हस्तमैथुन छोड़ने के 8 बेस्ट तरीके

हस्तमैथुन आपकी यौन अभिव्यक्ति का एक सामान्य हिस्सा होता है।

यह तनाव को कम कर सकता है और एक व्यक्ति को यह तय करने में मदद कर सकता है कि वह सेक्स में क्या पसंद करता है।

ज्यादातर मामलों में हस्तमैथुन करना एक नार्मल सेक्सुअल प्रैक्टिस होती है, जिससे कोई भी शारीरिक या मानसिक संकट नहीं होता।

लेकिन यदि इसकी लत पड़ जाए, तो समस्या हो सकती है। हस्तमैथुन की लत से छुटकारा पाने के कई तरीके होते हैं, जिनके बारे में हम नीचे चर्चा करेंगे।

अत्यधिक हस्तमैथुन करने की आदत एक मनोवैज्ञानिक समस्या होती है, जिसे कंट्रोल करने के लिए आपको अपने जीने के तरीकों में कुछ बदलाव लाने की आवश्यकता है। साथ ही, आप किसी अच्छे मनोवैज्ञानिक विशेषज्ञ से भी सलाह ले सकते हैं।

हस्तमैथुन कब समस्या बन जाता है?

हस्तमैथुन तब समस्या बन जाता है, जब यह व्यक्ति के जीवन और रोजमर्रा के कामकाजों पर नकारात्मक प्रभाव डालने लगता है।

उदाहरण के लिए, यदि यह आपकी ऑर्गाज्म की क्षमता या अपनी पार्टनर के साथ संबंधों पर बुरा असर डाल रहा है, तो आपको इस लत को छोड़ने के बारे में सोचना चाहिए।

Compulsive Sexual Behaviour​

कुछ मामलों में, हस्तमैथुन की लत compulsive sexual behavior के कारण हो सकती है।

Compulsive sexual behaviour में व्यक्ति को काफी तेज और बार-बार सेक्स करने और अपनी काल्पनिक फैंटसीज को पूरा करने की इच्छा होती है।

यहाँ पर एक बात ध्यान देने योग्य है, कि यह कामोत्तेजना या सेक्स ड्राइव में बढ़ोतरी होने जैसा नहीं होता, बल्कि यह एक मानसिक बीमारी होती है।

Compulsive behaviour के कारण कई मनोवैज्ञानिक समस्याएं या तनाव पैदा हो सकता है। इसके कारण व्यक्ति को वास्तव में हस्तमैथुन का पूरा आनंद लेने में कठिनाई होती है।

जर्नल ऑफ़ साइकाइट्री में पब्लिश हुई एक केस स्टडी के अनुसार, बार-बार या compulsive हस्तमैथुन आमतौर पर अपने दिमागी आवेग को कंट्रोल करने की प्रक्रिया होती है।

अपराध की भावना​

कुछ लोगों में हस्तमैथुन एक तीव्र आपराधिक भावना का कारण भी बन सकता है।

सेक्सुअल मेडिसिन जर्नल में पब्लिश हुई एक स्टडी के अनुसार, टोटल 4211 भाग लिए पुरुषों में से 8.4% पुरुषों ने यह बताया कि उन्हें हस्तमैथुन करने के बाद आपराधिक भावना महसूस होती है।

आपराधिक भावना के कारण कई और समस्याएं भी हो सकती हैं। उदाहरण के लिए, अक्सर इस भावना से ग्रसित लोग अत्यधिक शराब या अन्य नशीली चीजों का सेवन करने लगते हैं, जिससे उनमें कई मानसिक और शारीरिक समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं।

  1. व्यस्त रहें
  2. हस्तमैथुन को नजरअंदाज करें
  3. अपने अकेलेपन को दूर करें​
  4. पोर्न देखना बंद करें​
  5. कोशिश करते रहें
  6. मानसिकता को सुधारें
  7. मदद लें
  8. अतिरिक्त टिप्स​

अपने आपको व्यस्त रखने की कोशिश करें

अन्य कामों में व्यस्त और केंद्रित रहें

हमें हस्तमैथुन करने की इच्छा तभी होती है, जब हमारे पास कुछ और काम करने को नहीं होता या हमारा मन किसी अन्य काम में नहीं लगता। इसलिए अपने खाली समय को भरने के लिए कोई आकर्षक गतिविधियां करें, जिनमें आपका मन लगे। कुछ भी नया काम करने का उत्साह, आपकी हस्तमैथुन करने की तीव्र इच्छा को कम कर सकता है।

आप निम्न गतिविधियों को करके देखें –

रचनात्मक (क्रिएटिव) बनें

क्या आपने कभी सोचा है, कि कैसे साधु-संत अपनी सेक्स की इच्छा को नियंत्रित करके, अपना पूरा ध्यान साधना में लगा पाते हैं?

इसका उत्तर है “अपनी सेक्स इच्छा को रचनात्मक कार्यों से बदलना।”

आपको जो भी रचनात्मक कार्य सबसे ज्यादा पसंद है, जैसे राइटिंग, संगीत का उपकरण बजाना, गार्डनिंग, पेंटिंग या ऐसा कोई भी काम जिसे करने से आपको प्रोडक्टिव महसूस होता है, उसे करें।

स्पोर्ट्स खेलें

किसी भी स्पोर्ट में परफेक्ट बनने के लिए, आपको अनुशासित और दृढ़ बनने की आवश्यकता होती है।

यदि आपको कोई स्पोर्ट खेलना पसंद है, तो निश्चित रूप से आप उसमें परफेक्ट बनने के लिए पूरी मेहनत करेंगे।

साथ ही, स्पोर्ट आपके शरीर को एक्सरसाइज भी कराते हैं। किसी भी प्रकार की एक्सरसाइज करने से आपकी टेंशन दूर होती है, आप सुख का अनुभव करते हैं और किसी भी काम में मन को सकारात्मक रूप से केंद्रित करने में मदद मिलती है।

योग भी एक्सरसाइज का एक और रूप है, जो आपको रिलैक्स महसूस करने में मदद करता है, और एकदम से हस्थमैथुन करने की इच्छा होने की संभावना को कम करता है।

स्वस्थ आहार का सेवन करें

फलों और सब्जियों का हमारे शरीर पर स्वस्थ प्रभाव होता है और यह हमारे दिनभर के कामकाज को सक्रियता से पूर्ण करने के लिए जरूरी पोषक तत्व प्रदान करते हैं।

इसलिए नियमित रूप से हरी सब्जियों और फलों का सेवन करें और कामोत्तेजना बढ़ाने वाले फूड्स जैसे सैल्मन फिश, मिर्च, कॉफी, एवोकाडो, केला, चॉकलेट आदि का सेवन कम करें।

कोई नई हॉबी बनायें या अपने अंदर कोई कौशल पैदा करें

ऐसा कुछ भी काम सीखना, जिसमें मास्टर बनने के लिए आपको थोड़ा समय लगे, आपके ध्यान को हस्तमैथुन से हटाने में मदद कर सकता है।

कौशल जैसे कुकिंग, गार्डनिंग, तीरंदाजी, पब्लिक में भाषण देना आदि करके देखें।

स्वयंसेवक बनें

अपने समय और ऊर्जा को जरूरतमंद लोगों की मदद करने में लगाएं।

जैसे गरीब बच्चों को पढ़ाएं, बृद्ध लोगों की मदद करें, सार्वजनिक क्षेत्रों की सफाई करें, समाज सेवा के लिए पैसा इकठ्ठा करें, बीमार या भूखे जानवरों की मदद करें आदि।

जरूरतमंदों की मदद करके आपको सुख और शांति का अनुभव होगा और आपके पास हस्तमैथुन करने का समय भी नहीं रहेगा।

जल्दी सोएं और पर्याप्त नींद लें

अक्सर रात को देर तक जागने से ही हस्तमैथुन करने का मन करता है। इसलिए रोज जल्दी सोएं और 8 घंटे की पूरी नींद लें।

हस्तमैथुन को नजरअंदाज करने की योजना बनायें​

यदि आपको बिस्तर पर सोने से या नहाने के दौरान हस्तमैथुन करने की तीव्र इच्छा होती है, तो इसे नजरअंदाज करने की योजना बनायें।

उदाहरण के लिए, यदि आपको यह समस्या देर रात को होती है, तो फर्श पर उल्टे लेट जाएँ और तबतक पुश अप एक्सरसाइज करें, जब तक कि आप पूरी तरह से थक न जाएँ और हस्तमैथुन करने की आपमें हिम्मत ही न बचे।

यदि आपको नहाते समय हस्तमैथुन की इच्छा होती है, तो ठंडे पानी से नहाना शुरू कर दें और अधिक समय तक न नहाएं।

  • यदि आप हमेशा स्कूल या ऑफिस से घर आने के बाद हस्तमैथुन करते हैं, तो इसे नजरअंदाज करने का सॉलिड प्लान बनायें। यदि आप काफी बोर हो जाते हैं और खाली दिमाग होने के कारण सेक्स के बारे में सोचे बिना रह नहीं पाते, तो इससे बचने के लिए कोई और दिलचस्प कार्य करें। यदि आप अत्यधिक व्यस्त रहेंगे, तो आपको हस्तमैथुन छोड़ने में आसानी होगी।

अपने अकेलेपन को दूर करें​

यदि आप इसलिए बार-बार हस्तमैथुन करते हैं, क्योंकि आपको अकेलापन महसूस होता है, तो अपने आप को जितना हो सके उतना समाज के साथ जोड़ने के तरीकों को ढूँढ़ें।

मतलब आपको जितना हो सके, उतना अन्य लोगों के साथ मिलना-जुलना है और दोस्त बनाना है। इसके लिए आप सोशल मीडिया जैसे फेसबुक आदि का सहारा भी ले सकते हैं।

एक और चीज जो आप कर सकते हैं, वो है अपने घर में अकेले रहने के समय को कम करें। जब भी आप घर में अकेले हों, तो बाहर टहलने निकल जाएँ या आसपास के किसी कॉफी शॉप में चले जाएँ।

यदि आपके सारे दोस्त व्यस्त हों, तो भी आप पब्लिक जगहों पर जाकर अपने अकेलेपन को दूर कर सकते हैं।

उदाहरण के लिए, घर पर अकेले क्रिकेट देखने की वजाय किसी नाश्ते की दुकान पर जाकर देखें। यहाँ पर भले ही आपके दोस्त आपके साथ नहीं होंगे, लेकिन फिर भी आप अकेले नहीं रहेंगे और हस्तमैथुन करने का आपके पास समय ही नहीं होगा।

कंप्यूटर या मोबाइल पर पोर्न देखना बंद करें​

अत्यधिक पोर्न देखने से हस्तमैथुन करने की इच्छा में बढ़ोतरी हो सकती है।

जो लोग हस्तमैथुन छोड़ने की इच्छा रखते हैं उन्हें सबसे पहले पोर्न वीडियो, इमेज और वेबसाइट्स से बचना चाहिए। यदि व्यक्ति किसी प्रकार से अपने और पोर्न के बीच में दीवार खड़ी कर देता है तो उसे हस्तमैथुन की लत छोड़ने में काफी आसानी होती है।

आजकल कुछ ही सेकंड्स में पोर्न को देखना काफी आसान हो गया है। हालाँकि, लोग इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों पर फ़िल्टर का उपयोग करके पोर्नोग्राफ़ी तक अपनी पहुंच को सीमित करने का प्रयास कर सकते हैं जो कुछ प्रकार की सामग्री, जैसे कि पोर्न सामग्री को ब्लॉक करते हैं।

हालाँकि इन वेबसाइट्स को आप अनब्लॉक भी कर सकता है, लेकिन ऐसा करने में समय लगता है और इस दौरान व्यक्ति अपनेआप को कंट्रोल करने की कोशिश कर सकता है।

लगातार कोशिश करते रहें और धैर्य रखें​

हस्तमैथुन को आप तुरंत या एक-दो दिन में नहीं छोड़ सकते।

खासतौर से तब जब आपको इसे अत्यधिक करने की आदत हो।

इसे छोड़ने के लिए आपको प्रतिवद्ध रहना जरूरी है, और हो सकता है आप बीच-बीच में कई गलतियां करें या कुछ अवसरों पर टूट जाएँ।

आपका असली संघर्ष तो दृढ़ बने रहने का ही होगा, इसलिए आज से ही यह फैसला करें कि अपनी हस्तमैथुन छोड़ने की प्रक्रिया में कोई भी गलती होने पर आप रुकेंगे नहीं और कोशिश करते रहेंगे।

  • खुद को पुरस्कार देने की प्रणाली बनायें। अपने प्रत्येक सफल दिन के लिए खुद को पुरस्कार से नवाजें। उदहारण के लिए, यदि आप लगातार दो हफ़्तों तक बिना हस्तमैथुन के बिता सकते हैं तो अपनेआप को कोई नया गेम या वस्तु दिलाकर पुरस्कृत करें।

अपनी मानसिकता को सुधारें

खुद को सजा देना बंद करें​

ध्यान रखें, आप एक मनुष्य हैं और हर मनुष्य हस्तमैथुन करता है।

कुछ सामाजिक अध्ययनों के अनुसार 95% पुरुष और 89% महिलाओं ने यह माना कि वो हस्तमैथुन करते हैं। हस्तमैथुन करना प्रत्येक उम्र के व्यक्ति के लिए नार्मल और हेल्थी होता है।

हस्तमैथुन के नुकसान के बारे में फैले मिथकों पर विश्वास न करें​

यदि आप हस्तमैथुन की आदत को छोड़ना चाहते हैं, तो आपको इसे अपने व्यक्तिगत या नैतिक कारणों से छोड़ना है, न कि स्वास्थ्य संबंधी कारणों से।

यहाँ पर कुछ चीजें दी जा रही हैं, जो हस्तमैथुन के कारण आपके शरीर पर बुरा प्रभाव नहीं डालतीं –

  • हस्तमैथुन के कारण आपमें इनफर्टिलिटी, शीघ्रपतन या नामर्दी की समस्या नहीं होगी।
  • हस्तमैथुन करने से आप अंधे नहीं होंगे।
  • हस्तमैथुन के कारण चेहरे और हाथों पर बाल नहीं बढ़ते और न ही शरीर की ग्रोथ पर कोई बुरा असर पड़ता है। इसके कारण किडनी, अंडकोषों, स्किन या अन्य भौतिक अंगों पर भी नुकसान नहीं होता।
  • हस्तमैथुन के कारण आपको बार-बार पेशाब लगने की समस्या भी नहीं होती।

विस्वास रखें कि आप इसे छोड़ सकते हैं​

यदि आपको विस्वास है कि आप वास्तव में अपनी हस्तमैथुन की आदत को छोड़ने का तरीका ढूँढ़ पायेंगे, तो जरूर आपको सफलता मिलेगी। हो सकता है कि आपका लक्ष्य हस्तमैथुन को पूरी तरह से छोड़ने का न हो, बल्कि इसे एक स्वस्थ स्थिति तक लाने का हो, जैसे हफ्ते में एक या दो बार। यह भी बिल्कुल ठीक है।

  • जैसा कि हमने ऊपर बताया था, इस आदत को छोड़ने की प्रक्रिया के दौरान कई बार आप बीच-बीच में टूट भी सकते हैं। किसी भी आदत को छोड़ने की प्रक्रिया के दौरान यह होना आम बात है। इसलिए हतोत्साहित न हों और खुद पर विस्वास रखें।

मदद लें

पता लगाएं कि आपको कब मदद की जरूरत है​

यदि आप अपने मन या कामवासना पर काबू नहीं कर पाते हैं या हस्तमैथुन के कारण आपके स्कूल या ऑफिस के कामों पर बुरा असर पड़ रहा है, तो यही समय है किसी से सहायता लेने का।

इसमें किसी भी प्रकार की शर्म का अनुभव न करें और ध्यान रखें कि कई लोगों को यह समस्या होती है। किसी से भी सहायता लेना एक साहसी काम होता है और आप जिससे भी सहायता लेंगे वो इस बात को समझेगा।

किसी मनोचिकित्सक से मिलें​

काउंसलर, मनोवैज्ञानिक और मनोचिकित्सक, सभी विभिन्न स्तर की आदतों से छुटकारा दिलाने के लिए प्रशिक्षित होते हैं।

सबसे पहले आप अपने करीब के किसी चिकित्सक से मिलें, जो आपकी आदत का आंकलन करके यह बता सके कि आपको किसी बड़े चिकित्सक से मिलने की आवश्यकता है या नहीं।

चिकित्सक से चर्चा करें, कि कैसे हस्तमैथुन आपके जीवन को प्रभावित कर रहा है​

कुछ लोग अन्य भावनाओं या समस्याओं से अपने ध्यान को हटाने के लिए हस्तमैथुन करते हैं।

इसलिए अपने चिकित्सक से पूरी तरह खुलकर बात करने की कोशिश करें और उसे बताएं हस्तमैथुन किस प्रकार से आपके जीवन पर प्रभाव डाल रहा है।

  • आपको अपने चिकित्सक के साथ सहज महसूस करने में कुछ सेशन लग सकते हैं। इसलिए अपना पूरा समय लें।
  • यदि आप हस्तमैथुन से पहले या बाद में उदासीनता या गुस्से का अनुभव करते हैं, तो इन्हें भी अपने चिकित्सक को बताएं। वह आपकी इन भावनाओं के स्त्रोत का पता लगाने में आपकी मदद कर सकता है।

चिकित्सक से उपलब्ध उपचारों के बारे में चर्चा करें​

कुछ मामलों में हस्तमैथुन की लत को सेक्स की लत के प्रकार के रूप में भी देखा जाता है। चिकित्सक आपकी दी गई जानकारी के आधार पर आपको विभिन्न दवाओं का सेवन करने की सलाह दे सकता है और आदत से छुटकारा दिलाने के लिए आपको संज्ञानात्मक व्यवहारवादी रोगोपचार (cognitive behavioral therapy) भी दे सकता है।gggg

अतिरिक्त टिप्स​

  • अपने सोने के बेड पर कभी बैठें नहीं। हमेशा बैठने के लिए कुर्सी, टेबल या चटाई का उपयोग और अन्य लोगों के साथ बैठें।
  • जब भी आपको हस्तमैथुन करने की काफी तीव्र इच्छा हो, तो ठंडे पानी से नहा लें। इससे आपका सिर्फ दिमाग ही शांत नहीं होगा, बल्कि आपको अन्य स्वास्थ्य और ऊर्जा लाभ भी होंगे।
  • जब भी आपको हस्तमैथुन करने की इच्छा हो तो तेज चलने लगें या जॉगिंग करें।
  • उपवास करके देखें। रोज कुछ घंटों के लिए भोजन या पानी से दूर रहने से सेक्स भावना से आपका ध्यान भटकाने में मदद मिल सकती है। यदि आप नियमित रूप से उपवास करते हैं तो आपको अपनी इच्छा पर काबू पाने में मदद मिलेगी।
  • जब भी आपको सेक्स के कामुक ख्याल आएं तो किसी और चीज के बारे में सोचना शुरू कर दें जैसे क्रिकेट, मूवी आदि।
  • यदि आपको नहाते समय हस्तमैथुन करने की इच्छा होती है तो अपने नहाने के समय को कम करें।
  • अपने आप को प्रेरणा दें कि हस्तमैथुन न करने से आपका सेक्स का परफॉरमेंस बढ़ेगा, क्योंकि इसे न करने से आपमें ज्यादा ऊर्जा रहेगी और किसी के साथ संभोग करते समय आप आसानी से उत्तेजित हो जायेंगे और आपका सेक्स का आनंद बढ़ेगा। अपने हॉर्मोन्स के स्तर को अनुकूल रखने के लिए हफ्ते में एक से ज्यादा बार हस्तमैथुन न करें। शोधों से यह बात पता चली है कि एक हफ्ते तक हस्तमैथुन न करने से टेस्टोस्टेरोन का स्तर थोड़ा बढ़ जाता है और इसे करने के बाद दोबारा कम हो जाता है।
  • शुरुआत में छोटे-छोटे लक्ष्य निर्धारित करें और उन्हें पूरा करें। जैसे यह निर्णय लें कि आप अगले तीन दिन तक हस्तमैथुन नहीं करेंगे और इसे पूरा करें। यदि आप सफल न हो पाएं तो दोबारा कोशिश करें। फिर अपने दिनों को धीरे-धीरे बढ़ाएं। छोटे लक्ष्यों से शुरुआत करने से उन्हें पूरा करने में ज्यादा आसानी होती है।
  • रोज शाम को एक्सरसाइज करें। ऐसा करने से आप रात को थका हुआ महसूस करेंगे और हस्तमैथुन करने की वजाय सोना चाहेंगे।
  • रिलेशनशिप में होने से हस्तमैथुन छोड़ने में आसानी होती है, जहाँ आपकी पार्टनर इनमें काफी मदद कर सकती है। ज्यादातर मामलों में अत्यधिक हस्तमैथुन करने का एक ही कारण होता है – अकेलापन या अपने जीवन में पार्टनर की कमी। इसलिए अपने लिए एक पार्टनर ढूँढें और उसके साथ समय बिताएं।
  • एक बार में सिर्फ एक दिन के लक्ष्य को पूरा करने की कोशिश करें। यदि आप अगले एक महीने तक हस्तमैथुन न करने का लक्ष्य बनाकर उसे छोड़ने की कोशिश करेंगे तो निश्चित रूप से आप इसमें असफल होंगे और आपको और अधिक उदासीनता और निराशा का अनुभव होगा।
  • यदि आप धार्मिक हैं तो किसी अच्छे धार्मिक गुरु के प्रवचन सुनें।
  • यदि आप रात को अकेलापन अनुभव करते हैं तो अपने लवर या किसी दोस्त के साथ बातें करके उसे दूर करें। ऐसा करने से आपका मन हस्तमैथुन से हटा रहेगा और इसे छोड़ने में मदद मिलेगी।
  • सकारात्मक सोच रखें और हीन भावना से दूर रहें। विभिन्न क्रिएटिव कामों जैसे गार्डनिंग, पेंटिंग आदि करके अकेलापन दूर करना सीखें।

चेतावनियां​

  • ध्यान रखें, मेडिकल चिकित्सक या मनोवैज्ञानिक भी मनुष्य होते हैं और उनसे भी गलतियां हो सकती हैं। इसलिए यदि आपको किसी विशेषज्ञ की सलाह या उपचार अत्यधिक असुविधाजनक लगे तो किसी अन्य विशेषज्ञ से सलाह मशविरा करें।
  • कुछ वीडियो गेम, मूवीज और यहाँ तक कि बुक्स में भी सेक्सुअल सामग्री हो सकती है, जैसे यौन रूप से आकर्षित पात्र या यौन क्रिया (चुंबन या रोमांटिक प्रेम आदि)। इसलिए यदि आप हस्तमैथुन से ध्यान हटाने के लिए वीडियो गेम खेल रहे हैं या मूवी देख रहे हैं तो थोड़ा सावधान रहें और पहले थोड़ी रिसर्च कर लें कि कहीं इसमें कोई सेक्सुअल सामग्री तो नहीं।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.