लिंग बड़ा करने वाली 8 बेस्ट एक्सरसाइज

क्या आपको लगता है, कि आपका लिंग जितना बड़ा होगा, सेक्स भी उतना ही बेहतर होगा।

तो मैं यही कहूँगा, कि आपकी बात 100% सही है।

लिंग बड़ा होने से, आप सेक्स के समय अपने आप को ज्यादा आत्मविश्वासी महसूस करता है।

यह बात भी सच है, कि ज्यादातर महिलाओं को मोटा लम्बा लिंग पसंद होता है।

तो अब बात आती है कि लिंग को मोटा लम्बा करे कैसे?

लिंग मोटा लंबा करने के कई तरीके हैं, जिनमें लिंग की एक्सरसाइज भी एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं।

नीचे हमने 8 सबसे कारगर और प्राकृतिक लिंग वर्धक एक्सरसाइज की जानकारी दी है, जिनको नियमित रूप से करने पर न सिर्फ आपके लिंग को बढ़ाने में मदद मिलेगी, बल्कि आपका सेक्स टाइम भी बढ़ेगा और आप अपनी पार्टनर को पूर्ण संतुष्ट कर पाएंगे।

और इनकी सबसे अच्छी बात यह है, कि इन्हें करना काफी आसान है और रोज बस 10-15 मिनट ही करना होता है।

तो चलिए इन एक्सरसाइज को स्टेप बाय स्टेप जानते हैं –

  1. अल्टीमेट स्ट्रेचर (Ultimate Stretcher)
  2. थंब स्ट्रेचर (Thumb Stretcher)
  3. बैकवर्ड पुलर (BACKWARD PULLER)
  4. अपोजिट स्ट्रेच (OPPOSITE STRETCH)
  5. केगेल एक्सरसाइज (Kegel Exercise)
  6. वेट जेलकिंग (Wet Jelqing)
  7. रोटेटिंग स्ट्रेच (Rotating Stretch)
  8. वेट-लिफ्टर (Weight-Lifter)

अल्टीमेट स्ट्रेचर (Ultimate Stretcher)

काम : लिंग की लंबाई बढ़ाना
कठिनाई स्तर : नौसिखिया
घायल होने का खतरा : कम
समय की आवश्यकता : 5 से 10 मिनट

अल्टीमेट स्ट्रेचर एक्सरसाइज उन लोगों के लिए काफी फायदेमंद होती है, जो अपने लिंग की लंबाई को बढ़ाना चाहते हैं।

साथ ही, यह एक्सरसाइज लिंग का टेढ़ापन और ढीलापन दूर करने में भी मदद करती है।

एक्सरसाइज करने का तरीका​

स्टेप 1 – लिंग को वार्मअप करके फोरस्किन को पीछे खींचें​

अल्टीमेट स्ट्रेचर स्टेप 1
  • सबसे पहले रिलैक्स हो जाएँ और अपने शरीर को वार्म अप कर लें।
  • अब अपने लिंग की फोरस्किन को पीछे करें और लिंग के उभरे हुए सिरे को एक हाथ से पीछे से पकड़ें (लगभग एक इंच पीछे की तरफ से)।
  • इसे थोड़ा सा कसकर पकड़ें, लेकिन अत्यधिक कसकर न पकड़ें क्योंकि ऐसा करने से आपको दर्द होगा और लिंग के रक्त संचार में रूकावट आयेगी।

स्टेप 2 – लिंग को आगे की तरफ खींचकर होल्ड करें​

अल्टीमेट स्ट्रेचर स्टेप 2
  • अब अपने लिंग को बाहर की तरफ बिना दर्द की हद तक खीचें (मतलब इसे उस हद तक खीचें जहाँ तक आपको अपने लिंग में दर्द न हो)।
  • इस अवस्था को 20 से 30 सेकंड्स के लिए होल्ड करें और फिर लिंग को पीछे ले आयें।
  • इसके बाद 5 सेकंड का रेस्ट लें और फिर इसे दोबारा करें। ऐसा कम से कम दो बार करें।

स्टेप 3 – लिंग को पीछे, ऊपर, नीचे, दायें और बायें तरफ खींचें​

अल्टीमेट स्ट्रेचर स्टेप 3
  • तीसरी व चौथी बार में लिंग को अपने पेट की तरफ ऊपर खीचें और पांचवी व छटवी बार में लिंग को अपने घुटनों की तरफ नीचे खीचें।
  • सातवी व आठवी बार लिंग को दायें तरफ और नौवी व दसवी बार लिंग को बाएं तरफ खीचें।
  • एक बार में इस एक्सरसाइज को दस बार करें। हर डायरेक्शन में दो-दो बार। जैसा कि ऊपर बताया गया है, सीधे, ऊपर, नीचे, दाएँ और बाएँ डायरेक्शन में दो-दो बार करें।

इस लिंग वर्धक एक्सरसाइज को हर रोज एक बार करें।

अतिरिक्त टिप्स:

  • यह एक्सरसाइज लिंग की लंबाई बढ़ाने में मदद करती है।
  • एक्सरसाइज करने से पहले अपने लिंग को 20% से 30% तक खड़ा कर लें।
  • एक्सरसाइज के दौरान आप बीच-बीच में रेस्ट भी ले सकते हैं।

इस एक्सरसाइज से सम्बंधित वीडियो

Enlarge Penis Naturally - Penis Enlargement Exercise Review

थंब स्ट्रेचर (Thumb Stretcher)

काम : लिंग की लंबाई बढ़ाना
कठिनाई स्तर : उन्नत
घायल होने का खतरा : मध्यम
समय की आवश्यकता : 2 से 3 मिनट

लिंग बड़ा करने के लिए थंब स्ट्रेचर, अल्टीमेट स्ट्रेचर से थोड़ी अलग और अधिक उन्नत तकनीक है।

एक्सरसाइज करने का तरीका​

स्टेप 1 – फोरस्किन को पीछे करके, फोरहेड को पीछे से पकड़ें और बाहर की तरफ स्ट्रेच करें​

थंब स्ट्रेचर स्टेप 1
  • सबसे पहले रिलैक्स हो जाएँ और अपने आप को वार्म अप कर लें।
  • अब अपने लिंग की फोरस्किन को पीछे कर लें और अपनी हथेली से लिंग के उभरे सिरे (फोरहेड) को पीछे से पकड़ लें।
  • अब अपने लिंग को सीधा बाहर की तरफ जितना हो सके उतना स्ट्रेच करें। इस दौरान ध्यान रखें कि आपके लिंग में दर्द न हो।

स्टेप 2 – दूसरे हाथ के अंगूठे (थंब) से लिंग के आधार पर दबाव डालें​

थंब स्ट्रेचर स्टेप 2
  • अब अपने दूसरे हाथ के अंगूठे को लिंग की शाफ्ट के आधार के ऊपरी हिस्से पर रखकर, नीचे की तरफ दबाएँ। ध्यान रहे, इस दौरान आपका पहला हाथ लिंग को बाहर की तरफ स्ट्रेच करता रहना चाहिए। इस पोजीशन को 20 से 30 सेकंड्स के लिए होल्ड करें।

स्टेप 3 – इन दोनों दबावों को जितना हो सके उतना जोर से करें​

थंब स्ट्रेचर स्टेप 3
  • आपको अपने लिंग को दोनों डायरेक्शन (आगे की ओर स्ट्रेच और नीचे की ओर दबाव) को जितना हो सके उतना जोर से दबाना है।
  • जरूरत पड़ने पर बीच-बीच में 5 सेकंड्स का रेस्ट लेते रहें।
  • इस एक्सरसाइज को 2 से 7 बार रिपीट करें, लेकिन हर बार अपने अंगूठे से दबाने वाले स्थान को बदलते रहें।

ध्यान रखें

  • इस एक्सरसाइज को करने के दौरान, लिंग को 20 से 30% तक खड़ा कर लें।
  • अंगूठे से लिंग की दबाने की जगह को हर बार बदलते रहें।

बैकवर्ड पुलर (BACKWARD PULLER)

काम : लिंग की लंबाई और स्किन बढ़ाना
कठिनाई स्तर : नौसिखिया
घायल होने का खतरा : मध्यम
समय की आवश्यकता : 2 से 3 मिनट

एक्सरसाइज करने का तरीका​

स्टेप 1 – फोरस्किन पीछे करें और दोनों हाथों के अंगूठे को फोरहेड के पीछे रखें​

बैकवर्ड पुलर स्टेप 1
  • सबसे पहले रिलैक्स होकर वार्म अप कर लें।
  • फिर अपने लिंग की फोरस्किन को पीछे कर लें।
  • अब अपने दोनों हाथों के अंगूठों को लिंग के फोरहेड (उभरे हुए हिस्से) के लगभग एक इंच पीछे रख दें, जैसा कि चित्र में दिखाया गया है।

स्टेप 2 – दोनों हाथों की उँगलियों को लिंग के निचले हिस्से पर रखें​

बैकवर्ड पुलर स्टेप 2

अपनी दोनों हाथों की उंगलिओं को लिंग के निछले हिस्से पर रख दें, ताकि दबाव डालते समय आधार मिले।

स्टेप 3 – अंगूठों से लिंग को पीछे की तरफ पुल करें​

बैकवर्ड पुलर स्टेप 3
  • अपने दोनों हाथों के अंगूठों से लिंग को अपने शरीर की तरफ पुल करें। इसको उस हद तक जोर लगाकर दबाएँ जिस हद तक आपके लिंग में दर्द न हो।
  • इस पोजीशन को 15-25 सेकंड्स के लिए होल्ड करें और फिर वापस नार्मल स्थिति में आ जाएँ।
  • अब 5 सेकंड्स का रेस्ट लें और फिर दोबारा इसे करें।
  • इस प्रक्रिया को एक बार में कम से कम 7 से 10 बार करें।

नोट – हालाँकि, इस एक्सरसाइज को अकेले करने पर यह लिंग को बढ़ाने में ज्यादा मदद नहीं करती, लेकिन इसको अन्य एक्सरसाइज के साथ करने से लिंग को एक्स्ट्रा खिंचाव मिलता है।

अपोजिट स्ट्रेच (OPPOSITE STRETCH)

काम : लिंग की लंबाई बढ़ाना
कठिनाई स्तर : नौसिखिया
घायल होने का खतरा : कम
समय की आवश्यकता : 3 से 5 मिनट

अपोजिट स्ट्रेच एक्सरसाइज करने का तरीका​

स्टेप 1 – वार्मअप करके फोरस्किन पीछे कर लें और पीछे से पकड़कर आगे की तरफ स्ट्रेच करें​

अपोजिट स्ट्रेच स्टेप 1
  • वार्म करने के बाद अपने लिंग की फोरस्किन को पीछे कर लें और मुंड के पीछे से लिंग को पकड़ लें।
  • ध्यान रखें, लिंग को इतना कसकर न पकड़ें कि उसका रक्त संचार रुक जाए।
  • अब अपने लिंग को सामने की तरफ स्ट्रेच करें। इस दौरान आपको लिंग में दर्द महसूस नहीं होना चाहिए।

स्टेप 2 – दूसरे हाथ में ओके ग्रिप बनाकर लिंग की शाफ्ट पकड़ें​

अपोजिट स्ट्रेच स्टेप 2

अपने दूसरे हाथ में “ओके ग्रिप” बनाकर लिंग की शाफ्ट को पकड़ लें। इसे बेस से एक इंच बाहर की ओर पकड़ें।

स्टेप 3 – पहले हाथ से लिंग को आगे स्ट्रेच करें और दूसरे हाथ से पीछे​

अपोजिट स्ट्रेच स्टेप 3
  • अपने पहले हाथ से लिंग को आगे की तरफ स्ट्रेच करें और दूसरे हाथ से पीछे अपने शरीर की तरफ स्ट्रेच करें।
  • स्ट्रेच करने के दौरान आपके लिंग की शाफ़्ट में दर्द नहीं होना चाहिए।
  • इस अपोजिट स्ट्रेच को आपको 20 से 30 सेकंड्स के लिए होल्ड करना है।
  • इस एक्सरसाइज को 2 से 7 बार रिपीट करें। जरुरत अनुसार आप बीच-बीच में रेस्ट भी ले सकते हैं।

केगेल एक्सरसाइज (Kegel Exercise)

काम : इरेक्शन टाइम बढ़ाना और लिंग में ज्यादा रक्त रोके रखकर उसे बड़ा करना
कठिनाई स्तर : नौसिखिया
घायल होने का खतरा : बिलकुल नहीं
समय की आवश्यकता : 20 से 30 मिनट

यह काफी प्रसिद्ध तथ्य है, कि केगेल एक्सरसाइज महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए कई तरीकों से फायदेमंद होती है।

लेकिन आपको शायद ही यह पता हो, कि यह एक्सरसाइज पुरुषों में रक्त संचार और इरेक्शन टाइम बढ़ाने में भी काफी लाभदायक होती है।

केगेल एक्सरसाइज, लिंग के पिछले हिस्से में मौजूद पेल्विक फ्लोर माँसपेशियों को मजबूत बनाती है।

इन माँसपेशियों का मुख्य काम पेशाब और मल को अंदर रोके रखना होता है और सेक्स के दौरान यह रक्त को लिंग के अंदर और वीर्य को अंडकोषों में रोके रखने में मदद करती हैं।

मतलब, यदि आप इन माँसपेशियों पर कंट्रोल पा लें, तो सेक्स के दौरान लिंग में रक्त को रोके रख सकते हैं।

जिससे उसमें ज्यादा रक्त भरता चला जाता है और वह ज्यादा लम्बा मोटा हो जाता है।

साथ ही, इनके जरिये आप अपने वीर्य को लंबे समय तक रोके रख सकते हैं, जिससे सेक्स टाइम बढ़ता है।

एक्सरसाइज करने का तरीका​

सिर्फ अपनी पेल्विक फ्लोर मांसपेशियों को मजबूत करके भी, आप अपने लिंग को बड़ा कर सकते हैं। इसके लिए आपको सिर्फ नीचे दी गई स्टेप्स को फॉलो करना है –

  1. सबसे पहले आपको अपनी पेल्विक फ्लोर मांसपेशियों का पता लगाना है।
  2. इन माँसपेशियों का पता लगाने का सबसे आसान तरीका होता है, जब आपको तेज पेशाब लगे, तो जिन माँसपेशियों के जरिये आप इसे रोके रखते हैं, उनका अनुभव करें, यही आपकी पेल्विक फ्लोर माँसपेशियाँ है।
  3. अब आपको इन मांसपेशियों को कॉन्ट्रैक्ट करने (सिकोड़कर ढीला छोड़ने) की प्रैक्टिस करना है।
  4. सबसे पहले, आप इन मांसपेशियों को सिकोड़ें और फिर 5 सेकंड्स के लिए होल्ड करें।
  5. अब इन्हें ढीला छोड़ दें और 2 सेकंड का रेस्ट लें। और फिर से इन्हें सिकोड़ें।
  6. इस प्रक्रिया को रोज कम से कम 20-30 मिनट तक रिपीट करते रहें।

इस एक्सरसाइज की सबसे बड़ी ख़ास बात यह है, कि आप बिना किसी की नजर में आये, इसे जब चाहे और जहाँ चाहे प्रैक्टिस कर सकते हैं।

जैसे, आप इसे अपने ऑफिस में काम करते हुए भी प्रैक्टिस कर सकते हैं।

जैसे-जैसे आप इस एक्सरसाइज को करते जायेंगे, वैसे-वैसे आप इन माँसपेशियों को कंट्रोल करने में सक्षम होते जायेंगे।

और एक दिन ऐसा आयेगा, जब इनपर आपका पूरा कंट्रोल होगा और आप जब चाहे और जितना चाहे अपने वीर्य और रक्त को रोक पाएंगे।

लेकिन इसमें एक्सपर्ट होने के लिए, आपको इस एक्सरसाइज को नियमित रूप से करना होगा और पर्याप्त समय देना होगा।

केगेल एक्सरसाइज से सम्बंधित वीडियो​

कीगल एक्सरसाइज कैसे करे | Kegel Exercises How to Do (Hindi)
कीगल एक्सरसाइज (Kegel) क्या है? शीघ्रपतन और लिंग के तनाव में इसके क्या फ़ायदे है ? - Dr. Imran Khan

वेट जेलकिंग (Wet Jelqing)

काम : लिंग की लंबाई और मोटाई बढ़ाना
कठिनाई स्तर : नौसिखिया
घायल होने का खतरा : कम
समय की आवश्यकता : 1+ मिनट

एक्सरसाइज करने का तरीका​

स्टेप 1 – लिंग को वार्मअप करके तेल लगाएँ और राइट हैंड में ओके ग्रिप बनाकर लिंग के आधार को पकड़ें​

वेट जेलकिंग स्टेप 1
  1. अपने आप को वार्म अप करने का पूरा समय लें।
  2. फिर अपने हाथों और पूरे लिंग में अच्छी तरह से लगाएं। लिंग बड़ा करने में कुछ तेल भी मददगार होते हैं, आप अपनी सुविधा अनुसार कोई भी चुन सकते हैं।
  3. अब अपने लिंग को आधा खड़ा कर लें।
  4. फिर अपने दाएं हाथ (राइट हैंड) के अंगूठे और ऊँगली को जोड़कर “ओके” ग्रिप बना लें और लिंग के बेस को पकड़ लें। इस ग्रिप को लिंग के आधार के जितना अंदर हो सके उतना अंदर पकड़ें।
  5. अब इस ग्रिप को टाइट कर लें, जिससे लिंग में रक्त रुक जाए।

स्टेप 2 – ओके ग्रिप को लिंग के सिरे की तरफ प्रेशर के साथ स्लाइड करें​

वेट जेलकिंग स्टेप 2
  • अब अपनी ग्रिप को धीरे-धीरे लिंग के सिरे की तरफ प्रेशर के साथ स्लाइड करें।
  • आपको अपनी स्लाइड को लिंग के सिरे के जस्ट पीछे तक ले जाना है।
  • ऐसा करने से, लिंग में फँसा रक्त उसके सिरे की तरफ भरने लगेगा और उसकी नसों में मौजूद कोई भी रुकावटें साफ हो जाएँगी।

स्टेप 3 – ओके ग्रिप होल्ड करें और दूसरे हाथ से लिंग के आधार पर एक और ग्रिप बनायें​

वेट जेलकिंग स्टेप 3
  • अपनी इस ग्रिप को लिंग के सिरे के पीछे होल्ड करें और दूसरे हाथ में एक और ओके ग्रिप बनाकर लिंग के आधार को पकड़ें। इसको भी आपको अपने लिंग के आधार के जितना अंदर हो सके उतना अंदर टाइट पकड़ना है।
  • अब अपने पहले हाथ की ग्रिप को छोड़ दें और दूसरे हाथ की ग्रिप को लिंग के मुंड की तरफ धीरे-धीरे टाइट स्लाइड करें।
  • फिर इसे होल्ड करें और दोबारा पहले हाथ में ओके ग्रिप बनाकर लिंग के आधार को पकड़ें और स्लाइड करें।
  • इस प्रक्रिया को आप शुरुआत में 3-4 बार करें और प्रैक्टिस हो जाने के बाद 7-8 करें।
  • जरूरत पड़ने पर बीच-बीच में आराम लेते रहें।

ध्यान रखें​

  • इस एक्सरसाइज के दौरान अपने लिंग के सिरे (ग्लान्स) में झटका न दें। इसके कारण उनकी सेंसिटिविटी कम हो सकती है।
  • बैठे हुए या स्खलित लिंग के साथ यह एक्सरसाइज करने से कोई लाभ नहीं होगा।
  • स्खलित लिंग के साथ यह एक्सरसाइज करने से उसके कोमल ऊतक और नर्व डैमेज हो सकते हैं।

रोटेटिंग स्ट्रेच (Rotating Stretch)

काम : लिंग की लंबाई बढ़ाना
कठिनाई स्तर : नौसिखिया
घायल होने का खतरा : कम
समय की आवश्यकता : 3+ मिनट

यह एक्सरसाइज सबसे पहली एक्सरसाइज (अल्टीमेट स्ट्रेचर) की तरह ही होती है।

लेकिन इसमें कुछ विभिन्नताएं भी हैं, जिनको आपको ध्यान रखना है।

एक्सरसाइज करने का तरीका​

स्टेप 1 – लिंग को खड़ा कर लें और एक हाथ में ओके ग्रिप बनाकर लिंग के सिरे के पीछे पकड़ें​

रोटेटिंग स्ट्रेच स्टेप 1
  1. सबसे पहले अपने आप को वार्म अप कर लें और अपने लिंग को 20-30 प्रतिशत तक खड़ा कर लें।
  2. अब अपनी फोरस्किन को पीछे कर लें और अपने एक हाथ में ओके ग्रिप बनाकर लिंग के सिरे (मुंड) के एक इंच पीछे से पकड़ें।
  3. लेकिन इसे इतना कसकर न पकड़ें कि रक्त संचार ही रुक जाए।

स्टेप 2 – लिंग को बाहर की तरफ स्ट्रेच करें​

रोटेटिंग स्ट्रेच स्टेप 2
  1. अब इस ग्रिप से अपने लिंग के जितना हो सके उतना बाहर की तरह स्ट्रेच करें।
  2. ध्यान रखें, इस दौरान आपके लिंग में दर्द नहीं होना चाहिए।

स्टेप 3 – लिंग को सर्कुलर मोशन में घुमाएँ​

रोटेटिंग स्ट्रेच स्टेप 3
  1. इस स्ट्रेच को होल्ड करते हुए अपने लिंग को सर्कुलर मोशन में धीरे-धीरे घुमाएं। हर एक रोटेशन कम से कम 20 सेकंड्स का होना चाहिए।
  2. अपने दोनों हाथों से बारी-बारी से लिंग को रोटेट करें।
  3. जब आप अपने लिंग को दाएं (राइट) हाथ से पकड़ें तो इसे घड़ी की विपरीत दिशा (कॉउंटरक्लॉक वाइज) में घुमाएं।
  4. और जब आप अपने लिंग को बायें (लेफ्ट) हाथ से पकड़ें तो इसे घड़ी की दिशा (क्लॉक वाइज) में घुमाएं।
  5. लिंग को रोटेट करते समय इसे लेफ्ट-राइट और ऊपर-नीचे जितना ले जा सकें उतना ले जाएँ।
  6. बीच-बीच में आप रेस्ट ले सकते हैं।

ध्यान रखें – यदि इन एक्सरसाइज को करने से आपके लिंग में दर्द होता है तो इन्हें न करें।

वेट-लिफ्टर (Weight-Lifter)

लिंग के हैंगर्स या वेट लिफ्टर्स का सबसे पहले प्रयोग जापानियों ने किया था और समय के साथ-साथ यह काफी लोकप्रिय होते गए।

कई शोधों में इन्हें लिंग की लंबाई बढ़ाने में कारगर साबित किया गया है।

कई प्रकार के लिंग वेट लिफ्टर बाजार में उपलब्ध होते हैं।

आप अपनी सुविधा अनुसार कोई भी एक चुन सकते हैं।

यदि आपको बाजार में यह नहीं मिलता, तो आप इसे घर पर भी बना सकते हैं।

एक 4:1 साइज के साफ कपड़े के एक सिरे पर 50 से 75 ग्राम का पत्थर बाँध लें और दूसरे सिरे को अपने बैठे हुए लिंग के मुठ बाँध लें।

ध्यान रखें, इस दौरान आपकी फोरस्किन लिंग के मुठ पर ही होना चाहिए और इसी के ऊपर आपको कपड़ा बांधना है।

ऐसा करने से लिंग पर चोट लगने और सेंसिटिविटी कम होने का खतरा कम होता है।

चूँकि, पूरा फायदा लेने के लिए, वजन को लिंग पर घंटों तक लटकाये रखना होता है।

इसलिए कपड़े को इस तरह से बांधें, कि वह आपकी अंडरवियर के अंदर भी लटका रहे।

लिंग में वजन को लटकाने के दौरान, आपको नीचे दी गई 4 स्टेप्स फॉलो करनी है –

  1. हमेशा वजन को अपने बैठे हुए लिंग पर ही हैंग करें।
  2. शुरुआत में कम वजन का इस्तेमाल करें और धीरे-धीरे वजन को बढ़ा दें।
  3. यह वेट-लिफ्टर्स, ऊपर दी गई एक्सरसाइज की तरह ही लिंग को नीचे की तरफ स्ट्रेच करेंगे।

ध्यान रखें – वेट लिफ्टर को इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर से इसकी पूरी जानकारी ले लें। क्योंकि इनके कारण लिंग में चोट लगने की सम्भावना होती है।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

लिंग को बढ़ाने वाली एक्सरसाइज किस प्रकार से काम करती हैं?

यह उसी प्रकार से काम करती हैं, जिस प्रकार आप जिम में अपनी माँसपेशियाँ बनाते हैं।
लेकिन स्ट्रेचिंग के जरिये लिंग की सिर्फ बाहर की मांसपेशियाँ ही बढ़ती हैं। लिंग के अंदर के ऊतक, हृदय के ऊतकों की तरह फ्लेक्सिबल होते हैं, जिनमें जितना रक्त भरा जाए वो उतना ही फूलते हैं।
इसलिए लिंग को बड़ा करने के लिए स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज के साथ-साथ लिंग में रक्त संचार को बढ़ाना भी आवश्यक होता है।

क्या लिंग की एक्सरसाइज करना सुरक्षित है?

सौभाग्य से हाँ। यह एक्सरसाइज पूरी तरह से सुरक्षित हैं, जब तक कि आप निम्न जरूरी सुरक्षा नियमों का पालन करते रहें-
1. शुरुआत में एक्सरसाइज धीरे-धीरे करें और बाद में स्पीड बढ़ाते जाएँ।
2. लिंग में दर्द होने पर इन एक्सरसाइज को न करें।
3. वेट-लिफ्टर को छोड़कर बाकी सभी एक्सरसाइज को लिंग की बैठी हुई अवस्था में न करें।

क्या एक्सरसाइज लिंग को परमानेंटली बड़ा करती हैं?

हाँ। इन एक्सरसाइज को नियमित रूप से करने से लिंग परमानेंटली बड़ा हो सकता है और वांछित परिणाम पाने के बाद आप इन्हें करना छोड़ सकते हैं।
लेकिन कुछ लाइट एक्सरसाइज को नियमित करते रहें।
ध्यान रखें – अपने वांछित परिणाम पाने के तुरंत बाद इन एक्सरसाइज को करना न छोड़ें। बल्कि इन्हें कुछ समय के लिए और करते रहें, जिससे आपका लिंग परमानेंटली बड़ा हो जाये।

परमानेंट रिजल्ट पाने में कितना समय लग सकता है?

आपको यह समझने की जरूरत है, कि थोड़े समय में लिंग को बड़ा नहीं किया जा सकता। इसमें समय और धैर्य की काफी जरूरत होती है।
क्योंकि लिंग की ग्रोथ सेलुलर बेसिस पर होती है, इसलिए इसकी लंबाई और मोटाई रोज बहुत थोड़ी-थोड़ी मात्रा में बढ़ेगी।
इसलिए, आपको शुरुआती परिणाम दिखने में भी दो से तीन हफ्ते लग सकते हैं।
इसके बाद आपको अपनी लिंग के साइज में बदलाव होता नजर आने लगेगा और आपका इरेक्शन भी स्ट्रांग होता चला जायेगा।
लेकिन ध्यान रखें, आपको अपनी इच्छानुसार परिणाम प्राप्त करने में 6 से 8 महीने लग सकते हैं।

क्या लिंग की एक्सरसाइज के लिए महंगे उपकरणों को खरीदना जरूरी है?

लिंग की साइज को परमानेंटली बढ़ाने के लिए, आपको किसी भी उपकरण को खरीदने की जरूरत नहीं है, जब तक कि आपके पास अपने दो मजबूत हाथ हैं।
लेकिन हाँ, इन उपकरणों के इस्तेमाल से एक्सरसाइज को थोड़ा सरल और तेज कर सकते हैं।
आप इन एक्सरसाइज को नियमित करके, बिना किसी उपकरण के भी अपने लिंग को बढ़ा सकते हैं। लेकिन इनमें वक्त और मेहनत थोड़ी ज्यादा लगेगी।

इन एक्सरसाइज को करने के साथ-साथ निम्न तरीकों को भी नियमित अपनाएं –​

दवाओं के जरिये लिंग में रक्त संचार को बढ़ाएं​

चूँकि, ऊपर दी गई एक्सरसाइज आपके लिंग को मोटा लंबा और बड़ा करने में मदद करेंगी ही।

लेकिन कुछ दवाओं के सेवन से, आप अपने लिंग में रक्त संचार को बढ़ाकर, अपने सक्सेस रेट को बढ़ा सकते हैं।

सही मेडिसिन का चुनाव करने के लिए अपने डॉक्टर से सलाह लें।

पानी पर आधारित पेनिस पंप का उपयोग करें​

लिंग की साइज बढ़ाने के लिए, पानी के पेनिस पंप भी काफी फायदेमंद होते हैं, जिन्हें हाइड्रो पंप कहा जाता है।

पम्पिंग के जरिये आप अपने लिंग में खिंचाव पैदा करेंगे, जिससे उसमें रक्त संचार बढ़ेगा और वीर्य स्खलन काफी स्ट्रांग और अधिक मात्रा में होगा।

यह तरीका आपके लिंग बढ़ा करने की प्रक्रिया में काफी कारगर जोड़ साबित होगा।

भरोसेमंद लिंग वर्धक यंत्रों का उपयोग करें​

लिंग वर्धक यंत्र ऐसे उपकरण होते हैं, जो ऊपर की एक्सरसाइज की तरह ही लिंग की शाफ़्ट को स्ट्रेच करने में मदद करते हैं।

लेकिन, किसी लोकप्रिय या भरोसेमंद ब्रांड के पेनिस एक्सटेंडर्स का ही उपयोग करें।

पोषक तत्वों से युक्त लुब्रीकेंट्स का उपयोग करें​

एक्सरसाइज करने के दौरान, लिंग में चिकनाई बनाये रखने के लिए, लुब्रीकेंट्स का उपयोग किया जाता है।

और यदि यह लुब्रीकेंट्स प्राकृतिक पोषक तत्वों से युक्त हों, तो लिंग को अतिरिक्त पोषण मिलता है।

आप कुछ लिंग बढ़ाने वाले प्राकृतिकेलों का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।

कद्दू के बीजों का भरपूर सेवन करें​

लिंग बढ़ाने की प्रक्रिया में उचित खाद्य पदार्थों का सेवन भी काफी महत्वपूर्ण होता है।

कद्दू के बीजों में अत्यधिक मात्रा में प्रोटीन होता है, जो शरीर के साथ-साथ लिंग में भी रक्त के संचार को बढ़ाता है।

साथ ही, कद्दू में पोटैशियम, जिंक, मैग्नीशियम और सेलेनियम भी खूब पाया जाता है।

पोटैशियम शरीर में लिबिडो (libido) को बढ़ाता है, जिससे लिंग अपनी क्षमता अनुसार पूरा खड़ा होता है।

जिंक शरीर में टेस्टोस्टेरोन के लेवल को रेगुलेट करता है। साथ ही, यह टेस्टोस्टेरोन और स्पर्म के निर्माण में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

मैग्नीशियम शरीर में सेक्स हॉर्मोंस जैसे एस्ट्रोजन, एंड्रोजन और अन्य न्यूरोट्रांसमीटर्स के स्त्राव के लिए जरूरी होता है।

सेलेनियम पुरुषों के लिंग के अंडकोषों और नलिकाओं में अत्यधिक मात्रा में पाया जाता है। इसकी कमी होने पर लिंग का सेक्सुअल काम ठीक से नहीं होता।

लिंग बढ़ाने में मदद करने वाले हर्ब्स का सेवन करें​

ऐसे कई हर्ब्स मौजूद हैं, जो लिंग में रक्त संचार को बढ़ाने हैं और एक्सरसाइज के जरिये लिंग को बढ़ा करने में अतिरिक्त सहायता करते हैं।

ऐसे ही कुछ हर्ब्स निम्न हैं – जिनसेंग, एंटीगो, जिन्को बाइलोबा, माका (maca), नागफनी, तरबूज और एल-आर्जिनाइन

इनमें से ज्यादातर हर्ब्स बाजार में पिल्स या पाउडर के रूप में उपलब्ध होते हैं।

इरेक्शन को बढ़ाने वाली आदतें अपनाएं​

फ्रेंड्स, हमने इस लेख के जरिये आपको लिंग बढ़ाने की तकनीकें तो बता ही दी हैं।

इनके साथ-साथ, आप अपनी आदतों में कुछ बदलाव लाकर, अपने सफल होने की सम्भावना को बढ़ा सकते हैं।

अपने मोटापे और पेट की चर्बी को कम करे, जननांगो के बालों को नियमित रूप से काटते रहें, अपने मोबाइल या अन्य इलेक्ट्रिक उपकरण को लिंग के आसपास न रखें, धूम्रपान न करें, तनाव को कम करें, नियमित रूप से व्यायाम और योग करें और पूरी नींद लें।

विटामिन्स और मिनरल्स के सेवन को बढ़ाएं​

यदि आप अपने इरेक्शन को ज्यादा स्ट्रांग बनाना चाहते हैं, लिंग को बड़ा करना चाहते हैं और सेक्स में पूर्ण संतुष्टि चाहते हैं, तो अपने शरीर में विटामिन्स और मिनरल्स की मात्रा को बढ़ाएं।

विटामिन्स की कमी होने से, शरीर अपने कामकाज ठीक से नहीं कर पाता, जिससे लिंग को भी नुकसान पहुँचता है।

डॉक्टर्स के अनुसार विटामिन्स और मिनरल्स की निम्न मात्रा लेना चाहिए –

विटामिन्स​

  • रोज दिन में दो या तीन बार 2 ग्राम (2000 मिलीग्राम) विटामिन सी।
  • 30 मिलीग्राम जिंक।
  • 100 मिलीग्राम विटामिन ए।
  • 200 मिलीग्राम मैग्नीशियम।
  • 100 IU विटामिन डी।
  • 50 मिलीग्राम थायामिन।

मिनरल्स जो आपकी सेक्सुअल हेल्थ के लिए फायदेमंद होते हैं​

  • 525 मिग्रा कैल्शियम।
  • 200 माइक्रोग्राम विटामिन बी12.
  • 150 मिग्रा विटामिन ई।
  • 25 माइक्रोग्राम पोटैशियम।
  • 400 माइक्रोग्राम फोलिक एसिड।

यह सभी विटामिन्स और मिनरल्स किसी भी लोकल फार्मेसी पर टेबलेट्स या कैप्सूल के रूप में उपलब्ध होते हैं।

लिंग को बड़ा करने वाले फूड का सेवन करें​

क्या आप जानते हैं कि ऐसे कुछ खाद्य पदार्थ उपलब्ध हैं, जो आपके लिंग के सम्पूर्ण स्वास्थ्य को ठीक रखने में मदद करते हैं।

इसलिए, निम्न खाद्य पदार्थों का नियमित सेवन करें – केला, तरबूज, प्याज, सैल्मन फिश, ब्रोकली, काम चिकनाई वाला दही और डार्क चॉकलेट।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.