बाजार में DHEA हर्बल सप्लीमेंट उपलब्ध हैं।

क्लीनिकल शोधों से पता चला है कि DHEA के मौखिक सप्लीमेंट व्यक्ति के टेस्टोस्टेरोन के स्तर, कामेच्छा, लिंग की कठोरता और यौन संतुष्टि में वृद्धि करते हैं।

जिनसेंग

जिनसेंग शरीर में प्राकृतिक रूप से नाइट्रिक ऑक्साइड का स्तर बढ़ाता है, जो लिंग की मांसपेशियों को आराम देता है और रक्त प्रवाह को बढ़ावा देता है।

2008 में हुई एक शोध समीक्षा में जिनसेंग को सेक्स अंगों के कामकाज में सुधार करने में फायदेमंद पाया गया है।

एक अन्य शोध में 119 इरेक्टाइल डिसफंक्शन से पीड़ित पुरुषों पर जिनसेंग के प्रभावों पर शोध किया गया। इसमें लगातार 8 हफ़्तों तक आधे प्रतिभागियों को रोज दिन में चार बार 350 मिलीग्राम लाल जिनसेंग दिया गया और बाकि के आधे प्रतिभागियों को प्लेसिबो (नकली दवा) दिया गया।

शोध के अंत में, शोधकर्ताओं ने पाया कि लाल जिनसेंग लेने वाले प्रतिभागियों के शीघ्रपतनलिंग के ढीलेपन की समस्या कम हो गई और यौन प्रदर्शन में सुधार हुआ।

प्रोपियोनील-एल-कार्निटाइन (propionyl-L-carnitine)

प्रोपियोनील-एल-कार्निटाइन एक केमिकल होता है, जो शरीर में प्राकृतिक रूप से बनता है। यह शरीर को ऊर्जा पैदा करने में मदद करता है।

यह दिल के कामकाज, मांसपेशियों की गति और सेक्स अंगों की प्रक्रियाओं के लिए महत्वपूर्ण होता है। यह रक्तसंचार बढ़ाने में भी मदद करता है।

डॉक्टर्स के अनुसार टेस्टोस्टेरोन की कमी के कारण आई लिंग की कमजोरी में लगातार छः महीनों तक प्रोपियोनील-एल-कार्निटाइन की दवा का सेवन करने से फायदा मिल सकता है।

निष्कर्ष

लिंग की कठोरता में कमी कई पुरुषों को प्रभावित करती है, खासतौर से 40 साल से अधिक उम्र के पुरुषों में। हालाँकि आजकल जवान पुरुषों में भी यह समस्या होना आम है।

इसके कई कारण हो सकते हैं, और एक डॉक्टर विभिन्न जांचों के जरिये यह पता लगाने में आपकी मदद कर सकता है कि आपका लिंग कठोर क्यों नहीं हो रहा है।

ऊपर बताये गए विभिन्न घरेलू उपाय आपको इस समस्या से जल्दी उभरने में मदद कर सकते हैं।

एक स्वस्थ, संतुलित आहार लेने के साथ-साथ व्यायाम करने से न सिर्फ आपको अपने संपूर्ण स्वास्थ्य और तंदुरुस्ती को बनाए रखने में मदद मिलेगी। बल्कि यह एक स्वस्थ यौन जीवन और लिंग को कठोर बनाये रखने में भी योगदान दे सकता है।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.